Breaking

Sunday, October 28, 2018

भाजपा सरकार रोडवेज कर्मचारियों द्वारा की गई सफल हड़ताल से बौखलाई ; सुनील खटाना



फरीदाबाद 28 अक्टूबर 8 2018(abtaknews.com)बिजली कर्मचारी यूनियन के वरिष्ठ कर्मचारी नेता सुनील खटाना ने कर्मचारी हित मे जारी बयान कर सरकार की आलोचना कर बताया कि आज प्रदेश की भाजपा सरकार कर्मचारियों द्वारा की गई सफल हड़ताल से बौखलाई हुई है और आननफानन में हड़ताल के दौरान नौकरी का झांसा देकर युवाओं के साथ बड़ा भारी धोखा किया जा रहा है जो केवल रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल में फूट डालने का एक कदम है । इसलिए आउटसोर्सिंग के तहत जो ठेकेदार सरकार ने नियुक्त किए हैं वह इस सरकार के और मंत्रियों के करिंदे होकर केवल और केवल युवाओं के साथ धोखा करने का काम कर रहे हैं । जिस प्रकार युवाओं को झांसा देकर सरकार इस हड़ताल को तोड़ने का प्रयास कर रही है इससे जाहिर है कि सरकार की नीति कर्मचारी विरोधी है और सरकार रोडवेज को निजी हाथों में देने के लिए पूर्ण रूप से तैयार है। और सरकार ने जिन ठेकेदारों का चयन रोडवेज में युवाओं को भर्ती करने के लिए किया है वह सरकार के चहेते हैं और केवल सरकार के आदेशानुसार युवाओं को मेरिट के आधार पर नौकरी ना दे कर अपने चहेतों को रोडवेज में भर्ती कर रही है इस से साफ पता चलता है कि सरकार की मंशा क्या है। सरकार ना तो रोडवेज के कर्मचारियों के प्रति वफादार हैं और ना ही आम जनता के प्रति वफादार हैं वह केवल इस भर्ती के माध्यम से हरियाणा प्रदेश के युवाओं को ठगने का काम कर रही है जो केवल एक छलावा है। रोडवेज के आला अधिकारियों  और ठेकेदारों के दलाल युवाओं से इस भर्ती की माध्यम से ठगने का काम कर रहे हैं । जो युवाओं के साथ भारी विश्वासघात है। 4 साल पहले भारतीय जनता पार्टी भारी जुमलों की लिस्ट लेकर इस देश में और प्रदेश में सत्ता पर काबिज हुई थी उस समय इस देश और प्रदेश का युवा केवल एक व्यवस्था परिवर्तन के लिए भारतीय जनता पार्टी के साथ खड़ा था। आज उसने अपनी नीतियों से इस देश और प्रदेश के आमजन, व्यापारी, कर्मचारी और युवाओं के साथ भारी विश्वासघात किया है। आज जिस प्रकार हरियाणा में रोडवेज की हड़ताल के दौरान भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने युवाओं को ठेके पर नौकरी का झांसा देने का काम किया है इससे प्रतीत होता है प्रदेश में गुजरात मॉडल का अनुसरण किया गया है जिस गुजरात मॉडल का नाम ले लेकर बीजेपी ने देश के साथ साथ अनेक प्रदेशों में भी सरकार बनाई थी। आज हरियाणा प्रदेश का युवा अपनी धान की आई खड़ी फसल को छोड़ कर ठेकेदारों के दर पर चक्कर काटने को मजबूर है। जिस प्रकार हरियाणा सरकार आज दिहाड़ी पर रोजगार देने के मामले में भी न्याय नहीं कर पा रही है उस सरकार को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए वरना आने वाले चुनाव में हरियाणा प्रदेश की जनता इस भारतीय जनता पार्टी की छलावा और जुमलेबाज सरकार को खदेड़ने का काम करेगी और आने वाले समय में भारतीय जनता पार्टी का नाम लेवा भी इस प्रदेश में कोई नहीं बचेगा । इसीलिये हम सरकार को चेताना चाहते हैं कि वह प्रदेश के कर्मचारियों से टकराने की भूल ना करे व कर्मचारी नेताओं से बात करे और कर्मचारियों के इतिहास से सबक ले पूर्व की भजनलाल सरकार के समय की गई रोडवेज की हड़ताल के इतिहास को भूले नही । 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages