Breaking

Saturday, March 9, 2019

भाजपा की स्मार्ट सिटी में लोगों का जीना हुआ दूभर : मनोज अग्रवाल

congress leader manoj aggarwal ballabgarh faridabad

फरीदाबाद(abtaknews.com) 09 मार्च,2019; फरीदाबाद सहित बल्लभगढ़ शहर में बदहाल हो रही सफाई व्यवस्था पर बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मनोज अग्रवाल ने भाजपा सरकार को घेरते हुए कहा कि शहर को स्वच्छ व गंदगीमुक्त बनाने में सरकार पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद को समार्ट सिटी का दर्जा मिलने के बाद लोगों को उम्मीद बंधी थी कि अब गंदगी से उन्हें मुक्ति मिलेगी परंतु यह हालात बद से बदत्तर हो गए। आज नालियां गंदगी से अटी पड़ी है, सीवर ओवरफ्लो हो रहे है और सडक़ों पर गंदगी के ढेर बीमारियों को न्यौता दे रहे है। उन्होंने कहा कि यह स्मार्ट सिटी नहीं बल्कि डर्टी बन गई है, जिससे लोगों का जीना दूभर हो गया है। उन्होंने कहा कि औद्योगिक नगरी के चारों ओर फैले कूड़े-कचरे ने खट्टर सरकार की कार्यप्रणाली को सरेआम बेनकाब कर दिया है। जगह- जगह लगे गंदगी- कूड़े के अंबारों ने स्वच्छ भारत अभियान की धज्जियां उड़ाते हुए मोदी-खट्टर सरकार की कार्यशैली की पोल खोल दी है।यहां जारी एक प्रेस बयान में मनोज अग्रवाल ने कहा कि फरीदाबाद शहर विश्व के सबसे प्रदूषित शहरों की श्रेणी में चौथे नंबर पर है, जो कि सोचनीय विषय है। एक तो शहर में वैसे ही पर्यावरण का स्तर निरंतर गिरता जा रहा है, जबकि दूसरी ओर भाजपा सरकार अरावली बिल में संशोधन करके इसे उजाडऩे पर तुली है, अगर सुप्रीमकोर्ट सरकार के इस बिल पर रोक नहीं लगाता तो भाजपा सरकार अरावली की सारी हरियाली को खत्म कर देती, जिससे फरीदाबाद, गुरुग्राम व सोहना में रहने वाले लोगों को सांस लेना भी दूभर हो जाता क्योंकि अरावली एनसीआर के लिए आक्सीजन का भंडार है और इस मुद्दे को कांग्रेसी विधायक ने जिस प्रकार से विधानसभा पटल पर जोरदार तरीके से उठाया, उसके बाद सुप्रीमकोर्ट ने इस पर रोक लगा दी। मनोज अग्रवाल ने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण में बीते वर्ष फरीदाबाद 88 वें स्थान से फिसल कर 217 वें रैंक पर पहुंच गया था और अब एक बार फिर दस स्थान लुढक़ कर 227 वें स्थान पर पहुंच गया है।  इससे यह साफ जाहिर होता है कि भाजपा सरकार ने फरीदाबाद व बल्लभगढ़ के पर्यावरण के साथ किस तरीके का खिलवाड़ किया है। पर्यावरण मंत्री के गढ़ में पर्यावरण का हाल सबसे खराब होना, खट्टर सरकार की अकर्मण्यता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि रोजगार और सरकारी सुविधा तो दूर, सरकार ने हमसे शुद्ध वायु और स्वच्छ पर्यावरण भी छीन लिया है। स्वच्छ भारत अभियान भी आज एक जुमला साबित हो चुका है, देश को स्वच्छ बनाने के लिए जितने पैसे खर्च हुए हैं उससे ज्यादा पैसे सरकार ने प्रचार में खर्च किये हैं। उन्होंने कहा कि जनता अब भाजपा के झूठे जुमलों में आने वाली नहीं है और आने वाले लोकसभा व विधानसभा चुनावों में भाजपा सरकार को वोट की चोट से सबक सिखाने का मन बना चुकी है। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages