Breaking

Sunday, February 17, 2019

पुलवामा हमले के विरोध में अनंगपुर गांव के लोगों ने किया पाकिस्तान के खिलाफ जोरदार प्रर्दशन

Anangpur village protested against Pulwama attack, strongly protest against Pakistan
           
फरीदाबाद(abtaknews.com) 17 फरवरी,2019; पुलवामा हमले के विरोध में जहां पूरे देश के हर कोने कोने पर रोष प्रर्दशन हो रहे है। इसी कड़ी में अनंगपुर गांव के हजारों ग्रामीणों ने कैड़ल मार्च निकालकर शहीदों को श्रृद्वांजलि दी और पाकिस्तान के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी की। कैड़ल मार्च से पूर्व गांव की चौपाल पर शहीदों की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा गया इसके उपरांत हजारो की संख्या में ग्रामीणों ने अनंगपुर चौक तक पैदल कैड़ल मार्च निकाला। इस मौके पर गांव के मनमोहन भड़ाना ने कहा कि इस दर्दनाक हमले से पूरा देश सन्न है और देश के प्रधानमंत्री की तरफ नजरे लगाए बैठा है कि कब इस हमले को अंजाम देने वालों और उनका समर्थन करने वालों पर कड़ी कारवाई होगी। उन्होनें कहा कि देश का बच्चा बच्चा इस घटना से आहत है और पाकिस्तानी आंतकवाद से लडऩे के लिए सीमा पर जाने के लिए तैयार बैठा है। मनमोहन भड़ाना ने कहा कि देश का हर नागरिक इस दुख की घड़ी में एकजुट है और शहीदों के परिवारों के साथ खड़ा है। 

इस अवसर पर वरिष्ठ नेत्री अनिता शर्मा ने कहा कि पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए महिलाएं भी तैयार बैठी है। उन्होनें कहा कि आंतकवादियों की इस कायराना हरकत का माकूल जवाब देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ऐसे देगें की पाकिस्तान की पीढिय़ा सदियों तक पुलवामा हमले के लिए पाकिस्तानी आंतकवाद और पाकिस्तानी सरकार को कोसती रहेगीं। इस मौके पर युवा नेता सुबोध महाशय ने कहा कि पाकिस्तान को ईंट का जवाब पत्थर से देने का समय आ गया है। उन्होनें कहा कि देश में पाकिस्तान के खिलाफ जबरदस्त गुस्सा है और सरकार यदि चाहे तो देश का एक एक नौजवान सेना में भर्ती होकर पाकिस्तान को खाक में मिलाने के लिए तैयार बैठा है। इस अवसर पर गजेन्द्र भड़ाना,हरिनिवास भड़ाना,राजेश भड़ाना ने कहा कि पुलवामा हमला देश पर हमला है और इसके लिए पाकिस्तान में घुसकर जवाब देना चाहिए। उन्होनें कहा कि बरसो से चली आ रही इस समस्या का अब अंत अब पाकिस्तान का अंत करने से ही होगा। इस अवसर पर मनमोहन भड़ाना, देवेन्द्र भड़ाना, अजीपाल सरपंच, हरिनिवास भड़ाना, प्रताप सिंह, ओमपाल भड़ाना, जयविन्दर, अजीपाल, यादराम, जगवीर, सत्ते महाशय, श्यामबीर, ब्रहपाल, मनोज कुमार, ललित भड़ाना, वीरपाल भड़ाना, सुबोध महाशय, शीशराम सरपंच व मनोज भड़ाना सहित हजारो ग्रामीण मौजूद थे। 
                                                           

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages