Wednesday, October 24, 2018

हठधर्मिता कर टकराने वाली सरकारें सत्ता के सिंहासन पर दुबारा नही बैठीं : सन्तराम लाम्बा

फरीदाबाद 24 अक्टूबर,2018(abtaknews.com)एचएसईबी वर्कर यूनियन फरीदाबाद के सर्कल सचिव सन्तराम लाम्बा ने बताया कि बिजली कर्मचारियों की रोडवेज कर्मचारी यूनियन की हड़ताल को समर्थित बिजली कर्मियों की हड़ताल के तीसरे दिन भी पूर्णरूप से जारी रही और पिछले कई दिनों से हरियाणा प्रदेश में रोडवेज कर्मचारीयों की हड़ताल को जो कि दिन प्रतिदिन कर्मचारियों के आक्रोश का कुनबा इस सरकार के विरोध में बढ़ता जा रहा है । प्रादेशिक रोडवेज कर्मचारियों की यह हड़ताल इस भाजपा की सरकार को ले बैठेगी । यह बात आबकारी व कराधान टैक्सैशन विभाग के कर्मचारियों सहित रोडवेज डीपो पर संबोधित करते हुए कहीं जिसके चलते अब हड़ताल आठवें दिन में प्रवेश कर गई है । जिसे प्रदेश के कई अन्य कर्मचारी यूनियनों का गर्मजोशी के साथ समर्थन मिलने लगा है इस मौके पर हरियाणा कर्मचारी महासंघ के जिला चेयरमैन सुनील खटाना उपस्तिथ रहे और अपने वक्तव्य में बताया कि देखते हैं आखिर कब तक ये भाजपा सरकार इन रोडवेज की बसों को पुलिस के जवानों से चलवाती है क्या कल को अगर अपनी मांगों के अनुरूप प्रदेश में सफाई कर्मियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल की गई तो क्या सरकार झाड़ू देकर सफाई व्यवस्था दुरुस्त इन पुलिस वालों से कराएगी आज ये कितने शर्म की बात है जिसका काम सुरक्षा देनें का है उसके हाथ मे स्टेयरिंग थमा दिया । इस रोडवेज की हड़ताल में जिसमे के सरकारी क्षेत्र के कर्मचारी व गैर सरकारी क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारी भी शामिल हो हड़ताल में कूद गये हैं एवम सम्पूर्णरूप से हरियाणा कर्मचारी महासंघ, प्रदेश के बिजली विभाग की एचएसईबी वर्कर यूनियन, एनएसयूआई छात्रसंघ, शिक्षा विभाग संघ, नगर निगम संघ व नगर पालिका संघ, आबकारी कराधान विभाग संघ आदि प्रदेश के अनेकों ऐसे सैंकड़ों कर्मचारी संघ सहित कर्मचारी यूनियन संगठनों का समर्थन कर्मचारियों के प्रति प्रदेश सरकार के इस तानाशाह अड़ियल रविये को देख हठधर्मिता के चलते आम जनता का भी समर्थन मिलता जा रहा है जिससे 16 अक्तूबर यानी आठ दिन पहले शुरू हुई रोडवेज कर्मचारियों की यह हड़ताल अब जनक्रांति का एक बड़ा रूप अख्तियार कर रही है जिसे अब आम जनता ने भी अपने हाथों में ले लिया है जिससे यह हड़ताल अब विरोधाभास की चिंगारी से रोषव्यापित रूप लेने लगी है । एक्साइज टेक्सैशन विभाग के प्रधान बजरंगलाल जांगड़ा व सचिव दयानन्द पांचाल ने सरकार का विरोध करते हुए बोले आज भाजपा सरकार के मंत्री व उच्च अधिकारी प्रदेश के मुख्यमंत्री को कर्मचारियों के आंदोलन और भारी आक्रोश की हकीकत को ना दिखाकर व मुनाफे के इस विभाग को ठेकाप्रथा कर निजी हाथों में सौंप कर इसे बर्बाद कर देना चाहते हैं जिसमे लिप्त इन मंत्रियों के खुद का लालच 101% छुपे होने की मंशा साफ नजर आ रही है व जो अपनी प्राइवेट बसों को रोडवेज विभाग में शामिल करवाना चाह कर कर्मचारियों से टकराव की स्तिथि बनवाकर सरकार के लिये चुनावी समय से पहले भाजपा के लिये गड्ढे खोदने का काम कर रहे हैं । मंच पर बल्लभगढ़ प्रधान कर्मवीर यादव बोले निजी बसों के आने से परिणामस्वरूप उससे सीधे सीधे जनता भी प्रभावित होगी जो सवारियों से औनेपौने दाम वसूलकर जनता को लूटेंगे लेकिन अब इस बात को हरियाणा की पढ़ी लिखी जनता समझ चुकी है । उहोने भी इसे शोषण बताते हुए कहा सरकार के इस एकतरफा फैसले से प्रदेश में बेरोजगारी बढ़ेगी । अगर रोजगार देने ही हैं तो सरकार नई भर्तियाँ करे ताकि युवाओं को नौकरियां मिले आज भाजपा सरकार बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देते नही थकती प्राइवेट बसों के शामिल होने से इसका सीधा नकरात्मक असर व दुषप्रभाव मातायें, बहने, बेटियों व लड़कियों की सुरक्षा पर भी पड़ेगा इन्ही बातों को अब जनता जान गई है और वह भी रोडवेज कर्मचारियों की इस हड़ताल के समर्थन में उतर चुकी है । जनता परेशान हो रही है हर तरफ त्राहि त्राहि मची हुई है लेकिन सरकार व इसके उच्चाधिकारी कर्मचारियों से बात कर समस्या को सुझाने की बजाय लाखों कर्मचारियों को उकसाने का, प्रताड़ना देने का निन्दनीय काम कर रही है । बिजली कर्मचारी प्रधान लेखराज चौधरी ने कहा प्रदेश की जनता व कर्मचारी कितना हताश है यह बात आज हरेक की जुबान पर हैं आगामी समय चुनावी दौर का है जिसमे लोकसभा, विभानसभा के चुनाव नजदीक है इसका संभवतः पूरा असर भाजपा सरकार पर पड़ेगा क्योंकि कर्मचारी और उसका परिवार भी तो देश के वोटर है । इस हरियाण प्रदेश में जब जब कर्मचारियों से किसी भी सरकार ने अपने अड़ियल स्वभाव  के चलते टकराने की कोशिश की उस सरकार को दुबारा सत्ता का सिंहासन नसीब नही हुआ मौजूदा सरकार पूर्व के इतिहास को देख ले । इस अवसर पर मैडम मूर्ति कटारिया, सुमन, सरिता, आभा देवी, महेंद्र सिंह, भरतसिंह नेगी, ओमप्रकाश, राजेश तेजपाल, मदनगोपाल, दिनेश, राजबीर, शेरसिंह, देवेन्द्र, विनोद शर्मा, असगर खान, बृजलाल, रामसरन, योगेश, तारिक हुसैन सहित भारी संख्या में महिला कर्मियों संग कर्मचारीयों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर अपनी भड़ास निकाली ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: