Thursday, March 7, 2019

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आश्वासन पर कर्मचारियों ने समाप्त की अपनी अड़ताल

फरीदाबाद(abtaknews.com)07मार्च,2019:मुख्यमंत्री के साथ बातचीत के बाद 8 फरवरी से चल रही आंगनवाड़ी वर्कर्स व हैल्पर्स की हड़ताल वीरवार को समाप्त हो गई। वीरवार को ही आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने अपनी ड्यूटियां संभाल ली है। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा एवं सीटू से सम्बंधित आंगनवाड़ी वर्कर्स एन्ड हैल्पर्स यूनियन हरियाणा की अध्यक्ष देवेंद्री शर्मा ने 8 फरवरी से डीसी आफिस पर धरनारत आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए हड़ताल समाप्त करने की घोषणा की। उन्होंने दो टूक सरकार को चेतावनी दी कि अगर सरकार ने अबकी बार भी विश्वासघात किया तो 51 हजार आंगनबाड़ी वर्कर्स एंड हैल्पर पुनः तीखा आन्दोलन करने पर मजबूर होंगी। धरने पर बैठी सैंकड़ों की तादाद में कार्यकर्ताओं ने गंगनभेदी नारों एवं तालियों की गड़गड़ाहट के साथ हड़ताल समाप्त करने और सरकार को दी चेतावनी का अनुमोदन किया। जिला सचिव मालवती द्वारा संचालित धरने पर यूनियन की नेता गीता,बिधू प्रभा,सुरेन्द्री, शकुंतला, बबीता, कमलेश आदि उपस्थित थे।

राज्य प्रधान देवेन्द्री शर्मा ने बताया कि बुधवार देर रात ग्ररूग्राम में देर सांय हुई यूनियन के दस सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की। मुख्यमंत्री के साथ हुई मुलाकात में मुख्यमंत्री ने कहा कि जो भी मांगे पिछले साल स्वीकार की गई थी तथा जो भी घोषणा राज्य व केंद्र सरकार ने की है, वह राज्य सरकार हर हाल में शीघ्र लागू होगी। उन्होंने कहा कि आप निश्चिंत रहें व थोड़ा समय दे। इस बीच विभागीय अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश की तमाम वर्कर्स व हैल्पर्स का केंद्र व राज्य का बकाया मानदेय, केंद्रों के किराये समेत तमाम मदों के बकाया का भुगतान कर दिया गया है। राज्य के कई ब्लॉक में प्रधानमंत्री द्वारा घोषित बढोतरी भी डाली गई है। 
सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लांबा, मुख्य संगठनकर्ता बीरेंद्र सिंह डंगवाल,सह सचिव धर्मबीर वैष्णव व सीटू के जिला प्रधान निरंतर पराशर आदि नेताओं ने इस अवसर पर बोलते हुए कहा कि सरकार आन्दोलन के दबाव में समझोता कर लेती हैं, लेकिन उन्हें लागू नही करती। जिसके कारण प्रदेश में बार बार आन्दोलन हो रहे हैं। महासचिव सुभाष लांबा ने कल कैबिनेट की होने वाली मीटिंग में जनवरी,2016 से देय मकान किराए भत्तें में बढ़ोतरी करने,कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने के लिए रेगुलराइजेशन बिल के प्रस्ताव को मंजूरी देने, एक्स ग्रेसियां रोजगार स्कीम व पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करने व वास्तविक खर्च पर आधारित कैशलेस मेडिकल सुविधा प्रदान करने की मांग की। उल्लेखनीय है  कि 8 फरवरी से हरियाणा में आँगनवाड़ी वर्कर्स व हैल्पर्स आंदोलन पर थी। हड़ताली आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की मांग थी कि प्रदेश सरकार पिछले साल मार्च  में किये गए समझौते को लागू करे व प्रधानमंत्री द्वारा सितंबर,2018 में घोषित मानदेय बढ़ोतरी को लागू करे। इस बीच दो बार अधिकारी स्तर पर ही वार्ता हुई थी। राज्य प्रधान देवेन्द्री शर्मा ने 8 फरवरी चले आन्दोलन में सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा व सीटू द्वारा दिए सहयोग एवं समर्थन के लिए आभार जताया। आन्दोलन को सफल बनाने के लिए प्रदेश की सभी 51 हजार वर्कर एवं हैल्पर का भी धन्यवाद किया है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages