Breaking

Tuesday, October 16, 2018

कृष्ण कांगड़ा बीजेपी छोड़ आम आदमी पार्टी में हुए शामिल


फरीदाबाद(abtaknews.com) आम आदमी पार्टी के फरीदाबाद प्रभारी एवं दिल्ली के लोकप्रिय विधायक सहीराम पहलवान एवं बडख़ल विधानसभा अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी के जुझारू कार्यकर्ता रहे आदर्श कॉलोनी निवासी कृष्ण कुमार कांगड़ा ने अपने सैंकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ ''आप'' पार्टी ज्वाइन की। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार हर मोर्चे पर फेल हो चुकी है। सरकार में अफसरों की तानाशाही है और हर तरफ भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार है। उनहोंने भाजपा इसलिए ज्वाइन की थी, कि प्रधानमंत्री
मोदी की नीतियों को लागू किया जाएगा और हरियाणा में भी मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार पर जीरो टोलरेंस का दावा किया था। मगर कमजोर मुख्यमंत्री के चलते सभी नीतियां फेल हो चुकी हैं और भाजपा कार्यकर्ताओं की पूर्णत: अनदेखी हो रही है। उन्होंने कहा जिस प्रकार से अरविंद केजरीवाल दिल्ली में कार्य कर रहे हैं, वो उनकी नीतियों एवं कार्यशैली से बेहद प्रभावित हैं और अपना पूरा ध्यान पार्टी के प्रचार-प्रसार में लगाएंगे। इस मौके पर आप नेता सहीराम पहलवान एवं धर्मबीर भड़ाना ने कहा कि हरियाणा में आप की सरकार आने पर सभी को दिल्ली की तर्ज पर पानी माफ एवं बिजली हाफ रेट में दी जाएगी। केजरीवाल सरकार ने दिल्ली को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए पूरी तरह से प्रयास किए हैं और काफी हद तक इसमें सफलता भी पाई है। 
जबकि हरियाणा में खट्टर सरकार पूरी तरह से फेल हो चुकी है। चाहे भ्रष्टाचार का मुद्दा हो या विकास का भाजपा सरकार पूरी तरह फेल हो चुकी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश अध्यक्ष नवीन जयहिंद के नेतृत्व में चलाया जा रहे आम आदमी पार्टी के हरियाणा जोड़ो अभियान के तहत अधिक से अधिक लोगों को पार्टी से जोड़ा जा रहा है और पार्टी में शामिल होने वाले कार्यकर्ताओं को पूरा मान-सम्मान मिलेगा। उन्होंने कहा कि केवल 'आप'' पार्टी ही आम आदमी व गरीबों की सुनती है, भाजपा में पैसे का बोलबाला है। गरीब एवं  जु झारू कार्यकर्ताओं को कोई तवज्जो नहीं दी जाती। इस मौके पर आदर्श कॉलोनी निवासी प्रमोद, फूल कुमार, पप्पू चौटाला, राजेन्द्र फेटमार, चन्दर, सुनील कन्डेरा, सोना, रामभज प्रधान, इन्द्रपाल, बिशन, राजेन्द्र प्रधान एवं तेजपाल आदि ने आप पार्टी का दामन थामा।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages