Breaking

Monday, December 17, 2018

शहर में तराजू लेकर घूम रहे फरीदाबाद शिक्षा विभाग के अधिकारी,जल्द करा लें वजन---

फरीदाबाद(abtaknews.com दुष्यंत त्यागी) 17 दिसंबर,2018; शिक्षा विभाग तराजू लेकर बच्चों के बेग का वजन तोल रहा है चौकिएं मत ये बात बिल्कुल सही है। पंजाब एंड हरियाणा हाई कोर्ट के आदेश के बाद हरियाणा सरकार प्राइवेट और सरकारी स्कूल के बच्चों पर लादे जा रहे भारी बोझ का वजन कम करने की तैयारी में है। शिक्षा विभाग के अधिकारी स्कूलों में तराजू लेकर घूम रहे हैं और बस्तों का वजन कम करने का काम कर रहे हैं। शिक्षा विभाग के अधिकारियों का दावा है कि अब सरकारी और निजी स्कूल के बच्चे भारी बोझ लाद कर स्कूल नहींं जाएंगे।

फरीदाबाद जिले के सरकारी स्कूल में उप जिला शिक्षा अधिकारी अनीता शर्मा अपने विभाग के अधिकारियों के साथ स्कूल-स्कूल जाकर तराजू से बच्चों के बस्तों का वजन तोल रही है। दरअसल पिछले दिनों हाई कोर्ट ने यह आदेश जारी किया था और आदेश दिए थे नन्हे मुन्ने बच्चे अब बसों में भारी बोझ नहीं लादेंगे। हाई कोर्ट के आदेश के बाद अब हरियाणा सरकार भी अदालत के आदेशों को मानती हुई दिखाई दे रही है। हरियाणा सरकार ने शिक्षा विभाग और जिले के उच्चाधिकारियों को बच्चों के कमर पर भारी बोझ को कम किया जाए। उसी दिशा में शिक्षा विभाग के अधिकारी तराजू लेकर सरकारी और निजी स्कूलों में घूम रहे हैं और वस्तु का वजन तोल रहे हैं। उप जिला शिक्षा अधिकारी अनीता शर्मा की माने तो सरकार ने 10 दिसंबर को जो आदेश जारी किया था उसके अनुसार पहली से दूसरी कक्षा के बच्चों के लिए डेढ़ किलो, तीसरी से पांचवी कक्षा के बच्चों के लिए 2 से 3 किलो, छठी से सातवीं कक्षा के बच्चों के लिए 4 किलो, आठवीं से 9 वीं कक्षा के बच्चों के लिए 4:30 किलो और दसवीं कक्षा के बच्चों के लिए 5 किलो वजन तय किया है। उनकी मानें तो वे तराजू लेकर स्कूलों में घूम रही है और वस्तुओं का वजन तोल कर यह देख रही है कि वजन ज्यादा तो नहीं है। उनकी मानें तो अभी यह अभियान सरकारी स्कूलों से शुरू किया है और जल्द ही यह अभियान प्राइवेट स्कूलों पर भी लागू होगा। इस संबंध में प्राइवेट स्कूल की बैठक ली जाएगी और उन्हें सरकार के इस आदेश से अवगत कराया जाए।

उप जिला शिक्षा अधिकारी अनीता शर्मा ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि सरकारी स्कूल में तो बस्तों के भजन का ध्यान रखा जा रहा है लेकिन शिकायतें जो रहती है वह प्राइवेट स्कूलों की ज्यादा है इसके लिए प्राइवेट स्कूल के संचालकों की बैठक जल्द बुलाई जाएगी और सरकार के इस आदेश की पालना करवाई जाएगी।





No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages