Breaking

Friday, January 25, 2019

जेसी बोस विश्वविद्यालय की पहल,छात्रावास को साफ-सुथरा रखने पर विद्यार्थियों को दिये जायेंगे नकद पुरस्कार


फरीदाबाद, 25 जनवरी(abtaknews.com)विद्यार्थियों में स्वच्छता की भावना को प्रेरित करने के उद्देश्य से जेसी बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने छात्रावास में सबसे साफ-सुथरा कमरा रखने वाले विद्यार्थियों को नकद पुरस्कार से सम्मानित करने की पहल की है। इस पुरस्कार की परिकल्पना विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. दिनेश कुमार द्वारा विद्यार्थियों को स्वच्छता गतिविधियों के लिए प्रेरित करने तथा उन्हें जिम्मेदार बनाने के उद्देश्य से की गई है।

अपनी तरह के पहले नकद पुरस्कारों को कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने छात्रावास में आयोजित एक कार्यक्रम मे विद्यार्थियों को प्रदान किया, जिसमें पहले तीन स्थानों पर रहे विद्यार्थियों को 10,000, 5000 व 3000 रूपये के नकद पुरस्कार प्रदान किये गये। इसमें प्रथम स्थान पर नेहरू छात्रावास से हितेष कुमार, विरेन्द्र कुमार व मनदीप रहे। दूसरा पुरस्कार जाकिर छात्रावास से अमोद्य रैना, पार्थ मुंची व सिद्धार्थ टिंकू को मिला और तीसरा पुरस्कार अभिषेक, सविता व शिवम भट्ट को मिला। इस अवसर पर चीफ होस्टल वार्डन विकास तुर्क, होस्टल वार्डन डॉ. महेश चंद तथा डॉ. ओम प्रकाश मिश्रा भी उपस्थित थे।
विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कुलपति ने कहा कि स्वच्छता बनाये रखना एक कार्य नहीं, अपितु यह एक जीवन शैली है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी स्वच्छता को दैनिक जीवन का हिस्सा बनाये, न कि यह कभी-कभार होने वाली स्वच्छता अभियान तक सीमित रहे। उन्होंने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि अच्छी आदतों को अपनाये और विचारों में शुद्धता लाये। इस अवसर पर उन्होंने स्वच्छ छात्रावास प्रतियोगिता को अगले सेमेस्टर में भी जारी रखने की घोषणा की तथा कहा कि यदि प्रतियोगिता के परिणाम अच्छे रहे तो इसे आगे भी जारी रखा जायेगा।
प्रतियोगिता की विस्तृत जानकारी देते हुए चीफ होस्टल वार्डन डॉ. विकास तुर्क ने बताया कि कुलपति के दिशा-निर्देशन में यह प्रतियोगिता लड़कों के छात्रावास में आयोजित की गई। प्रतियोगिता के दौरान सभी छात्रावासों के कमरों का निरीक्षण तथा समीक्षा संबंधित होस्टल वार्डन द्वारा निर्धारित मानदंडों के आधार पर की गई, जिसमें कमरों में साफ-सफाई, किताबों तथा अन्य समान का रख-रखाव, कूडेदान का उपयोग व कूड़े का निपटान तथा विद्यार्थी द्वारा छात्रावास के नियमों का पालन शामिल था। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों ने प्रतियोगिता में न केवल सक्रिय रूप से हिस्सा लिया, अपितु स्वच्छता गतिविधियों में बढ़-चढ़कर अपना योगदान भी दिया।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages