Monday, November 19, 2018

फरीदाबाद की जसमीत ने जीता मिस ग्लोब वर्ल्ड प्रतियोगिता में बेस्ट नेशनल कॉस्ट्यूम का अवार्ड



फरीदाबाद(abtaknews.com) 19 नवंबर,2018 ; हरियाणा प्रदेश के फरीदाबाद शहर की जसमीत कौर ने हाल ही में अल्बानिया में आयोजित मिस ग्लोब वर्ल्ड प्रतियोगिता में 55 देशो की चुनी हुई प्रतिभागियों को पिछड़ते हुए बेस्ट नेशनल कॉस्ट्यूम का अवार्ड जीतकर प्रदेश ही नहीं देश का नाम भी रौशन किया है. सिख परिवार की मिडल फमिली से बिलोंग करने वाली जसमीत ने भारत की तरफ से इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेते हुए अपनी प्रतिभा का लोहा मानवाया है. जसमीत ने भारत के राष्ट्रीय पक्षी मोर से प्रेरित होते हुए पीकॉक ड्रेस को चुना और इसी ड्रेस की वजह से ही वह बेस्ट नेशनल कॉस्ट्यूम का अवार्ड जीतने में सफल रही. अब जसमीत फेमिना मिस इंडिया और मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में भाग लेने की सोच रही है। 
जसमीत कौर अनेजा ने अबतक न्यूज़ टीम को बताया की हाल ही में उसने मिस ग्लोब का अवार्ड जीता है जो की उनके और उनकी टीम के द्वारा डिजाइन की गयी ख़ास मयूर ड्रेस की वजह से उन्हें नवाजा गया है. जसमेंट ने बताया की मॉडलिंग और फैशनवर्ल्ड में आने की सबसे बड़ी इंस्पिरेशन एक्ट्रेस प्रियंका चौपड़ा थी. जिनके पदचिन्हो पर चलकर जहाँ भारत में कई प्रतियोगिताओ में भाग ले चुकी है वहीँ हाल ही में विदेश में भी इंटरनेशनल ख़िताब जीतकर इंडिया का नाम रौशन किया है. जसमीत ने बताया की उन्होंने यहाँ तक पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत की है जिसमे उनका परिवार खास तौर पर कदम कदम पर मदद करता आया है. जसमीत ने बताया की सिख फेमिली से बिलोंग करने के बावजूद उनके परिवार ने उन्हें शार्ट ड्रेस पहनने से कभी मना नहीं किया और मैंने खुद भी अपने संस्कारो को नहीं भुला लेकिन जब मैं मॉडलिंग करती हु तो मैं एक आर्टिस्ट होने के नाते अपने प्रोफेशन और धर्म दोनों का तालमेल बनाकर चलती है. उसने बताया की वह फिलहाल दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पढ़ाई कर रही है. जसमीत ने बताया की फेमिना मिस इंडिया और मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में भाग लेने का सोचा है वहीँ कैंसर पीड़ितों के लिए अवेर्नेस पर काम करना चाहती हूँ. जसमीत ने बताया की हल ही में अल्बानिया में आयोजित मिस ग्लोब वर्ल्ड प्रतियोगिता में 55 देशो की चुनी हुई प्रतिभागियों ने भाग लिया था जिसमे भारत की तरफ से उसने रिप्रेसेंट किया था और मैंने भारत के राष्ट्रीय पक्षी मोर से प्रेरित होते हुए पीकॉक ड्रेस को चुना और इसकी वजह से ही वह बेस्ट नेशनल कॉस्ट्यूम का अवार्ड जीतने में सफल रही. उसने अपनी सफलता का श्रेय अपने परिजनों को दिया जिन्होंने उसे हर कदम पर सपोर्ट किया। 
विजेता नेशनल कॉस्ट्यूम अवार्ड इन अल्बानिया जसमीत कौर अनेजा के दादा महेंद्र सिंह अनेजा अपनी पोती की कामयाबी पर फूले नहीं समा रहे है. उनका कहना था की आज मैं अपनी पोती की काबलियत और मेहनत की जितनी भी तारीफ करू वह कम है. बचपन से ही जसमीत बहुत एक्टिव और शार्प थी और मैंने हमेशा से ही इसे आगे बढ़ने के लिए सपोर्ट किया है. मैंने सोचा भी नहीं था की जसमीत इतना आगे बढ़ जायेगी यह मेरे लिए एक बहुत बड़ा सरप्राइज है. आज मैं जसमीत की कामयाबी पर बहुत खुश हु जिसे मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकता।  मेरी वाहेगुरु से प्राथना है की वह जसमीत की मेहनत का फल उसे इसी तरह देता रहे। 
मुझे अपनी बेटी पर बहुत गर्व है क्योंकि जसमीत ने साढ़े तीन साल की उम्र से ही स्टेज शो करने शुरू कर दिए थे. वहीँ वह पढ़ाई में भी बहुत शार्प है उसने 12 में साइंस की पढाई में 95 % अंक अर्जित किये थे. मुझे हमेशा उसपर गर्व रहा है. ऐसा कहते हुए जसमीत की मम्मी भावुक भी हो गयी. इस उपलब्धि के बाद जसमीत अपने परिवार और रिश्तेदारों में रोल मोडल बन गयी है. ख़ास बात यह है की इस प्रोफशन में आने के बावजूद जसमीत आज भी अपने गुरुघर को नहीं भूली है वह गुरूद्वारे के अलावा प्रभातफेरियो में भी बढ़चढ़कर हिस्सा लेती है. इस फील्ड में इसका शौक इसे इतना आगे ले जाएगा यह मैंने सोचा नहीं था. हम पांच साल साउदी में रहे थे वहां इसकी टीचर ने इसकी काबलियत देखकर हमे कहा था की इस बच्ची को आप इंडिया में ही पढ़ाओ जहाँ इसके आगे बढ़ने की अपार सम्भावनाये है जिसमे बाद हम वापिस इंडिया आ गए. मुझे पूरी उम्मीद है की जसमीत लाइफ में जो चाहेगी वह उसे ज़रूर मिलेगा।

loading...
SHARE THIS

0 comments: