Breaking

Thursday, October 18, 2018

रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल के चलते बस स्टैंड कराया खाली, पुलिस लाइन में पहुंची बसें



haryana roadway employees strike in faridabad
फरीदाबाद (abtaknews.com)पिछले 2 दिनों से बल्लभगढ़ में चल रही हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल और सरकार के बीच की लड़ाई का खामियाजा आम यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है बल्लबगढ़ बस स्टैंड के जीएम ने रोडवेज कर्मचारियों के आक्रोश को देखते हुए सभी बसों को सेक्टर 30 पुलिस लाइन में खड़ा कर दिया है जिसके चलते हैं बल्लभगढ़ बस स्टैंड पर पहुंचने वाले हैं यात्री अपने गंतव्य तक नहीं पहुंच पा रहे हैं कर्मचारियों ने चेतावनी दी है कि जब तक गिरफ्तार किए गए उनके कर्मचारी रिहा नहीं किया जाते और बाकी की सभी मांगें नहीं मानी जाती तब तक सरकार को उनका आक्रोश झेलना पड़ेगा। 
haryana roadway employees strike in faridabad


फरीदाबाद सेक्टर 30 जिला पुलिस लाइन में भारी पुलिस बल की सुरक्षा में हरियाणा रोडवेज बसों को खडा किया गया है। क्योंकि हरियाणा रोडवेज कर्मचारी और सरकार के बीच जंग छिड़ी हुई है और जिसका खामियाजा दूरदराज जाने वाले सैकड़ों आम यात्रियों को उठाना पड़ रहा है बता दें कि हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों ने 48 घंटे की हड़ताल की थी इस दौरान बल्लभगढ़ बस स्टैंड के जीएम के तानाशाही रवैया के चलते कर्मचारी नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया इससे गुस्साए अन्य विभागों के कर्मचारियों ने बल्लभगढ़ बस स्टैंड पर धरना प्रदर्शन दिया हुआ सभी विभागों के कर्मचारियों की नाराजगी को देखते हुए जीएम ने बल्लभगढ़ बस स्टैंड को खाली करवाकर सभी हरियाणा रोडवेज बसों को फरीदाबाद सेक्टर 30 पुलिस लाइन में भारी पुलिस बल की सुरक्षा में खड़ा कर दिया है।
बल्लभगढ़ बस स्टैंड पर पहुंचने वाले यात्रियों की मानें तो उन्हें अपने अपने गंतव्य तक जाना है मगर रोडवेज कर्मचारी और सरकार की लड़ाई के चलते बसें बंद हो रखी है जिससे वह नहीं जा पा रहे हैं।हरियाणा रोडवेज के कंडक्टर ने बताया कि उन्हें पुलिस लाइन में बैठने के लिए बस स्टैंड जीएम ने आदेश दिए हैं।
क्यों है ये सारा हंगामा --- किमी स्कीम के तहत 720 प्राईवेट बसों को किराए पर रोड़वेज के बेड़े में शामिल करने के खिलाफ 16 अक्टूबर से चल रही रोड़वेज कर्मचारियों की हड़ताल तीसरे दिन भी जारी रही। रोड़वेज डिपो से एक भी बस चलाने में प्रशासन विफल रहा। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के बेनर तले बृहस्पतिवार को नगर निगम, बिजली,जन स्वास्थ्य, सिंचाई, हुड्डा,स्वास्थ्य,बी एंड आर, शिक्षा,वन, टूरिज्म आदि कई विभागों के कर्मचारियों ने सरकार द्वारा रोड़वेज के हड़ताली अनुबंध कर्मियों को बर्खास्त करने, हड़ताली एवं अन्य विभागों के कर्मचारियों को गिरफ्तार करने,झुठे मुकदमे दर्ज कर निलम्बित करने के खिलाफ शहर में प्रर्दशन किया। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लांबा, जिला प्रधान अशोक कुमार, सचिव युद्धवीर सिंह खत्री, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गुरचरण,नपाकसं के सचिव सुनील चिंडालिया, नगर निगम सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलबीर सिंह बालगुहेर व सचिव सोमपाल झंझोटियां आदि नेताओं के नेतृत्व में किए गए प्रर्दशन के बाद इन कर्मचारियों ने बस स्टैंड के सामने डेरा डाल कर धरना दिया। रोडवेज के प्रधान जय सिंह गिल ने महाप्रबंधक के 80 बसों के चलने के दावे को जनता एवं सरकार को गुमराह करने वाला बताया। उन्होंने दावा किया कि करीब एक दर्जन बसों के अलावा तीसरे दिन भी सभी 200 बसों का चक्का जाम रहा है।
सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लांबा ने कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए दमन एवं उत्पीड़न के बावजूद सफल हड़ताल के लिए रोड़वेज के कर्मचारियों को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि एस्मा, गिरफ्तारी एवं बल प्रयोग के बावजूद सभी डिपो में कर्मचारी हड़ताल पर डटे रहे। उन्होंने कहा कि वास्तव में रोडवेज के कर्मचारी जनता की लड़ाई लड़ रहे हैं, किन्तु सरकार निजी ट्रांसपोर्टरज को लाभ पहुंचाने के लिए प्राइवेट बसें चलाने पर अड़ी हुई है। उन्होंने कहा कि सरकारी बसों से न केवल आम यात्रियों को सस्ती, सुरक्षित और समयबद्ध परिवहन सेवा मिलती है, बल्कि  इसके चलते लाखों छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा प्राप्त करना संभव हुआ है, विकलांग व्यक्ति, कैंसर पीड़ित, स्वाधीनता सेनानी, पुलिस कर्मचारी, वरिष्ठ नागरिकों को सस्ती अथवा नि:शुल्क बस सेवा उपलब्ध हुई है। परिवहन सेवाओं ने गांवों को कस्बों-शहरों से जोड़कर कारोबार को बढ़ाकर प्रदेश के विकास में योगदान दिया है। सरकार 1 लाख आबादी पर 60 बसे चलाने के अपने ही पैमाने को लागू करें तो 14000 बसें चाहिए। इससे 70 हजार युवाओं को रोजगार मिल सकता है। उन्होंने सरकार से  हड़ताली कर्मचारियों से बात  करके निजीकरण का फैसला वापस लेने और सभी प्रकार की उत्पीड़न एवं दमन की कार्यवाहियों को वापस लेने की मांग की।
बस स्टैंड पर आयोजित हड़ताली कर्मचारियों के धरने को सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा व विभागीय संगठनों के नेता धर्मबीर वैष्णव,राजबैल देसवाल, सोमपाल झंझोटियां,श्रीनंद ढकोलियां, रमेश चंद्र तेवतिया, परमाल सिंह,डिगम्बर डागर,बल्लू,प्रेम पाल,प्रकाश प्रचारी, बिरेंद्र शर्मा, हेमलता,सुधा के अलावा सीटू के जिला प्रधान निरंतर पराशर व सचिव लाल बाबू शर्मा आदि ने संबोधित किया।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages