Wednesday, January 16, 2019

जे.सी बोस विश्वविद्यालय,वाईएमसीए में उद्यमशीलता विकास पर दो सप्ताह का कार्यक्रम आरंभ

फरीदाबाद(abtaknews.com)16 जनवरी,2019; जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद में उद्यमशीलता विकास को लेकर दो सप्ताह तक चलने वाले राष्ट्रीय स्तर के फैकल्टी डेवलेपमेंट कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। यह कार्यक्रम विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के अंतर्गत उद्यमशीलता प्रशिक्षण के लिए राष्ट्रीय क्रियान्वयन व निगरानी एजेंसी के सहयोग से आयाजित एवं वित्त पोषित है।डद्घाटन सत्र को कार्यक्रम के मुख्य अतिथि व मुख्य वक्ता बोनी पोलीमर प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक श्री राज कुमार भाटिया, जोकि विश्वविद्यालय के भूतपूर्व छात्र रहे है, ने संबोधित किया तथा कार्यक्रमों के महत्व पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने की।
जीवन के वास्तविक उदाहरण देकर विद्यार्थियों को समझाते हुए श्री भाटिया ने उद्यमशीलता की विशेषताएं बताई तथा कहा कि प्रतिबद्धता व समर्पण से ही  उद्यमशीलता के रास्ते पर सफलता हासिल की जा सकती है। उन्होंने कहा कि उद्यमशीलता एक तरह से एक अच्छा विचार है, जिसे वास्तविकता में बदल दिया गया। उन्होंने विद्यार्थियों को सुझाव दिया कि वे उद्यमशीलता को लेकर आने वाले अपने ऐसे अभिनव विचारों को लिखने की आदत डाले, जिन्हें वे स्टार्ट-अप के रूप में विकसित करने के लिए अनुकूल मानते हैं।
कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कार्यक्रम के सफलता के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा कि विश्वविद्यालय विद्यार्थियों में उद्यमशीलता की संस्कृति विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध है और ऐसे कार्यक्रम को आयोजित करना एक पहले है, जिससे उद्यमशीलता विकास के क्षेत्र में अनुभव व प्रशिक्षित फैकल्टी सदस्य तैयार होंगे जो रिसॉर्सपर्सन के रूप में युवा विद्यार्थियों, विशेष रूप से ऐसे विद्यार्थियों जो विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विषयों से है, को उद्यमशीलता को कैरियर विकल्प के रूप में लेने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।कार्यक्रम के उद्देश्यों का उल्लेख करते हुए डीन (एफईटी) डॉ. तिलक राज ने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से फैकल्टी सदस्यों को उद्यमशीलता विकास से संबंधित जरूरी उपकरण व तकनीक उपलब्ध करवाना है ताकि वे इसका प्रयोग अपने अध्यापन, अनुसंधान व ज्ञान अर्जित के रूप में कर सके।इससे पूर्व, कार्यक्रम के संयोजक डॉ. वासुदेव मल्होत्रा ने सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया तथा दो सप्ताह के कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की। कार्यक्रम को कुलसचिव डॉ. एस.के. शर्मा ने भी संबोधित किया।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages