Sunday, November 18, 2018

सरकारी विभाग के सभी कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने के लिए लाए अध्यादेश सरकार;लांबा

फरीदाबाद, 18 नवम्बर(abtaknews.com)जनता और कर्मचारियों के विरोध के बावजूद प्राईवेट बसों को रोड़वेज के बेड़े में शामिल करने की हठधर्मिता का सरकार को भारी खामियाजा भुगतना पड़ेगा । यह चेतावनी सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लांबा ने ओपन थिएटर, सेक्टर 12 में आयोजित जिला स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए दी। उन्होंने कहा कि जनता के सहयोग एवं समर्थन से रोड़वेज, शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली,जन स्वास्थ्य आदि जनसेवा के विभागों को निजीकरण से बचाने के लिए आन्दोलन तेज किया जाएगा। उन्होंने ऐलान किया कि केन्द्र एवं राज्य सरकार की कर्मचारी, मजदूर व जन विरोधी नीतियों के खिलाफ 8-9 जनवरी,2018 को कर्मचारी व मजदूर हड़ताल करेंगे। जिला प्रधान अशोक कुमार की अध्यक्षता में आयोजित इस सम्मेलन में विभागीय संगठनों के चुने हुए पदाधिकारियों एवं सक्रिय कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। जिला सचिव युद्धवीर सिंह खत्री द्वारा संचालित इस सम्मेलन में सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा की उपाध्यक्ष सबिता मलिक,मकैनिकल वर्करज यूनियन के प्रधान बीरेंद्र सिंह डंगवाल , रोड़वेज यूनियन के उप महासचिव राम आसरे यादव, आल हरियाणा पावर कारपोरेशन वर्कर यूनियन के सीसी सदस्य शब्बीर अहमद व हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के आडीटर मास्टर राज सिंह आदि उपस्थित थे। 
सम्मेलन में पारित किए प्रस्ताव में विधानसभा के मानसून सत्र में दिए वचन को पूरा करते हुए 30 मई,2018 के हाईकोर्ट के निर्णय से प्रभावित कर्मचारियों की नौकरी बचाने और विभिन्न विभागों में कार्यरत सभी प्रकार के कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने के लिए अध्यादेश लाने की मांग सरकार से की गई।सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा की उपाध्यक्ष सबिता मलिक  व मकैनिकल वर्करज यूनियन के प्रधान बीरेंद्र सिंह डंगवाल ने कहा कि सरकार चार साल बीत जाने के बाद भी धोषणा पत्र में किए वादों को लागू करने में विफल रही है। उन्होंने कहा कि पुरानी पेंशन एवं एक्स ग्रेसिया रोजगार स्कीम बहाल करने, अध्यादेश लाकर हाईकोर्ट के निर्णय से प्रभावित कर्मचारियों की नौकरी बचाने और विभिन्न विभागों में कार्यरत सभी प्रकार के कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने, पंजाब के समान वेतनमान व भत्तें देने, हाऊस रैंट में जनवरी,2016 से बढ़ोतरी करने, समान काम, समान वेतन देने,कर्मचारियों व पैशनर्ज एवं उसके आश्रितों को वास्तविक खर्च पर आधारित कैशलेस मेडिकल सुविधा देने आदि मांगों की सरकार लगातार अनदेखी कर रही है। 
हरियाणा रोड़वेज वर्कर यूनियन के उप महासचिव राम आसरे यादव ने कहा कि सरकार पुरी तरह सत्ता के नशे में चूर है। जनवादी तरीके से किए जा रहे निजीकरण के खिलाफ और मांगों के समर्थन में किए जा रहे आंदोलनों को दमनकारी हथकंडे अपना कर विफल करने के प्रयास किए जा रहे हैं। कर्मचारियों को जेलों में बंद किया जा रहा है।एस्मा लगाया जा रहा है। जिसके खिलाफ प्रदेश के कर्मचारियों में सरकार के खिलाफ आक्रोश बढ़ता जा रहा है।  एनएचपीसी यूनियन के नेता शब्बीर अहमद ने कहा कि किसी भी कीमत पर रोड़वेज के बेड़े में प्राईवेट बसों को घूसने नही दिया जाएगा। उन्होंने नगर निगम से निकाले गए कर्मचारियों को वापस न लेने की निंदा की और तुरंत वापस लेने की मांग की। कार्यकर्त्ता सम्मेलन में कर्मचारी नेता धर्मबीर वैष्णव, करतार सिंह,अतर सिंह केशवाल, गांधी सहरावत, सतीश कुमार, जितेंद्र धनखड़,हाजी सहजाद, रविन्द्र नागर, जगदीश हरे, हवा सिंह,धीरज चंदीला आदि उपस्थित थे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: