Breaking

Monday, December 10, 2018

स्वास्थ्य विभाग पर 1 लाख रिश्वत लेकर लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड करने का आरोप


फरीदाबाद(abtaknews.com दुष्यंत त्यागी) 10 दिसंबर ; स्वास्थ्य विभाग टीम पर रिश्वत लेने का बडा मामला सामने आया है। मामला दिवाली से पहले त्योहारों के सीजन का है जब स्वास्थ्य विभाग द्वारा मिलावट खोरों के खिलाफ खादय सामग्री व मिठाइयों के सैम्पल भरने की बड़ी कार्यवाही की गई थी। मगर स्वास्थ्य विभाग ने कार्यवाही करने की जगह लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड करने के लिये 1 लाख रूपये रिश्वत लेकर फिर से रसगुल्ले के गोदाम को अनुमति दे दी है, ये जानकारी खुद गोदाम मालिक महेश ने दी है, उसने 1 लाख रूपये स्वास्थ्य टीम को दिये हैं और फिर से रसगुल्ले का गोदाम शुरू कर दिया है।

फरीदाबाद में स्वास्थ्य विभाग की टीम किस कदर लोगों के स्वास्थ्य से चंद रूपयों की खातिर खिलवाड कर रहे हैं आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते। दरअसल मामला दीवाली से पहले शहर में की गई मिठाईयों और खादय सामिग्री के गोदामों पर छापेमारी के दौरान का है, जब एन आई टी फरीदाबाद की पर्वतीय कॉलोनी के एक रसगुल्ले बनाने वाले गोदाम पर स्वास्थ्य विभाग ने छापेमारी की थी, जहां उन रसगुल्लो में मच्छर ,मक्खी व कीड़े पाए गए थे जोकि इंसानो के खाने की तो बात दूर जानवरो के खाने लायक भी नहीं थे और ये भी पता चला की ये सभी गोदाम बिना लाइसेंस के चल रहे थे। जिस के चलते मामला पुलिस चैकी तक भी पहुंच गया था। डॉक्टरों ने कहा था कि ये काम बिना लाइसेंस चल रहा है जो की गैर कानूनी है इसे तुरंत बंद कराया जायेगा और जैसे ही इन सेम्पलों की रिपोर्ट आएगी तो इनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही की जाएगी। इस छापेमारी में डाक्टर संजीव भगत, बल्लभगढ सिविल अस्पताल के एसएमओ डाक्टर मानसिंह सहित कई डाक्टरों की टीम मौजूद थी।

मगर हैरानी की बात तो ये हैं कि दिवाली को गुजरे महीना हो गया परन्तु ना तो गोदाम बंद हुए ना ही उनके ऊपर कोई कानूनी कार्यवाही हुई। हद तो उस वक्त हो गई जब अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम द्वारा फिर से रसगुल्ले के गोदाम पर रियलिटी चैक किया गया तो चौंकाने वाला मामला सामने आया। खुद गोदाम मालिक ने सीना चैडा करते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग की वह कार्यवाही तो सिर्फ पैसे लेने के लिये थी, उन्होंने डाक्टरों को 1 लाख रूपये रिश्वत दी और गोदाम को फिर से खोल लिया। अब न तो सैंपलो की रिपोर्ट आयेगी और न ही डाक्टर। स्वास्थ्य विभाग टीम में डॉक्टर संजीव भगत से बात की तो डॉक्टर साहब ने स्वास्थ्य विभाग की टीम पर लगे आरोपों को खारिज कर दिया।  


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages