Saturday, February 23, 2019

आरटीआई खुलासा; पनीर के 27 में से 26 सेम्पल फेल,पांच हजार जुर्माना कर मामला दबाया

फरीदाबाद(abtaknews.com) 22फरवरी,2019; हेल्दी फ़ूड कहे जाने वाला पनीर भी क्या आपकी सेहत  बिगाड़ सकता है और कैंसर जैसी बिमारी को जन्म दे सकता है यह सुनकर किसी के भी होश उड़ जाएंगे इस बात का खुलासा फरीदाबाद के एक आरटीआई एक्टिविस्ट ने किया है जिसमे कहा गया है की फरीदाबाद जिले में फ़ूड इंस्पेक्टर द्वारा लिए गए पनीर के 27 सेम्पलों में से 26 सेम्पल फेल पाए गए है।  फेल सेम्पलों में यूरिया , डिटर्जन और घटिया ऑयल जैसे घातक पदार्थो की पुष्टि की गयी है।  एक्टिविस्ट द्वारा अपने स्तर पर भी सेम्पलों की गवर्मेंट अप्रूव्ड लैब से जांच करवाई गयी जो फेल पाए गए।  ख़ास बात यह है की इन लोगो पर कोई कड़ी कार्यवाही नहीं की गयी बल्कि मात्र पांच - पांच हजार रूपये के जुर्माने लगाकर इतिश्री कर ली गयी।  डाक्टरों ने मिलावटी पनीर से कैंसर होने की बात कही है वहीँ कानून के जानकारों के अनुसार ऐसे मामलो में सजा का प्रावधान भी है लेकिन मात्र थोड़ा सा जुर्माना लगाकर मिलावट के मामलो को दबा दिया गया। 
आरटीआई एक्टिविस्ट वरुण श्योकंद द्वारा आयोजित प्रेससवार्ता में उनके साथ एक्सपर्ट डाक्टर विश्वरूप रॉय चौधरी और सुप्रीम कोर्ट के वकील पद्ममश्री डॉ ब्रह्मदत्त विशेष रूप से मौजूद रहे। वरुण श्योकंद ने खुलासा करते हुए बताया की आरटीआई के माध्यम से उन्होंने जानकारी ली थी जिसके तहत सरकारी विभाग द्वारा फरीदाबाद जिले से  फ़ूड इंस्पेक्टर द्वारा लिए गए पनीर के 27 सेम्पलों में से 26 सेम्पल फेल पाए गए है।  फेल सेम्पलों में यूरिया , डिटर्जन और घटिया ऑयल जैसे घातक पदार्थो की पुष्टि की गयी है। उन्होंने हैरानी प्रगट करते हुए कहा की दोषी लोगो पर कोई कड़ी कार्यवाही नहीं की गयी बल्कि मात्र पांच - पांच हजार रूपये के जुर्माने लगाकर इतिश्री कर ली गयी । उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा की अब वह इस मामले को लेकर कोर्ट में जाएंगे और दोषियों को सजा दिलवाने का काम करेंगे।  वहीँ प्रेससवार्ता में मौजूद एक्सपर्ट डाक्टर विश्वरूप रॉय चौधरी ने कहा की ऐसा पनीर खाने से कैंसर जैसी गंभीर बिमारी हो सकती है इसलिए खाने पीने की चीजों को लेकर कठोर कदम उठाय जाने की ज़रूरत है।  मौके पर मौजूद सुप्रीम कोर्ट के वकील पद्मश्री डाक्टर ब्रम्हदत्त ने हैरानी जतलाते हुए कहा की मिलावटखोरों को मात्र जुर्माना लगाकर छोड़ना यह दर्शाता है की हरियाणा में कानून का पालन नहीं किया जा रहा।  
वरुण श्योकन्द ने हीं सारी जानकारी आरटीआई द्वारा जुटाई  , इसमें सामने आया ओल्ड फरीदाबाद , सेक्टर 18 मार्केट , सेक्टर 21 मार्केट , सेक्टर 16 नई सब्जी मंडी , खेड़ी रोड , वजीरपुर , पल्ला,  एनआईटी दो नंबर,  बल्लभगढ़, सेक्टर 3 , व शहर में सभी जगह 99% यह जहरीला पनीर बिक रहा है व शादियों में भी इसी की सप्लाई हो रही है ,, यह जिनके भी सैंपल विभाग ने  किए हैं , जो फेल पाए गए वह सभी शहर के थोक विक्रेता है पनीर के।
पनीर के साथ साथ शहर में दबाकर मिलावटी खोया भी बिक रहा है जिसकी जानकारी आरटीआई द्वारा ही प्राप्त हुई और शहर के नाम चिन्ह विक्रेता इसे बेच रहे हैं।वरुण शयोकन्द ने कहा इसमें बहुत बड़ा झोलमाल है क्योंकि किसी का भी मिलावट खोर का नाम  सर्वजनिक नहीं किया गया,  ऊपर से राजनीतिक संरक्षण की वजह से इन मिलावट खोरो को खुली छूट दी गई जहर बेचने की फरीदाबाद में। भ्रष्टाचार विरोधी मंच के सभी सदस्य जल्द ही हाईकोर्ट लेकर जा रहे हैं इस मामले को और कार्रवाई करवाएंगे सभी मिलावटी खोरो के खिलाफ, इसमें फरीदाबाद एडीसी की भूमिका भी संदिग्ध पाई गई है क्योंकि उन्होंने 5-5 हजार का जुर्माना लगाकर पहले भी कई मिलावट खोरो को छोड़ा है और मामले को दबाने की कोशिश की गई , ना ही किसी का नाम सार्वजनिक किया गया।। पिछले 4 साल में एक भी दुकान सील नहीं की गई मिलावटखोर कि। 

बाबा राम केवल ने कहा हम चेताना चाहते हैं पूरे शहर में खुले बड़े-बड़े फाइव स्टार होटल और हलवाई की दुकानों को कि हम कभी भी किसी का सैंपल उठा सकते हैं और चेक करवा लेंगे , कृपया निवेदन है सभी से कि शहर वासियों की जान से ना खेलें नहीं तो दुष्परिणाम होंगे।     अगर प्रशासन और नेताओं ने इन मिलावट चोरों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई नहीं की तो हम एक बड़ा आंदोलन भी करेंगे, 15 दिन का समय प्रशासन को हम देते हैं।। मुकदमे दर्ज होने चाहिए फूड एंड सप्लाई डिपार्टमेंट के अफसरों के खिलाफ भी जो इन से हर महीने रिश्वत लेकर इन्हें छोड़ देते हैं।।   इस पर जल्द ही जनहित याचिका लगाई जाएगी।


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages