Monday, January 21, 2019

फरीदाबाद में बारिश के दौरान आसमानी बिजली गिरने से मौजाबाद में किसान की मौत


फरीदाबाद(abtaknews.com) 21 जनवरी,2019; तिगांव विधानसभा के अंतर्गत थाना भूपानी में आने वाले गांव मौजाबाद जो कि भासकोला पंचायत में आता है। मौजाबाद में एक युवा किसान की आसमानी बिजली गिरने से मौत हो गई। गांव की सरपंच सत्यवती के पति भान सिंह चौहान ने अबतक न्यूज़ को दी जानकारी में बताया कि मृतक किसान सतीश पुत्र तुलीराम दोपहर के समय अपने खेतों में गेहूं की फसल में पानी दे रहा था अचानक आई बारिश के दौरान आसमानी बिजली गिरने से 37 वर्षीय किसान सतीश की मौत हो गई। भोपानी थाना को सूचना दी गई और मृतक का शव पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल बी के में रखवा दिया गया है। 
बरसात एक अन्नदाता पर उस समय भारी पड गई जब गंेहू की फसल में पानी लगाता हुआ किसान आसमानी बिजली की चपेट में आ गया। दर्दनाक हादसा फरीदाबाद की तिगांव विधानसभा के गांव मौजाबाद का है, किसान के उपर गिरी आसमानी बिजली के चलते 37 वर्षीय किसान सतीश ने खेत में ही दम तोड दिया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और किसान के शव को पोस्टमार्डम के लिये सिविल अस्पताल में रखवा दिया। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्डम के बाद मामला दर्ज कर आगे की कार्यवाही की जायेगी।
वैसे तो इस मौसम में बरसात किसान और उसकी फसल के लिये अच्छी होती है मगर जब खुशनुमा बारिस उसी किसान की जान लेले तो बडा हादसा हो जाता है, ऐसा ही बडा दर्दनाक हादसा फरीदाबाद की तिगांव विधानसभा के गांव मौजाबाद में हुआ है, जहां सुबह से ही अपने खेत में गेंहू की फसल में पानी लगा रहे किसान के उपर आसमानी बिजली गिर पडी। परिजनों की तो 37 वर्षीय किसान सतीश गेंहू में पानी लगाने के लिये घर से गया था, तभी बारिस आ गई, वह खेत में पानी चलाकर झोंपडी में छुप गया, जहां अचानक से आसमान से बिजली सीधे किसान के उपर गिरी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई, सूचना मिलने पर ग्रामीणों ने किसान सतीश को अस्पताल ले जाने की कोशिश की मगर तब तक उसने दम तोड दिया। 
-----------------------------------------------------
आज अचानक मौसम ने करवट ली और आसमान पर बादल छा गए और बारिश होने लगी। इस बारिश से  तापमान में भी गिरावट दर्ज की गयी।  बारिश और तेज हवाओ के चलते अब लोगो को प्रदूषण में कमी आने के चलते राहत मिलने की उम्मीद  बन गयी है।  हाल ही में फरीदाबाद में प्रदूषण का स्तर 400 से 500 तक पहुंच गया था लेकिन बारिश और तेज हवा के चलने से जहाँ प्रदूषण का स्तर घटेगा वहीँ मौसमी बीमारियों से भी लोगो को राहत मिलेगी। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages