Sunday, February 10, 2019

केन्द्र सरकार की छ हजार की घोषना का नहर पार के किसानो को नही मिलेगा फायदा

Farmers can not get the canal of six thousand slogans of central government

ग्रेटर फरीदाबाद(abtaknews.com) किसानो की बैठक गांव बडौली में आयोजित की गई। बैठक में कई गांवो के किसानो ने हिस्सा लिया। बैठक को सम्बोधित करते हुए किसान संघर्ष समिति ग्रैटर फरीदाबाद के अध्यक्ष शिवदत्त वशिष्ठ ने कहा कि हाल ही में केन्द्र सरकार ने जो बजट पेश किया है इस बजट में घोषणा की गई है कि दो हैक्टेयर जमीन वालो किसानो को केन्द्र सरकार छ हजार रूपये एक दिसंबर 2018 से देना शुरू करेगी लेकिन नहर पार के पांच गावों के किसानो को इस घोषणा का कोई फायदा नही होगा। क्योकि पूर्व कॉग्रेस सरकार ने 2009 में पांच गांवो की सैकडो एकड जमीन बिना किसानो के मर्जी अधिग्रहण कर ली थी । और इस उपजाउ जमीन का दाखिल खारिज सरकार ने अपने नाम चडवा लिया था। किसनो का आजतक करोडो रूपये जो खजाने में जमा है उसे आज तक किसानो ने नही उठाया है। और ना ही अपनी जमीन पर सरकार को कब्जा दिया है। बैठक मे किसानो ने राज्य सरकार से मांग कि है कि उनकी उपजाउ जमीन का 2009 का फैसला रद हो और उनकी जमीनो को किसानो को वापिस लौटाया जाये। और सरकार अपने नाम से चडे दाखिल खारिज को केन्सिल करके किसानो के नाम से दाखिल खारिज चडाया जाए। जिससे नहरपार के किसान अपनी उपजाउ जमीन पर फसल पैदा कर सके और केन्द्र सरकार के हाल ही कि छ हजार सालाना सक्मि का फायदा उठा सके। इस मौके पर मास्टर जय नारायण, ब्रहमदत्त, जय प्रकाश भाटी, मनोज यादव, नरेन्द्र अशोक सीमा अनूप संजय प्रदीप रणसिंह आदि किसाने मौजूद थे।


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages