Breaking

Friday, November 23, 2018

सी एम खट्टर ने एशलोन कॉलेज में भारतीय शिक्षा मंडल के राष्ट्रीय अधिवेशन का किया उद्घाटन


फरीदाबाद(abtaknews.com)23 नवंबर,2018; गांव कबूलपुर में एशलोन कॉलेज में 3 दिन के शिक्षा में गुणात्मक सुधार को लेकर चल रहे राष्ट्रीय अधिवेशन के उद्घाटन अवसर पर पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि समाज में शिक्षा का  विषय आज का नहीं है। शिक्षा में हमेशा गुणों से भरपूर विषय नहीं होंगे तो वह लाभ मिलता। हमारा देश 70 साल  गुलाम रहा और जब आजादी मिली तो सबसे पहले शिक्षा में गुणों की जरूरत थी। संस्थाएं सुधार का काम करती है। इन सामाजिक संस्थाओं में भारतीय शिक्षण संस्थान बदलाव का काम कर रही हैं। व्यक्ति का चरित्र, व्यक्ति में नैतिकता लाना, देश भक्ति और मूल्यों की जागरूकता लाना, यह शिक्षा संस्थान करती है। इसी के लिए यह राष्ट्रीय अधिवेशन यहां किया गया है। आज समाज के प्रबुद्ध नागरिक और शिक्षासंस्थान काम करेंगे तो बदलाव अवश्य आएगा ।
उन्होंने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय गीता जयंती का कार्यक्रम कुरुक्षेत्र में होने जा रहा है। इसको लेकर हर साल प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की जाती है । इस बार लाल किले पर प्रदर्शनी लगाई गई है और इसी अवसर पर वहां एक प्रेसवार्ता रखी गई है।मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि वहीं 3 दिन तक चलने वाले इस राष्ट्रीय अधिवेशन में संघ से जुड़े कई नेता यहां पहुंचेंगे । आज उद्घाटन के अवसर पर संघ सह कार्यवाह भैया जी जोशी मुख्यमंत्री के साथ कार्यक्रम में पहुंचे । इसके अलावा 3 दिन तक अलग अलग दिन अन्य शिक्षाविद मंच से संबोधित देंगे। इस कार्यक्रम में देश भर से करीब 2000 शिक्षक गुणात्मक शिक्षा कैसे हासिल हो इसको लेकर चर्चा करेंगे।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपने संबोधन में कहा कि देश को 70 साल की आजादी के बाद भी शिक्षा में सुधार की जरूरत पड़ रही है उन्होंने शिक्षा में सुधार को लेकर कांग्रेस पर निशाना भी साधा कहा कि आज 70 साल बाद आखिर शिक्षा में सुधार की जरूरत क्यों पड़ी। लेकिन अब आरएसएस और अन्य शिक्षण संस्थाएं इसको लेकर बदलाव के लिए लगी हुई है, अब जल्द इसमें सुधार आने की उम्मीद है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टरने कहा कि सरकार इंफ्रास्ट्रक्चर दे सकती हैं लेकिन आदमी को गलत करने से नहीं रोक सकती इसके लिए संस्कार और गुणात्मक शिक्षा की जरूरत है।


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages