Monday, November 26, 2018

टोल टैक्स का गोरख धंधा करने वाले जेल की हवा खा सकते हैं एक्शन में है फरीदाबाद पुलिस



फरीदाबाद(abtaknews.com) 25 नवंबर,2018: पाली गांव के आगे पाखल टोल टैक्स पर अवैध वसूली की शिकायत शहर के जाने माने वकील एल एन पाराशर ने धौज थाने में की जिसके बाद स्थानीय पुलिस टोल टैक्स पर पहुँची और दो टोल कर्मियों को थाने ले गई। मालुम को कि बार एसोशिएशन के पूर्व अध्यक्ष एल एन पाराशर जो न्यायिक सुधार संघर्ष समिति नाम की एक संस्था के अध्यक्ष हैं और शहर में समाजसेवाओं को अंजाम देते हैं। रविवार वकील पाराशर समाजसेवा के काम से धौज जा रहे थे। टोल टैक्स पर उन्होंने आने जाने की पर्ची कटवाई। 40 रूपये लिया गया और 37 रूपये की पर्ची दी गई जिसे देख वकील पाराशर थाने पहुँच गए और उन्होंने थाने में लिखित शिकायत दी कि मैं फरीदाबाद कोर्ट में प्रैक्टिस करता हूँ और मेरे साथ टोल टैक्स पर अभी कुछ लोगों ने अवैध वसूली की।
 वकील पाराशर ने बताया कि इस रोड से लाखों लोग आते जाते हैं और अगर हर किसी से तीन रूपया ज्यादा लिया जाता है तो हर रोज यहाँ लाखों की अवैध वसूली की जाती है। थाने में शिकायत और वो पर्ची देने के बाद पाराशर फिर टोल टैक्स पर पहुंचे और उन्होंने बताया कि मैंने अभी आधे घंटे पहले दोनों तरफ के टोल टैक्स की पर्ची ली है और वो थाने में जमा करवा दिया हूँ लेकिन टोल टैक्स वाले ने जबरन फिर 25 रूपये की पर्ची काट दी जिस पर्ची को लेकर पाराशर फिर थाने पहुँच गए जिसके बाद मौके पर पुलिस पहुँची और दो टोल कर्मियों को थाने ले गई।
वकील पाराशर ने फिर एक और शिकायत दी जिसमे उन्होंने लिखा कि ये टोल टैक्स रिलायंस का है और रिलायंस के मालिक पर भी एफआईआर दर्ज की जाए क्यू कि यहाँ बड़ी वसूली जबरन की जाती है। वकील पाराशर ने कहा कि टोल टैक्स पर नकाबपोश गुंडे खड़े रहते हैं और ये गुंडे वसूली करवाते हैं। सके बाद हम धौज गांव पहुंचे तो गांव वालों ने भी टोल टैक्स वालों पर वसूली का आरोप लगाया और कहा कि गरीब ऑटो वालों ने एक हजार महीने वसूले जाते हैं।
 दोपहर बाद थाना धौज के प्रभारी ने पाराशर को थाने बुलाया। पाराशर के थाने पहुँचने के बाद कई टोल कर्मियों और उनके कुछ अधिकारियों ने माफी मांग पीछा छुड़ाना चाहा लेकिन पाराशर एफआईआर पर अड़े रहे और वापस आ गए। देर शाम कई टोलकर्मी और उनके अधिकारी फरीदाबाद कोर्ट पहुंचे और वकील पाराशर से फिर माफी मांगने का प्रयास किया लेकिन वकील पाराशर ने उन्हें माफी नहीं दी और कहा ये फरीदाबाद की जनता को कई वर्षों से ठग रहे हैं इसलिए इन्हे जेल भिजवाऊंगा। पाराशर ने कहा कि टोल कर्मियों ने जो धोखाधड़ी की है उससे उन्हें सात साल की जेल हो सकती है और उन पर एफआईआर दर्ज करवाके रहूंगा। उन्होंने कहा कि जब ये मुझ जैसे वकील को ठग सकते हैं तो आम जनता को तो और ठगते होंगे। इस मामले पर  धौज गांव गांव वालों ने भी टोल टैक्स वालों पर वसूली का आरोप लगाया और कहा कि गरीब ऑटो वालों ने एक हजार महीने वसूले जाते हैं। गांव के लोगों का कहना है कि हम जितनी बार टोल टैक्स से आते जाते हैं उतनी बार पर्ची कटवानी पड़ती है जब हम अपने खेतों में आते जाते हैं तब भी हमें टोल देना पड़ता है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: