Monday, January 28, 2019

श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय द्वारा तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

For organizing a three day workshop by Shri Vishwakarma Kaushal University
पलवल, 28 जनवरी(abtaknews.com) श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय (एसवीएसयू) हरियाणा सरकार द्वारा स्थापित कौशल आधारित शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए स्थापित भारत का पहला सरकारी कौशल विश्वविद्यालय है, जिसने यूजीसी के अनुसार नवीन एनएसक्यूएफ  संरेखित डिप्लोमा, उन्नत डिप्लोमा, स्नातक डिग्री और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों को लागू करने का बीड़ा उठाया है। 
इस संबंध में विश्वविद्यालय ने एनआईटीटीआर भोपाल के सहयोग से  योग्यता फाइल और एनएसक्यूएफ संरेखण पाठ्यक्रम तैयार करने के लिए तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय कौशल योग्यता फ्रेमवर्क के अनुसार परिणाम आधारित शिक्षण की अवधारणा को विकसित करने में प्रतिभागियों की मदद करना, 
योग्यता फाइल तैयार करने के लिए प्रतिभागियों को योग्यता फाइल के विभिन्न घटकों को समझने के लिए प्रशिक्षित  करना, प्रतिभागियों को एनएसक्यूएफ आउटकम आधारित योग्यता, योग्यता फाइलें और क्यूएफ के अनुमोदन की प्रक्रिया के बारे जागरूक करना, प्रतिभागियों को कम से कम एक फाइल तैयार करने का अवसर प्रदान करना, जिसे एनएसडी को प्रस्तुत किया जाना है, एक ऐसा पाठ्यक्रम तैयार करना जो एनएसक्यूएफ संरेखित हो और दोहरी शिक्षा पद्धति में यूजीसी दिशा-निर्देशों के अनुकूल हो।
कुलपति राज नेहरू ने अपने अंतराष्टï्रीय अनुभव सांझा करते हुए कहा कि दुनिया के अधिकांश देश अपने शिक्षा व कौशल विकास में विभिन्न प्रयोग कर रहे  हैं और समाज और आने वाली जरूरतों  के लिए उनकी प्रासंगिकता के अनुसार इन योग्यताओं को एक-दूसरे के साथ जोडक़र विकसित कर रहे हैं।
भारत सरकार ने भी एक राष्टï्रीय कौशल योग्यता फ्रेमवर्क को अधिसूचित किया, जिसका उद्देश्य देश भर में स्वीकार किए गए परिणामों के आधार पर प्रत्येक स्तर के लिए योग्यता का एक सेट विकसित करना है। ये योग्यताएं राष्टï्रीय कौशल योग्यता समिति (एनएसक्यूसी) की मंजूरी के बाद राष्टï्रीय योग्यता रजिस्टर में दर्ज की जाती हैं। कौशल विश्वविद्यालय ने इस क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण प्रगति की है। इस तरह की पहल के माध्यम से हमारा उद्देश्य देश में कौशल बुनियादी ढांचे के विकास और निर्माण में सहयोग करना है। कार्यशाला के बारे में जानकारी सांझा करते हुए डीन एकेडमिक्स डा. आर. एस. राठौर ने कहा कि एनएसक्यूएफ में योग्यता शामिल करने के लिए प्रक्रिया में एनएसक्यूसी द्वारा मूल्यांकन और अनुमोदन के लिए एनएसडीए द्वारा निर्धारित फॉर्मेट योग्यता फाइल सबमिट की जाती है। उन्होंने कहा कि कार्यशाला ने प्रतिभागियों को क्यूएफ मैपिंग और एनएसक्यूएफ संरेखण से संबंधित सभी मुद्दों पर पर प्रशिक्षण दिया गया। 
तीन दिवसीय कार्यशाला में  प्रतिभागियों को अपने पाठ्यक्रम की एक योग्यता फाइल विकसित करने का अवसर प्रदान किया है। स्किल यूनिवर्सिटी और एनआईटीटीटीआर, भोपाल के विशेषज्ञ प्रोफेसर आर बी शिवागुंडे, प्रोफेसर आर एस रिजवी तथा  प्रोफेसर निशीथ दूबे ने इसे प्रतिभागियों के लिए एक लाइव लर्निंग अनुभव के रूप में प्रस्तुत किया।कार्यक्रम में एनजीएफसीईटी, केंद्रीय विश्वविद्यालय, आईटीआई झज्जर, आईटीआई बहादुरगढ़, कन्या महाविद्यालय खरखौदा, निफ्टेम कुंडली, कम्युनिटी कॉलेज, कन्या महाविद्यालय, एक्सएमएस इंडिया, डिविजनल एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज गुरुग्राम, डिस्ट्रिक्ट एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज नूंह, एचएसडीएम, राजकीय बहुतकनीकी संस्थान सोनीपत, बीपीएस महिला विश्वविद्यालय खानपुरकला सोनीपत, जेसी बोस विश्वविद्यालय, वाईएमसीए फरीदाबाद, आईटीआई फरीदाबाद राजकीय पॉलिटेक्निक झज्जर, जीआईटीआई मौजाबाद गुरूग्राम और एमपीएसएसडीईजीबी आदि संस्थाओं से लगभग 28 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages