बाबा रामदेव की बदजुबानी पर भड़का भगवान परशुराम का वंशज ब्राह्मण समाज


Brahma Samaj of Lord Parasurama, on the wrath of Baba Ramdev

फरीदाबाद, 22 जनवरी(abtaknews.com) योग गुरू बाबा रामदेव के वायरल विडियो जिसमें उन्होनें ब्राहणों के खिलाफ अपमानजनक भाषा का प्रयोग किया है के विरोध में आज एनएच-5 स्थित बांके बिहारी मङ्क्षदर के बाहर ब्राहण समाज और मंहतों ने जोरदार प्रर्दशन किया। इस मौके पर अखिल भारतीय ब्राहण सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित सुरेन्द्र शर्मा,श्री कैलाश धाम सेवा ट्रस्ट के राष्ट्रीय संगठन मंत्री राकेश कुमार,अद्वभुत धाम ट्रस्ट के संस्थापक मंहत लक्ष्मी नारायण शर्मा,श्री सनातन धर्म सभा मंदिर श्री बांके बिहारी के प्रधान ललित गोस्वामी,मंहत आचार्य संतोष जी महाराज,अद्वभुत सेवा दल के अध्यक्ष पंडित मोहित शास्त्री,श्री नारायण ज्योतिष अनुसंधान केन्द्र के संस्थापक आचार्य मनीष पांडे,आचार्य विवेक नौटियाल,पंडित अजेय पांडे,पंडित श्रीनेत्र पांडे उपस्थित थे। प्रर्दशन से पूर्व ब्राहण समाज ने एक बैठक मंदिर प्रांगण में की जिसकी अध्यक्षता सुरेन्द्र शर्मा ने की जिसमें सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया है कि योग गुरू बाबा रामदेव यदि मीडिया के सामने माफी नहीं मांगते है तो पूरा ब्राहण समाज उनके खिलाफ बड़ा आंदोलन करेगा और उन्हें कोर्ट में घसीटेगा और उनका बीच बाजार मुहं काला करने से भी पीछे नहीं हटेगा। इस मौके पर अखिल भारतीय ब्राहण सभा के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित सुरेन्द्र शर्मा ने कहा कि बाबा ने ब्राहणों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। उन्होनें कहा कि बाबा ने जिस तरह अपने कथन में ब्राहणों के खिलाफ अभ्रद्व भाषा का प्रयोग किया है उससे पूरे देश के ब्राहणों का दिल छलनी छलनी हो गया है। इस अवसर पर अद्वभुत धाम ट्रस्ट के संस्थापक मंहत लक्ष्मी नारायण शर्मा व आचार्य संतोष जी महाराज ने कहा कि जिन ब्राहण का स्वंय भगवान सत्कार करते है ऐसे ब्राहणों के खिलाफ बाबा रामदेव ने जो निन्दनीय शब्द कहे है उससे पूरा ब्राहण समाज में गहरा आक्रोश है। उन्होनें कहा कि इसके लिए हमे चाहे सडक़ो पर उतरना पड़े,कोर्ट जाना पड़े या राष्ट्रपति के पास जाना पड़े हम कठोर से कठोर निर्णय लेगें। इस मौके पर श्री सनातन धर्म सभा मंदिर श्री बांके बिहारी के प्रधान ललित गोस्वामी ने कहा कि में बाबा रामदेव से जुड़ा रहा में इन्हें अच्छा इंसान मानता था में समझता था कि यह क्षेत्रवाद,भाषावाद से ऊपर उठकर कार्य कर रहे है लेकिन उनके इस वायरल वीडियों ने मेरी आत्मा को झकझोर के रख दिया है। ललित गोस्वामी ने कहा कि लगता है कि बाबा रामदेव ब्राहणों प्रति कोई विष पाले हुए है क्योकि एक डेढ साल पहले भी इन्होनें कहा था कि जिस गांव में वो रहते थे वहां मंदिरों में उन्हें नहीं घुसने देते थे। इससे साफ जाहिर होता है कि बाबा रामदेव समाज में ब्राहणों की छवि को धूमिल करने पर लगे हुए है। 

No comments

Powered by Blogger.