Breaking

Thursday, January 3, 2019

फरीदाबाद में उलटी झाड़ू उठाकर सैकड़ो सफाई कर्मचारी उतरे सड़को पर, किया प्रदर्शन

फरीदाबाद(abtaknews.com):बीते साल मई माह में नगर पालिका कर्मचारी संघ द्वारा सफाई कर्मचारियों की 16 दिन चली लम्बी हड़ताल के बाद सरकार द्वारा तमाम मांगे माने जाने के छह माह बीत जाने के बाद भी मानी गयी मांगे लागू नहीं होने पर एक बार फिर सफाई कर्मचारी सरकार के विरोध में उतर आये है और आज पूरे प्रदेश में तमाम जिला मुख्यालयों पर सफाई कर्मचरियो ने झाड़ू उलटे उठाकर सड़को पर विरोध प्रदर्शन किया। जिला सफाई कर्मचारी नेता बलबीर बालगुहेर ने बताया की बीते साल मई में 16 दिन चली लम्बी हड़ताल के बाद शहरी निकाय मंत्री कविता जैन की अध्यक्षता में तीन मंत्रियो ने यूनियन नेताओ के साथ सभी मांगो पर सहमति जतलाते हुए इन्हे शीघ्र लागू करने की बात कही थी लेकिन छह महीने बीत जाने के बाद भी मांगी गयी मांगे सरकार ने अभी तक लागू नहीं की है जिसके विरोध में पूरे प्रदेश में आज झाड़ू प्रदर्शन किये जा रहे है। 
कर्मचारी नेता बलबीर बालगुहेर ने बताया की आज मोदी जी के स्वच्छ भारत मिशन को लेकर देशभर के चार हजार शहरों में स्वछता सर्वेक्षण करवाया जा रहा है इसलिए सफाई कर्मचारियों ने आज इस दिन अपना विरोध प्रदर्शन करके सरकार को चेताने का काम किया है. उन्होंने कहा की जल्दी ही हरियाणा में चुनाव होने वाले है और हाल ही में पांच राज्यों के चुनावों में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा है. इसलिए हम सरकार को चेतावनी देते है की वह समय रहते गरीब सफाई कर्मचारियों की मानी गयी मांगो को लागू करे और कर्मचारियों का शोषण बंद करे. उन्होंने कहा की आगामी 8 - 9 जनवरी को पूरे देश में होने वाली हड़ताल में सफाई कर्मचारी हिस्सा लेंगे और देश व्यापी हड़ताल को सफल बनाएंगे। 


बल्लभगढ़ में आगामी 8 और 9 जनवरी को देशव्यापी हड़ताल को सफल बनाने के लिए सीआईटी यू सी टू फरीदाबाद के कर्मचारियों ने बल्लभगढ़ में रेस्ट हाउस के सामने गेट मीटिंग कर प्रेस वार्ता को संबोधित किया इस मौके पर कर्मचारी नेताओं ने कहा कि आशा वर्कर मिड डे मील वर्कर के अलावा इस तरीके से लगे हुए कच्चे कर्मचारियों को स्थाई किया जाए व कर्मचारियों को सातवें वेतन आयोग के अनुसार मिनिमम वेतन ₹18000 दिया जाए।
सीआईटीयू (सीटू) फरीदाबाद के कर्मचारी जिन्होंने बल्लभगढ़ के रेस्ट हाउस पर गेट मीटिंग की है इस मौके पर आशा वर्कर और मिड डे मील वर्करों की तरफ से भी महिला कर्मचारी नेताओं ने मीटिंग में हिस्सा लिया और अपनी मांगों को रखा कर्मचारी नेता जय भगवान ने कहा कि कर्मचारियों की मांगों के लिए 8 और 9 जनवरी को देशव्यापी हड़ताल है जिसे सफल बनाने के लिए आज फरीदाबाद के अलग-अलग जगहों पर कर्मचारी इकट्ठा होकर हड़ताल की रणनीति तैयार करने में लगे हैं उन्होंने कहा कि सरकार कच्चे कर्मचारियों को स्थाई करें और उनके बीएफ के अलावा ईएसआई फंड आदि भी शुरू करें ताकि मजदूर अपना जीवन यापन ढंग से कर सके उन्होंने कहा कि कर्मचारी आज महंगाई के जमाने में काफी दिक्कतों से गुजर रहा है कर्मचारी मजदूरों की मांगों को उठाने के लिए यह हड़ताल की जा रही है जिसमें देशभर के कच्चे कर्मचारी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे।
निगम मुख्यालय पर आयुक्त के आने की सूचना मिलते ही निगम के सफाई कर्मचारियों ने मुख्यालय पहुंच कर उनके कार्यालय पर भी नारेबाजी की। आज के प्रदर्शन की अध्यक्षता प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर ने की तथा मंच का संचालन सचिव सोमपाल झिझोटिया ने किया।कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के जिला सचिव व प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर ने कहा कि यूनियन व सरकार के बीच विगत 24 मई को हुई वार्ता में हुए फैसलों जैसे ही कच्चे कर्मचारियों को पक्का करना, सफाई विभाग से ठेकादारी प्रथा समाप्त करना, समान काम-समान वेतन लागू करना सहित अन्य मांगों पर सहमति बनी थी लेकिन छह माह बीत जाने के बावजूद भी सरकार ने किसी भी समझौते को लागू नहीं किया। जिससे की अब यह कर्मचारी सरकार की वायदा खिलाफी के विरोध में आज उल्टी झाडू कर सडक़ों पर उतरे है और सरकार को चेताया है कि 24 मई के फैसले को लागू करो नहीं तो यह कर्मचारी 4 जनवरी से शुरू होने वाले स्वच्छ सर्वेक्षण का बहिष्कार करेगें।
सफाई कर्मचारी यूनियन ने जिला उपायुक्त एवं निगम आयुक्त का कार्यभार देख रहे अतुल द्विवेदी को सफाई कर्मचारियों की समस्याओं का मांग पत्र 26 दिसम्बर को सौंपा था। जिसमें मुख्य मांग थी नगर निगम में सफाई विभाग में रिक्त पड़े 498 पदों को तुरन्त प्रभाव से भरा जाए तथा वार्ड नम्बर-6, 7 व 8 का वर्क आऊट सोर्स को ठेका तुरन्त प्रभाव से रद्द किया जाए।  पिछले जनवरी 2018 व जुलाई 2018 के डीए के एरियर का तुरन्त भुगतान किया जाए साथ ही 30 जून 2018 को सेवानिवृत हुए कर्मचारियों को डीसीआरजी की पेमेंट का भुगतान तुरन्त प्रभाव से किया जाए। शिक्षा भत्ता, एलटीसी, मेडिकल भत्ते का भुगतान किया जाए।प्रदर्शन करने वालों को अन्य के अलावा श्रीनंद ढकोलिया, जितेन्द्र छाबड़ा, प्रेमपाल, महेन्द्र कुडिय़ा, बल्लू प्रधान, राजबीर चिण्डालिया, रघुबीर चौटाला, रविन्द्र टांक, नरेश भगवाना, माईचंद जंघालिया, विजयपाल चिण्डालिया, विरेन्द्र भंडारी, रंजीत कुमार, देशराज डाबर, बंटी खैरालिया, सूरजकीर, मुकेश सन्नूराम, महिला नेत्री माया, कमलेश, शकुन्तला, सुनीता, ज्ञानो, वीना, बबीता, कविता सहित अन्य लोग शामिल थे। 



No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages