Breaking

Thursday, January 31, 2019

स्वच्छता सर्वेक्षण को सफल बनाने को यूनियन ने निगम आयुुक्त अनीता यादव को दिलाया भरोसा

Unions have relied on corporation Ayutthaya Anita Yadav to make cleanliness survey successful
फरीदाबाद, 31 जनवरी(abtaknews.com) नगर निगम आयुक्त व नगर निगम सफाई कर्मचारी यूनियन के बीच देर सायं हुई वार्ता में कई मांगों पर बनी सहमति। वार्ता के उपरांत सफाई कर्मचारी यूनियन ने निगमायुक्त अनीता यादव सहित सभी अधिकारियों का धन्यवाद व्यक्त करते हुए स्वच्छता सर्वेक्षण को सफल बनाने के लिए भी यूनियन पदाधिकारियों ने निगम आयुुक्त को भरोसा दिलाया। 
गौरतलब है कि निगम प्रशासन ने आज सफाई कर्मचारी यूनियन को लिखित पत्र भेजकर वार्ता के लिए आमंत्रित किया था। निगमायुक्त के बुलावे पर आज नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री, राज्य सचिव सुनील कुमार चिण्डालिया, सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर के नेतृत्व में जिला सचिव नानकचंद खैरालिया, सचिव सोमपाल झिझोटिया, श्रीनंद ढकोलिया, जितेन्द्र छाबड़ा के अलावा अतिरिक्त आयुक्त धीरेन्द्र खटगड़ा, निगम सचिव रोहताश बिश्नोई, संयुक्त-आयुक्त अमरदीप जैन, चीफ इंजीनियर डी.आर.भास्कर, अभियंता रामप्रकाश, एक्सईएन धर्म सिंह नरवत, स्थापना अधिकारी धनराज सिंह, अधीक्षक विकास कन्हैया, चंदन सिंह, स्वास्थ्य अधिकारी नवल सिंह नरवत, वरिष्ठ सफाई निरीक्षक चन्द्रदत्त आदि मौजूद थे।
इन मांगों पर बनी सहमति नगर निगम में सफाई कर्मचारियों के 498 रिक्त पदों को तुरन्त प्रभाव से केस बनाकर राज्य सरकार से सहमति लेकर उन्हें भरा जाएगा। आऊटसोर्सिंग पार्ट वन में लगे 297 कर्मचारियों को नगर निगम के रोल पर लेने पर भी सहमति बनी। नगर निगम के सफाई कर्मचारियों को अपना आवास बनाने के लिए निगम के बजट में लोन संबंधी मंजूरी मिलेगी। इसके बाद कर्मचारी निगम से लोन ले सकेगें।
ओल्ड व बल्लभगढ़ तथा एनआईटी जोन के सफाई कर्मचारियों की हाजरी शैडों व महिलाओं व पुरूषों का शौचालय बनाने जाएगें। सभी कर्मचारियों को वर्दी, जूते तथा सर्दी के मौसम को देखते हुए ट्रैकशूट भी दिए जाएगें। नगर निगम में कार्यरत सभी कर्मचारियों को बीमा की सुविधा प्रदान की जाएगी। इसके अलावा सरकारी कर्मचारियों की तर्ज पर सभी कर्मचारियों को कैशलेस मेडिकल की सुविधा भी दी जाएगी। नगर निगम में 10वीं व 12वीं पास सफाई कर्मचारी जिन्होंने सफाई निरीक्षक का डिप्लोमा किया हुआ है। उन्होंने अब सफाई निरीक्षक के पद से नवाजा जाएगा तथा ओल्ड व बल्लभगढ़ जोन में सफाई का सुपरविजन कर रहे सफाई कर्मचारियों को भी सफाई दरोगा का दर्जा दिया जाएगा। साथ ही पिछले दस वर्षों से जीपीएफ का लेखा-जोखा दिया जाएगा। निजी सफाई कम्पनी ईको ग्रीन में लगे हुए कर्मचारियों पर भी डीसी रेट लागू करने के लिए निगमायुक्त ने दिए सख्त निर्देश। सफाई कर्मचारियों के बकायाजात का भुगतान एक सप्ताह में करने के आदेश भी निगमायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को दिए। इस अवसर पर मीटिंग में अन्य के अलावा दान सिंह, राजबीर चिण्डालिया, बल्लू प्रधान, महेन्द्र कुडिय़ा, नरेश भगवाना, रघुबीर चौटाला, रविन्द्र सौदे, माया, शकुन्तला, सुलोचना सहित अन्य कर्मी नेता मौजूद थे।



No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages