Breaking

Monday, January 14, 2019

फरीदाबाद में भाजपा से गुस्से में भरा है अन्नदाता, चुनावों में सिखाएगा सबक

फरीदाबाद(abtaknews.com) 14 जनवरी; पृथला विधानसभा के गांव चंदावली में अपनी मांगों को लेकर पिछले 1 साल से बैठे 5 गांव के किसानों ने आज नयनपाल रावत के बीजेपी कार्यालय का घेराव किया और कार्यालय के सामने बैठकर अनशन जारी रखा। किसानों ने आज बीजेपी कार्यालय पर अपना रोष प्रकट करते हुए बीजेपी मुर्दाबाद के नारे लगाए और 10 दिन का समय मांगा किसानों का कहना है कि यदि बीजेपी सरकार 10 दिन के अंदर हमारी मांगों पूरी नहीं करती है तो हम पांच गांव में बीजेपी के किसी भी कार्यकर्ता को गांव के अंदर दाखिल नहीं होने देंगे। लेकिन दूसरी तरफ बीजेपी से नेता नयनपाल रावत ने किसानों को आश्वासन देते हुए कहा कि 10 दिन के अंदर उनकी मांगे मान ली जाएंगी यह उनका दावा है नयनपाल रावत ने कहां की उनकी मांगे मनवाने के लिए वह केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से भी अनुरोध करेंगे और इस समस्या का जल्द ही समाधान निकाल लिया जाएगा।
पिछले 394 दिन से किसान संघर्ष समिति आईएमटी फरीदाबाद के बैनर तले अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे 5 गांवों के किसानों ने सोमवार को भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य एवं पृथला विधानसभा क्षेत्र के पूर्व भाजपा प्रत्याशी नयनपाल रावत से चंदावली स्थित कार्यालय पर मुलाकात करते हुए उन्हें मांगपत्र सौंपा और सरकार व प्रशासन को 10 दिन का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि इस दौरान अगर उनकी दो प्रमुख मांगेें पूरी नहीं हुई तो वह आईएमटी में चल रहे निर्माण कार्याे को रोक देंगे। इस दौरान नयनपाल रावत ने किसानों की समस्याओं को सुनते हुए तुरंत फोन पर केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर से बात करवाई और श्री गुर्जर ने किसानों को विश्वास दिलाया कि तीन-चार दिन में वह किसानों की मीटिंग दिल्ली में प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल से करवा देंगे और उनकी इन मांगों को भी पूरा करवा दिया जाएगा। किसानों ने रावत को बताया कि किसानों की चार मांगों को सरकार पहले ही मान चुकी है, जबकि उनकी दो प्रमुख मांगों में 600 करोड़ का बचा हुआ मुआवजा देने व किसानों को रिहायशी प्लाट पर प्रतिवर्ग गज के हिसाब से बढ़ाई गई 3507 रुपये की राशि को वापिस लेकर पुन: दस हजार रुपए प्रति वर्ग गज करने की है। नयनपाल रावत ने कहा कि प्रदेश की मनोहर सरकार पूरी तरह से किसान हितैषी है और सदैव किसानों के हितार्थ कार्य करती है। उन्होंने कहा कि यह ऐसी पहली सरकार है, जिसमें किसानों के हितों के लिए इतनी योजनाएं क्रियान्वित की है, जबकि दूसरी सरकारों ने केवल और केवल किसानों के नाम पर राजनीति की है। उन्होंने कहा कि यह मामला मुख्यमंत्री मनोहरलाल के संज्ञान में है और उन्होंने इस बाबत अधिकारियों को निर्देश भी दे रखे है। उन्होंने किसानों को विश्वास दिलाया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल से होने वाली उनकी वार्ता पूरी तरह से सफल होगी और उनकी मांगों को पूरा करवा दिया जाएगा। रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल सही मायनों में विकासपुरुष है, प्रदेश की 90 विधानसभाओं में बिना भेदभाव समान विकास कार्य करवाकर भाजपा के सबका साथ सबका विकास के नारे केा सार्थक करने में लगे हुए है। इस मौके पर किसान संघर्ष समिति आईएमटी फरीदाबाद प्रधान रामनिवास नागर, रतन लाल, जीतराम फोरमैन, नत्थीराम शर्मा, किशन सिंह धनखड, जयपाल सूबेदार, हंसराज कपासिया, देवेंद्र ठाकुर, धर्मबीर धनखड, गिर्राज धनखड, डालचंद सूबेदार, जगदीश सैनी, नरेश शर्मा, भगत राम, ब्रहमपाल यादव, लीलू पहलवान, भगत सिंह, राजेंद्र सिंह, जोधाराम, गयासीलाल सहित अनेकों किसान मौजूूद थे। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages