Saturday, November 17, 2018

इंडोगमा फिल्म फेस्टिवल के तीसरे दिन हिंदी, अंग्रेजी सहित अन्य भाषाओं की फिल्म्स दिखाई गईं,गुब्बारे फिल्म की चर्चा

फरीदाबाद 17 नवंबर(abtaknews.com) तीसरे दिन भी मनोरंजन से भरपूर रहा इंडॉगमा फिल्म फेस्टिवल। स्क्रीनिंग के तीसरे दिन लगभग 18 फिल्में दिखाई गयीं। 17 नवंबर की स्क्रीनिंग में ज्यूरी के तौर पर अमितांश - डायरेक्टर / प्रोड्यूसर, डायरेक्टर जतिंदर शर्मा, केशव भारद्वाज - सिनेमैटोग्राफर मौजूद रहे। स्क्रीनिंग के बीच मे वाईएमसीए यूनिवर्सिटी के जर्नलिज्म की छात्राओं ने 'नारी की व्यथा' नामक नाटक कर दर्शकों को ताली बजाने पर मजबूर कर दिया। नाटक में मुख्य भूमिका ऋचा सोनी ने निभाई वर्णिका गौतम, सुमन, प्रियंका, लविशा ने लेडी पुलिस की भूमिका, सिमरन डॉक्टर ने भूमिका बहुत ही बेहतरीन ढंग से निभाई। 

वहीं स्क्रीनिंग में मौजूद सभी लोगों ने फिल्मों का भरपूर आनंद उठाया और फिल्मों के प्रोड्यूसर,  डायरेक्टर एवं कलाकारों से रूबरू होकर सवाल भी पूछे। फेस्टिवल के आयोजक मुकेश गंभीर ने स्क्रीनिंग में आई हुई प्रीव्यू कमेटी की ज्यूरी का फूलमालाओं से स्वागत किया। आज की स्क्रीनिंग में गुब्बारे नामक शॉर्ट फिल्म सभी को बहुत पसंद आई। इस फ़िल्म में एक बुजुर्ग ने गुब्बारे बेचने वाली बच्ची की व्यथा को देखते हुए उसके सारे गुब्बारे खरीदकर उसके चेहरे पर खुसी लाने का काम किया। ज्योति प्रकाश की आज पांचवी फ़िल्म की फ्रीडम भी लोगों को बहुत पसंद आई इसके साथ साथ ही अद्वैत व मन की सफाई भी ज्यूरी की खास पसंद बनी।

5 दिन तक चलने वाली फेस्टिवल की स्क्रीनिंग में वाईएमसीए के लेक्चरर और छात्रों का विशेष योगदान है। सभी छात्र वॉलिंटियर के रूप में इस फेस्टिवल से जुड़े हुए हैं और उनकी दिन-रात की मेहनत पहले दिन से ही नज़र आने लगी है। अतिथि स्वागत, ज्यूरी का मान-सम्मान, मंच संचालन एवं जलपान तक की सारी व्यवस्था इन्हीं छात्रों ने, डॉ. पूनम सिंघल और प्रो. तरुणा नरूला के मार्गदर्शन में बड़ी ही दक्षता से निभाई। तीसरे दिन की स्क्रीनिंग में फरीदाबाद शहर के कई गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित रहे जिनमें लोक अदालत के सदस्य एसके सचदेवा शामिल थे, रंगमंच के मंझे हुए कलाकार बृजमोहन भारद्वाज, दिव्या विरमानी, एच.एस. राणा - रिटायर्ड कमिश्नर, एम.एल रोहिल्ला, एसके वर्मा खास तौर पर मौजूद रहे। यूनिवर्सिटी के मॉस एवं कम्युनिकेशन स्टूडेंट के नाटक--''नारी की व्यथा'' की दमदार प्रस्तुति ने फिल्म फेस्टिवल की स्क्रीनिंग ने चार चाँद लगा दिए जिसमें ऋचा सोनी द्वारा एक मानसिक रोगी के रूप में किया गया। सभागार में इस नाटक में छात्राओं द्वारा किए गए अभिनय को दर्शकों ने 

ने खूब सराहा।नाटक में मीडिया स्टूडेंट ऋचा सोनी, सिमरन सिंधु, लविशा गोयल, प्रियंका फौजदार, सुमन, वर्णिका ने अपने दमदार अभिनय से नाटक की प्रस्तुति में चार चाँद लगा दिए। उपस्थित ज्यूरी एवं कलाकारों से साक्षात्कार भी किए। फिल्मों की सफल स्क्रीनिंग का संचालन कॉरपोरेट कम्युनिकेशन हेड एकता रमन व सिनेमेहता प्रोडक्शन की कविता वाकची ने बखूबी संभाला और चंदन मेहता ने शहर के सभी कॉलेज एवं छात्रों को मंच से निमंत्रण भी दिया कि वह भारी संख्या में उपस्थित होकर स्क्रीनिंग एवं फेस्टिवल को सफल बनाएं।

loading...
SHARE THIS

0 comments: