Sunday, March 3, 2019

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फरीदाबाद में 556 करोड़ के विकास योजनाओं के किए उद्घाटन व शिलान्यास

फरीदाबाद(abtaknews.com)03 मार्च। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने  फरीदाबाद में लगभग 556 करोड़ रुपये की धनराशि के विकास योजनाओं के उद्घाटन व शिलान्यास किए। ये उद्घाटन मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्थानीय सैक्टर-12 के हुड्डा कन्वेन्सन हाल में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से किए। उन्होंने उपस्थित प्रशासनिक अधिकारियों को विकास परियोजनाओं को समय पर पूरा करने के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी।उद्घाटन व शिलान्यास विडियो कान्फै्रंस समारोह में हरियाणा के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री विपुल गोयल, विधायक सीमा त्रिखा,  विधायक टेकचन्द शर्मा, विधायक मूलचंद शर्मा, विधायक नागेन्द्र भडाना, भाजपा के जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा, फरीदाबाद आयुक्त डा. जी. अनुपमा, उपायुक्त अतुल कुमार द्विवेदी, अतिरिक्त उपायुक्त धर्मेन्द्र सिंह, एसडीएम सतबीर सिंह मान, एसडीएम त्रिलोक चन्द, नगराधीश एवं एसडीएम श्रीमती बलीना, मेयर श्रीमती सुमन बाला, डिप्टी मेयर देवेन्द्र चौधरी, चैयरमैन सुरेन्द्र तेवतिया सहित जिला कार्यकारिणी पदाधिकारी और गणमान्य लोग उपस्थित थे। 
उद्योग  एवं वाणिज्य मंत्री विपुल गोयल ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल का फरीदाबाद जिलावासियों की वर्षो पुरानी मागों को पूरा करके विकास की अनूठी सौगात देने पर आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि ये विकास परियोजनाएं फरीदाबाद में नए कीर्तिमान स्थापित करेंगी।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फरीदाबाद जिला की 21 करोड़ 12 लाख रूपये की धनराशि से तैयार की गई दो विकास योजनाओं का उद्घाटन किया, जिसमें 19 करोड़ 78 लाख रूपये से आधुनिक सुविधाओं से लैस श्रम न्यायालय परिसर व 2 करोड़ 34 लाख रुपये की धनराशि से नवनिर्मित बाल भवन शामिल है। जिला में 12 परियोजनाओ का शिलान्यास किए गए, जिसमें 159 करोड़ 40 लाख रुपये की धनराशि का नागरिक सुरक्षा एवं अपराध नियंत्रण इन्टीग्रेटिड कमांड एण्ड कंट्रोल सैन्टर, सीसीटीवी कैमरे, ट्रैफिक लाईट व अन्य सुविधाएं एवं 40 करोड़ 7 लाख रुपये की धनराशि से बडख़ल बाईपास फोरलेन व बडख़ल झील हेतु सीवरेज ट्रीटमैंट प्लांट एवं सम्बन्धित निर्माण कार्य, 40 करोड़ रूपये की धनराशि से ग्राम दयालपुर में नर्सिंग महाविद्यालय, 40 करोड़ रुपये की धनराशि का नर्सिंग महाविद्यालय ग्राम अरूआ, 21 करोड़  रूपये की धनराशि से 66 केवी सब स्टेशन सैक्टर- 21डी फरीदाबाद, 15 करोड़ 95 लाख रुपये की धनराशि से राजकीय महिला महाविद्यालय बल्लभगढ, 11 करोड़ 33 लाख रुपये की धनराशि से औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान तिगांव, 10 करोड़ 73 लाख रुपये की धनराशि से बल्लभगढ में बनाए जाने वाले लघु सचिवालय, 8 करोड़ रुपये की धनराशि से स्वर्ण जयंती नारी आश्रम एवं कौशल कुंज, 2 करोड़ 97 लाख रुपये की धनराशि से पैरालिपिक भवन तथा 189 करोड़ रुपये की धनराशि से हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा तैयार किया जाने वाले हीवो आवासीय परिसर हाऊसिंग साईट सैक्टर-19ए व सैक्टर- 21डी भी शामिल हैं। 
-------------------------------------------
फरीदाबाद, 03 मार्च। स्थानीय जिला अग्रणी कार्यालय सिंडिकेट बैंक ने नगर निगम सभागार में राष्टï्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, पंजाब एंड सिंध बैंक तथा यूनियन बैंक के साथ मिलकर एम एस एम ई सहयोग एवं संपर्क कार्यक्रम के अंतर्गत 20वां कैंप आयोजित किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि आईएएस डिपार्टमेंट ऑफ कॉमर्स के जिला के प्रभारी अधिकारी श्यामल मिश्रा रहे। कार्यक्रम में यूनियन बैंक तथा पंजाब एवं सिंध बैंक द्वारा एमएसएमई प्रतिभागियो को 23 ऋण स्वीकृति प्रमाण पत्र भी प्रदान किए। 
श्यामल मिश्रा ने जिले में बैंकों द्वारा तथा अन्य विभागों द्वारा एमएसएमई के प्रोत्साहन हेतु किए गए  प्रयासों की सराहना की तथा यह भी सुझाव दिया कि भविष्य में भी प्रशासन, बैंक तथा अन्य विभागों के परस्पर सहयोग से काम करने से बहुत ही कम समय में एमएसएमई लाभार्थियों को अधिक लाभान्वित किया जा सकता है। एसडीएम बडख़ल श्रीमती बलीना ने एमएसएमई कैंप के प्रमोशन हेतु प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराई गई सुविधाओं तथा निरंतर मॉनिटरिंग के बारे में प्रभारी अधिकारी को अवगत कराया। 
सहायक महाप्रबंधक सिंडिकेट बैंक नीरज गौतम ने सभी अतिथियों का स्वागत किया तथा अग्रणी जिला मुख्य प्रबंधक डॉ अलभ्या मिश्रा ने समस्त अधिकारियों के समक्ष एमएसएमई सहयोग एवं संपर्क कार्यक्रम में आवंटित विभिन्न पहलुओं में गत 02 नवंबर 2018 से हुई प्रगति के बारे में बताया। एन आर एल एम से उपस्थित अधिकारी राम अवतार, हारून रशीद एवं शिवम तिवारी ने स्वयं सहायता समूह के गठन की कार्य प्रणाली, स्वंय सहायता समूह के रोजगार में महत्व तथा स्वंय सहायता समूह में महिलाओं के विकास में भागीदार सुनिश्चित करने बारे इत्यादि विशेषताओं के बारे में बताया। 
डीडीएम नाबार्ड  सुबोध कुमार ने स्वयं सहायता  समूह  के अंतर्गत बैंकों द्वारा क्रेडिट लिंकेज  को अधिक से अधिक बढ़ावा देने के बारे में बैंकों को जागरूक किया तथा यह भी बताया कि किस तरह से स्वयं सहायता समूह का लाभ उठाकर महिलाएं एक सफल उद्यमी बन सकती हैं।  ऑटो स्किल डेवलपमेंट काउंसिल के अधिकारी धर्मेंद्र ने ऑटोमोबाइल सेक्टर में उपलब्ध विभिन्न अवसरो तथा ऑटो स्किल डेवलपमेंट काउंसिल द्वारा प्रदान की जाने वाली विभिन्न सुविधाओं के बारे में बैंकों तथा उधमियों को अवगत कराया। गत वित्त वर्ष में स्वंय सहायता समूह के अंतर्गत सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक तथा सिंडिकेट बैंक के द्वारा किए गए उत्कृष्ट कार्य की प्रशासन द्वारा सराहना की। इस अवसर पर एमएसएमई डीआई, जीईएम, डीजीएफटी, आरसेटीआई, केवीआईसी, ईएसआईसी, ईपीएफओ तथा अन्य विभागों और बैंकों से अधिकारी उपस्थित थे। 


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages