Wednesday, February 13, 2019

आंगनवाड़ी वर्कर्स एवं हेल्पर का उपायुक्त कार्यालय फरीदाबाद के समक्ष अनिश्चितकालीन धरना जारी

Anganwadi workers and helper deputy commissioner's office continue indefinitely in front of Faridabad
फरीदाबाद, 13 फरवरी(abtaknews.com) आंगनवाड़ी वर्कर्स एवं हेल्पर का उपायुक्त कार्यालय फरीदाबाद के समक्ष अनिश्चितकालीन धरना आज  बुधवार को छठे दिन भी जारी रहा। आज के धरने की अध्यक्षता सुंदरी देवी ने की। धरने पर बैठे कर्मचारियों को संबोधित करते हुए सर्व कर्मचारी संघ के मुख्य संगठन सचिव वीरेंद्र सिंह डंगवाल ने राज्य सरकार पर आंगनवाड़ी वर्कर्स एवं हेल्पर के साथ भेदभाव करने का आरोप लगाया। उन्होंने बताया कि सरकार ने आंगनवाड़ी वर्कर्स के वेतन में पंद्रह सौ रुपए प्रति माह की बढ़ोतरी करने तथा हेल्पर के वेतन में 750 रुपए प्रतिमाह की बढ़ोतरी करने का वायदा किया था, लेकिन सरकार  कर्मचारियों के साथ हुए समझौते को लागू नहीं करती है। इस वादा खिलाफी के विरोध में कर्मचारियों को फिर से आंदोलन करना पड़ता हैं।   धरने को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष देवेंद्री शर्मा ने बताया ने बताया कि यह अजीब विडंबना ही है कि सरकार आंदोलनकारी संगठनों के साथ समझौता तो करती है लेकिन उन समझौतों पर अमल नहीं करती । सरकार स्वीकृत मांगों को अमलीजामा नहीं पहनाती है। जिन मांगों को कर्मचारी मजदूर लडक़र हासिल करता है उनको भी सरकार लागू नहीं करती है। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि आंगनवाड़ी वर्कर्स और हेल्पर्स की स्वीकृत मांगों को लागू नहीं किया गया तो कल वीरवार को रोहतक में होने वाली राज्य कमेटी की बैठक में आंदोलन के अगले चरण का ऐलान कर दिया।
आज की धरने को मालवती, गीता सुरेंद्ररी, पुष्पा, मीनू, दीप माला, कमलेश एवं सीआईटीयू के जिला प्रधान निरंतर पराशर तथा सर्व कर्मचारी संघ के सह सचिव धर्मवीर वैष्णव ने भी संबोधित किया।
--------------------------------------
हुडा जन स्वास्थ्य कर्मचारी यूनियन संबंधित सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा जिला कमेटी फरीदाबाद टाउन पार्क में लगने वाले फूलों के मेले का बहिष्कार करेगा। यह जानकारी यूनियन के सर्कल प्रधान खुर्शीद अहमद और सर्कल सचिव धर्मवीर वैष्णव ने यहां से जारी एक बयान में दी। उन्होंने बताया एक तरफ  विभाग में बजट नहीं होने का नाम लेकर कर्मचारियों के वेतन और भत्तों के लिए धनराशि से नहीं होने का बहाना बनाया जाता है दूसरी तरफ  पुष्प  मेले के नाम पर   करोड़ों पानी की तरह बहाया जा रहा है। यहां पर स्टाल लगाने में कर्मचारियों को पुरस्कृत करने में तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम और खाने-पीने के इंतजाम में जो धनराशि खर्च होती है उसके बोगस बिल बनाए जाते हैं जिससे विभाग को काफी आर्थिक नुकसान होता है एक तरफ अनाउंसमेंट की राशि को लेकर के किसान आंदोलन के रास्ते पर हैं। दूसरी तरफ  हुडा विभाग गैर जरूरी कार्यों पर करोड़ों रुपया अनावश्यक रूप से खर्च कर देता है। इस लिए आगामी 24 फरवरी को होने वाले पुष्प मेले का यूनियन डट कर विरोध करेगी। इसकी सूचना विभाग के सभी आला अधिकारियों तथा चीफ एडमिनिस्ट्रेटर पंचकूला को भी दे दी गई है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages