Breaking

Sunday, October 28, 2018

प्राचीन शिव मंदिर ओल्ड फरीदाबाद परिसर में भागवत कथा के अवसर पर निकाली शोभायात्रा


फरीदाबाद, 28 अक्तूबर(abtaknews.com) : कथा, प्रवचन और सत्संग में हिस्सा लेने से मन मस्तिष्क में सकारात्मक विचारों का समावेश होता है हमें ऐसे समारोहों में भाग लेकर अध्यात्मक ज्ञान अर्जन करना चाहिए। यह बात बराही पाडा ओल्ड फरीदाबाद स्थित प्राचीन शिव मंदिर परिसर में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा से पूर्व निकाली गई कलश शोभायात्रा में शामिल श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए डा. राम गोपाल गुप्ता ने कही। उन्होंने कहा कि वैदिक अनुष्ठान हमें हमारी संस्कृति को आगे बढ़ाते हैं ऐसे आयोजन प्रेम, सहयोग व सदभाव को बढ़ाते है। वहीं मनुष्य जीवन को सार्थक मनाते है। डा. गुप्ता ने कहा कि भारतीय संस्कृति की परंपरा रही है कि वह हमें आपसी भाईचारे को बढ़ाने की सीख देती है। आर.डब्ल्यू.ए. सैक्टर-16ए के प्रधान एवं समाजसेवी संत गोपाल गुप्ता ने कहा कि श्रीमद् भागवत की कथा सुनने से हमारा यह जन्म तो सिद्ध होता ही है अगला जीवन भी सुधरता है, क्योंकि श्रीमद् भागवत कथा से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है, इसलिए हमें धार्मिक अनुष्ठानों में उपस्थिति दर्ज कराने के साथ-साथ उन बातों का भी अनुसरण करना चाहिए जो हमारे धार्मिक ग्रंथों में लिखा है तभी हमारा धार्मिक अनुष्ठान पूरा होगा। गोपाल गार्डन के डायरेक्टर अरूण गोपाल गुप्ता ने कहा कि धर्म हमें मानवता की सेवा करने की प्रेरणा देते हैं। जीवन में यदि दु:खी, असहाय और मजबूर व्यक्ति की सहायता कर सके तो परमात्मा भी प्रसन्न होते हैं। दूसरों की मदद के लिए आगे आना ही सबसे बड़ी सेवा है। मंदिर प्रबंधक अंगद शर्मा ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि हमारा मु य उद्देश्य लोगों विशेषकर युवाओं को धर्म के प्रति जागरूक करना है ताकि वे अपनी पुरानी संस्कृति को समझे और उसका अनुसरण कर अपने से बड़ों का आदर स मान करे। इससे पूर्व एक विशाल कलश यात्रा शहर के मु य-मु य बाजारों से गुजरी जहां दुकानदारों ने पुष्प वर्षा कर शोभा यात्रा का स्वागत किया। कार्यक्रम में एडवोकेट हिमांशु दत्त पाराशर, कल्लू आढ़ती, मन्नु वधावन, प्रताप ङ्क्षसगला, चंदर शर्मा, अमित शर्मा, पं. रमेश शर्मा, पं. मुरारीलाल शर्मा, उमेश गुप्ता, अजय गौतम , दिलिप शर्मा सहित शहर के अनेक लोग उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages