Thursday, November 15, 2018

मोहना गांव पहुंची भजन मंडली ने किया मनोहर सरकार की 4 साल के कार्यों का प्रचार प्रसार

फरीदाबाद,15 नवंबर(abtaknews.com) जिला सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की भजन मंडलिया गांव गांव में जाकर सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों का प्रचार प्रसार कर रही है। यह जानकारी जिला सूचना जनसंपर्क अधिकारी सुरेंद्र कुमार बाजाड़  ने दी। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा आगामी 25 नवंबर तक जनकल्याणकारी नीतियों का विशेष प्रचार प्रसार अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान के तहत  विभाग की भजन पार्टियां तथा अनुबंध आधार पर रखी गई भजन मंडलिया जिला के विभिन्न गांव में जाकर सरकार जनकल्याणकारी नीतियों का प्रचार प्रसार कर रही है। अनुबंध आधार पर रखी गई विजेंद्र भजन मंडली लीडर की पार्टी गांव खेड़ी कला, कावरा कलां, कावरा खुर्द में पहुंचकर सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं तथा नीतियों बारे भजन व गीतों के माध्यम से प्रचार प्रसार किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता गांव खेड़ी कला में स्कूल की प्रिंसिपल सुधा ने की । इस अवसर पर खण्ड प्रचार कार्यकर्ता बिजेन्दर सिंह डागर ने भी विद्यार्थियों को सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन बारे विस्तार पूर्वक जानकारी दी  । इस अवसर पर आंगनवाड़ी वर्कर वृजेश तथा स्कूल स्टाफ के अध्यापक गण तथा गांव के गणमान्य महिलाओं व पुरुषों ने भाग  लिया ।
 भजन पार्टियों ने बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ, स्वच्छता अभियान ,फसल भावांतर भरपाई योजना सहित अनेक योजना और परियोजना बारे विकासात्मक गीत व भजनों के माध्यम से लोगों को सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों से अवगत कराया।।
----------------------------------------------
फरीदाबाद,15 नवंबर।  स्थानीय गांव मोहना में उद्यान विभाग द्वारा भावांतर भरपाई योजना के अंतर्गत एक कैंप का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता जिला उद्यान अधिकारी डॉक्टर अशोक कुमार वर्मा ने की। उन्होंने उपस्थित किसानों को आलू फसल के बारे में भावांतर भरपाई योजना के तहत किसान को  विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा आलू का कम से कम ₹400 प्रति क्विंटल मूल्य निर्धारित किया गया है ।यदि इसे कम कीमत पर आलू की खरीद किसान से होती है । तो वह किसान सब्जी मंडी में से जे फार्म भरवा कर जिला उद्यान अधिकारी के कार्यालय में जमा करवाना करवाना करवाएंगे। जिससे उस किसान को भावांतर भरपाई योजना के तहत ₹400 प्रति क्विंटल की दर से कम बेचे गए भाव की पूर्ति विभाग द्वारा करवाकर वह राशि किसान के खाते में डलवा दी जाएगी। भावांतर भरपाई योजना के तहत जिला में आलू फसल के पंजीकरण फार्म किसानों से भरवाए जा रहे हैं। जिन किसानों ने अपने आलू की फसल का पंजीकरण नहीं करवाया है । वे किसान अपनी फसल का पंजीकरण जिला उद्यान विभाग कार्यालय से संपर्क करके करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि अब तक जिला में 218 एकड़ फसल का पंजीकरण 69 किसानों ने करवा लिया गया है। जिला उद्यान अधिकारी ने बताया कि आगामी 30 नवंबर तक आलू फसल का पंजीकरण किया जाएगा। किसान कैंप में  सुरेश कुमार व अन्य कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को फसलों के रखरखाव तथा अन्य फसल प्रबंधन बारे विस्तारपूर्वक जानकारी दी।
  इस अवसर पर आसपास के कई गांव के प्रगतिशील किसानों तथा गणमान्य व्यक्तियों ने किसान कैंप में भाग लिया। फोटो कैप्शन- जिला उद्यान अधिकारी डॉ अशोक कुमार वर्मा किसानों को भावांतर भरपाई योजना बारे आलू फसल का पंजीकरण करवाने बारे प्रेरित करते हुए।

loading...
SHARE THIS

0 comments: