Thursday, November 1, 2018

दुकान में युवक की पिटाई की लाइव तस्वीरें आई सामने, मंत्री गुर्जर के गुर्गों की गुंडागर्दी



फरीदाबाद (Abtaknews.com) 01 नवंबर,2018 ; शहर में एक बार फिर सरे बाजार गुंडागर्दी की तस्वीरें सामने आई है सेक्टर 29 की हुड्डा मार्केट में एक जनरल स्टोर की दुकान में बैठे अंकित नाम के युवक को 5 युवकों ने दुकान में घुसकर जमकर पीटा । मारपीट की यह तस्वीरें सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई । हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि मारपीट की तस्वीरें होने के बाद भी पुलिस ने अभी तक मामला दर्ज नहीं किया है पीड़ितों का आरोप है कि मारपीट करने वाले युवक केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के गुर्गे बताए जा रहे हैं जिसके कारण पुलिस आम जनता की ना सुनकर मंत्री साहब का हुकुम मान रही है । 

फरीदाबाद सेक्टर 29 हुड्डा मार्केट स्थित राहुल किराना स्टोर है जिसमें 30 अक्टूबर की शाम को 5 युवकों ने घुसकर दुकान पर बैठे अंकित नाम के युवक को जमकर पीटा। सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई मारपीट की है बेखौफ तस्वीरें साफ बयां कर रही है कि इन गुंडों को ना तो पुलिस का डर है और ना ही किसी और का । जो एक के बाद एक करके युवक को जमकर पीट रहे हैं । शहर में बढ़ते गुंडाराज को देखते हुए तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस विधायक ललित नागर पीड़ित युवक का हाल जानने पहुंचे। 
पीड़ित युवक अंकित कौशिक ने बताया कि वह दुकान में बैठा हुआ था तभी धारा सिंह चपराना और उसके साथी दुकान में घुस आए बिना कसूर के मारपीट करना शुरू कर दिया पूछने के बाद भी उन्होंने मारपीट की कोई वजह नहीं बताई। मारपीट के दौरान उन्होंने धमकी भी दी कि वह केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के सगे संबंधी हैं उनका कोई कुछ नहीं कर सकता। इस मारपीट में पीड़ित युवक अंकित को काफी गहरी चोटें आई हैं। 
पीड़ित युवक की मां राजरानी कौशिक,ने बताया कि वह खुद सेक्टर 28 पुलिस चौकी में शिकायत दर्ज करवाने पहुंची थी जहां उसकी शिकायत भी नहीं सुनी गई ऊपर से उन्हें उल्टा धमकाया गया । हालांकि महिला ने पूरी मारपीट की वारदात सीसीटीवी में होने का दावा भी किया और उन्हें वीडियो भी दिखाई उसके बाद भी मंत्री के हुक्मरानों ने महिला की एक भी नहीं सुनी और 24 घंटे बीत जाने के बाद भी मामला दर्ज नहीं किया । पीड़ित महिला ने साफ तौर पर आरोप लगाए हैं कि केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के सगे संबंधियों ने उनके बेटे पर हमला किया है और उन्हीं के राजनीतिक दबाव के चलते पुलिस ने एफ आई आर दर्ज नहीं की है उन्होंने हरियाणा के मुख्यमंत्री से मांग की है कि पूरे मामले का संज्ञान लेकर उन्हें न्याय दिलवाया जाए। 



loading...
SHARE THIS

0 comments: