Friday, November 2, 2018

अनुसूचित जाति-जनजाति के लोगों पर दर्ज मुकद्दमे वापिस हों : धर्मबीर भडाना

The cases filed against Scheduled Castes and Scheduled Tribes should be reverted: Dharmir Bhadana
फरीदाबाद, 2 नवम्बर(abtaknews.com)आम आदमी पार्टी के बडख़ल विधानसभा अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने 2 अप्रैल को एससी/एसटी एक्ट पर प्रतिबंध के खिलाफ किए गए प्रदर्शन में अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों पर दर्ज किए गए मुकद्दमों को वापिस लेने की मांग की। इसको लेकर शुक्रवार को वो अम्बेडकर आदि आंदोलन के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ पुलिस कमिश्नर से मिले और आंदोलन के दौरान लोगों पर दर्ज किए गए केसों को निरस्त करने की मांग की। जिस पर पुलिस कमिश्नर अमिताभ सिंह ढिल्लो ने कहा कि 2 अप्रैल को आंदोलन के दौरान पूरे हरियाणा में अनेक लोगों पर दंगा भड़काने एवं हिंसा के तहत मुकद्दमे दर्ज किए गए हैं, इन सभी पर जो भी निर्णय सरकार करेगी, उसी के अनुसार पुलिस कार्यवाही करेगी अन्यथा किसी को परेशान नहीं किया जाएगा।
आप नेता धर्मबीर भड़ाना ने कहा कि मुख्यमंत्री ने एससी/एसटी एक्ट के विरोध में 2 अप्रैल को किए गए प्रदर्शनकारियों पर दर्ज मुकद्दमों को लेकर एक आयोग का गठन कर चुके हैं, जिसका चेयरमैन राज्यमंत्री कृष्ण कुमार बेदी को बनाया गया है। उन्होंने इस दौरान दर्ज किए गए सभी मुकद्दमों को वापिस लेने की मांग की और कहा कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लोगों का प्रदर्शन जायज था और केन्द्र सरकार स्वयं उनके हक में एससी/एसटी एक्ट ला चुकी है। इसलिए मुख्यमंत्री को भी चाहिए कि प्रदर्शनकारियों पर दर्ज
मुकद्दमों को वापिस लें। धर्मबीर भड़ाना के नेतृत्व में अम्बेडकर आदि आंदोलन के राकेश चिन्डालिया, दर्शन सोया, सन्तू धागड़ा, जकुमार, सुंदर खांडिया, गुरचरण खांडिया, प्रदीप एवं श्रीपाल मौर्या आदि पुलिस कमिश्नर से मिले और पुलिस द्वारा उनको परेशान न करने की गुहार लगाई।



loading...
SHARE THIS

0 comments: