Saturday, October 20, 2018

हरियाणा के अधिकारी भाजपा नेताओं की मिलीभगत से प्रदेश को लूट रहे हैं,जनता सिखाएगी सबक ; करण दलाल

फरीदाबाद(abtaknews.com) 20 अक्टूबर,2018 ; पलवल से कांग्रेस के विधायक करण दलाल ने अपने पोल खोल अभियान के तहत आज फरीदाबाद जिले में सेक्टर सोलह स्थित सर्किट  हाऊस में पत्रकार वार्ता का आयोजन किया। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि विधानसभा से चुने हुए नुमाइंदे को गरीबों की आवाज उठाने के बदले  भाजपा ने एक साल के लिए निष्कासित किया गया। उन्होंने कहा कि 26 लाख राशन कार्ड हरियाणा प्रदेश में काटे गए जिसमें सर्वाधिक संख्या जिला फरीदाबाद और जिला पलवल की है। भाजपा का प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव नहीं बल्कि आर्थिक प्रबंधक है डॉ अनिल जैन जो हरियाणा में मंत्री बनवाने और चैयरमेन बनवाने के नाम पर वसूली करता हैं। इसके अलावा जमीन का सौदा करवाकर धंधा चला रहे हैं, इनकी जांच करें सरकार।बल्लभगढ़ में कल एक व्यक्ति द्वारा सुसाइड मामले में बीजेपी हरियाणा प्रभारी अनिल जैन का नाम आया पुलिस ने एफआईआर में भी लिखा है जिसका उनहोंने सबूत भी दिया।  
डॉ अनिल जैन के ईशारे पर यमुना रेती का अवैध खनन का काम जोरों पर। खनन विभाग की गैरकानूनी पर्ची छपवाकर बीजेपी नेता अवैध खनन का गौरख धंधा चला रहा है। विधायक करण दलाल ने दावा किया है कि सरकार में हिम्मत है तो मेरे आरोप को गलत करार देकर दिखाए। बीजेपी नेताओं की ईमानदारी रेती के बड़े बड़े ट्रैक्टर के रूप में दिखती है। उन्होंने आरोप लगाए है कि पुलिस भी बिकी हुई है। उन्होंने सवाल उठाया कि जो पुलिस कमिश्रर ईमानदारी का ढीढोरा पीटेत है वह पुलिस कमिश्नर क्या अनिल जैन के खिलाफ मामला दर्ज कर पाएंगे। फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर यदि ईमानदार है तो वह दिल्ली से डॉ अनिल जैन को हथकड़ी लगाकर इस मामले में गिरफ्तार करके दिखाए। भाजपा नेताओ ने स्मार्ट सिटी के नाम पर फरीदाबाद का तमाशा बनाया हुआ है, आज तक डवलपमेंट प्लान नही बना पाए है। जितने भी विकास कार्य हुए है सभी काम कांग्रेस के वक्त के है। स्मार्ट सिटी के नाम पर एक ईंट नही लगी, उसका पैसा कहां गया। मुफ्त बिजली तो तभी मिलेगी जब गरीबों का नाम होगा, सभी का नाम राशन कार्डो से  काट दिए गए है। बलात्कार हो रहे हैं, बहन बेटी अपमानित हो रही हैं।  बुजुर्गों की पेंशन के कानून पेचीदा बना दिया। बुजुर्ग पेंशन से कर्ज के पैसे काटे जा रहे है। मुख्यमंत्री की खिडक़ी सी एम विंडो 200- 200 रूपये में बिकती है। किसी भी शिकायत का निपटारा नही हो रहा। ऑनलाइन के नाम पर बीजेपी नेताओं ने धंधा बनाया हुआ है। उन्होनें प्रतिपक्ष नेता अभय चौटाला पर तंज कसते हुए कहा कि इनेलो पार्टी नहीं बल्कि एक गिरोह है। अभय अपने परिवार को बचाने के लिए बीजेपी से अंदर खाने साठगांठ किए हुए है। हरियाणा में सरकार नाम की कोई चीज नहीं है भाजपा जाती-धर्म और क्षेत्रवाद में लोगों को बांट रही है और प्रदेश की जनता के काम धंधे चौपट हो रहे, युवाओ की बेरोजगारी दिनों दिन बढ़ती जा रही है। एक विकसित होते हरियाणा का भाजपा सरकार ने भट्ठा बैठा दिया है आने वाले चुनावों में जनता इन्हे सबक सिखाएगी। दो मंत्रियों को लड़ाई पर विधायक दलाल बोले ये अपनी झूठी शान के लिए लड़ते हैं क्षेत्र की जनता की भलाई के लिए नहीं लड़ते दोनों ढोंगी हैं इन्हें सिर्फ अपनी-अपनी नेतागिरी से मतलब है पार्टी और जनता जाये भाड़ में। 
अनिल जैन की सरपरस्ती में हो रहे अवैध कार्य,इनैलो राजनैतिक पार्टी नहीं बल्कि एक गिरोह  
हरियाणा के वरिष्ठ कांग्रेसी विधायक एवं पूर्व केबिनेट मंत्री करण सिंह दलाल ने भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं हरियाणा प्रभारी डॉ. अनिल जैन पर बडा वार करते हुए उसे भाजपा का फाईनेंस सचिव बताया है। उन्होंने कहा कि जैन पर ही अवैध धन उगाही का ठेका है। जैन की ही सरपरस्ती में फरीदाबाद-पलवल सहित समूचे हरियाणा में अवैध कार्यो में लिप्त लोगों की पौ बारह हो रही है। हाल ही में बल्लभगढ़ में अनिज जैन व उसके कथित भांजे द्वारा एक व्यापारी का उत्पीडन करने के कारण व्यापारी द्वारा आत्महत्या किया जाना इस बात का प्रमाण है। उन्होंने सरकार पर सवाल खडा करते हुए कहा कि उक्त मामले में मुकदमा दर्ज होने के बाद अब फरीदाबाद के पुलिस कमिश्रर व सरकार का इंतिहान है कि क्या वह अनिल जैन को गिरफ्तार करेंगे। विधायक दलाल शनिवार को फरीदाबाद के सैक्अर-16 स्थित सर्किट हाउस में  आयोजित पत्रकार सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उनके साथ पूर्व पार्षद बलराम गुप्ता भी मौजूद थे। 
विधायक दलाल ने कहा कि बल्लभगढ के एक व्यापारी अनिल कुमार को हरियाणा के भाजपा प्रभारी के कथित भांजों द्वारा उनके नाम की धमकी देकर तंग करना शुरू कर दिया था, जिससे परेशान होकर उक्त व्यापारी ने आत्महत्या करली थी। इससे पता चलता है कि पूरे हरियाणा में भाजपा के मंत्री व नेताओं के रिश्तेदार व चहेते किस कद्र लोगों को उनके नाम पर परेशान कर रहें है। उन्होंने उक्त मामले में हरियाणा के प्रभारी की सग्ंलिप्तता की और इस मामले के अलावा और भी कितने मामले हैं जिनमें हरियाणा के मंत्री व नेताओं का नाम लेकर लोगों को तंग किया जा रहा है?, ऐसे सभी मामलों की जांच की मांग की। 
विधायक दलाल ने स्मार्ट सिटी का मुद्दा उठाते हुए कहा कि फरीदाबाद को स्मार्ट सिटी बनाने की तैयारी में जुटी भाजपा सरकार ने पूरे शहर को स्लम सिटी के रूप में तब्दील कर दिया है, राज्य की सबसे पुरानी औद्योगिक नगरी फीदाबाद को भाजपा सरकार स्मार्ट सिटी का ताज पहनाने का सिर्फ नाटक कर रही है, जबकि पूरा फरीदाबाद मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहा है। स्मार्ट सिटी बनाने के नाम का आया हुआ पैसा कहां है? क्योंकि फरीदाबाद की अधिकतर सडकें जर्जर व उबड-खाबड हैं व थोडी सी बारीश होते ही पूरे फरीदाबाद की सडकों पर पानी भरजाना व गंदगी के ढेर लगे रहना आम बात है। राज्य की जीडीपी में 14 फीसदी की हिस्सेदारी निभाने वाले फरीदाबाद के 20 हजार से ज्यादा उद्यमियों ने उक्त हालातों के चलते अपने कारोबार से हाथ खींच लिए हैं और सरकार की गलत नीतियों के चलते व्यापारी कारोबार से अपना हाथ खींच रहे हैं। उन्होंने कहा कि 3 लाख से ज्यादा श्रमिकों वाले शहर में सालाना 3 हजार करोड रूपये का निर्यात होता है। लेकिन भाजपा सरकार आने के बाद इस सरकार ने इसके विकास पर कोई ध्यान नहीं दिया जिससे सबसे पुरानी औद्योगिक नगरी फरीदाबाद के उल्टे दिन शुरू हो गए है। 
उन्होंने कहा कि फरीदाबाद की जर्जर सडकें, बिजली-पानी, साफ-सफाई, सीवरेज लाईन, जल-भराव जैसी मूलभूत सुविधाओं पर भी सरकार का कोई ध्यान नहीं है और आए दिन लगने वाले जाम से भी फरीदाबाद की हालत लगातार बिगडती जा रही है। जिस रफ्तार से ट्रैफिक बढ़ा है, उसके मुकाबले सरकार ने नई सडक़ों का विस्तार भी नहीं किया। रही सही कसर खराब सडकों ने पूरी कर दी है। रोज लगने वाले जाम और मूलभत समस्याओं और सरकार द्वारा रोज-रोज परेशान किए जाने की वजह से निवेश कभी फरीदाबाद से अपने कदम पीछे खींच रहे हैं। ट्रैफिक के लिहाज से जरूरी माने जाने वाला ईईई का फार्मूला यहां दिखाई नहीं देता। रोड-इंजीनियरिंग के अभाव के अलावा ट्रैफिक को लेकर शिक्षा और इंफेर्स में टमें भी फरीदाबाद पिछडा हुआ है।
उन्होंने कहा कि सरकार के द्वारा शहर की प्लानिंग में खामियों की वजह से सभी काम बडी सुस्त गति से चल रहे है। फरीदाबाद मे होने वाले प्रदुषण की वजह से इस औद्योगिक नगरी की साख पर बट्टा लगा है।सरकार की गलत नीतियों की वजह से सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में शामिल इस शहर के आबोहवा सुधरने की जगह बिगडती जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा किसानों द्वारा खेतों में पराली जलाए जाने के कारण होने वाले प्रदूषण का ठीकरा किसानों के ऊपर फोडे जाने को गलत बताया है। उन्होंने प्रदूषण फैलने का सबसे बडा कारण कम्पनियों से निकलने वाला धूंआ, गंदा पानी और वाहनों से निकलने वाले धूंए को बताया।
उन्होंने कहा कि यह सरकार किसान विरोधी सरकार है और सिर्फ किसानों के खिलाफ ही कार्यवाही करना जानती है। 
विधायक दलाल ने ने भाजपा सरकार पर गरीब विरोधी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि विधानसभा में उनके द्वारा सरकार द्वारा 26 लाख गरीब लाभार्थियों के राशन कार्ड काटे जाने के मामले को उठाए जाने पर भाजपा सरकार ने आजतक कोई कार्यवाही न करके उल्टा अपनी बी टीम इनेलो के साथ मिलकर मुझे विधानसभा से निष्काषित करने का षडयंत्र भी रच दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के नेता व मंत्री दिन-प्रतिदिन किसी न किसी घोटाले में सम्मलित रहते है। यमुनारेती की अवैध खनन की नकली रसीद छपवाकर अवैध उगाही करने वालोंके खिलाफ सबूतदेने के बाद भी आजतक कोई कार्यवाही नहीं हुई है।
पराली जलाए जाने का मुद्दा उठाते हुए कहा कि पिछले दिनों एक गांव ने सिर्फ  एक किसान द्वारा पराली जलाए जाने पर सरकार के आदेश पर प्रशासन ने पूरे गांव की बिजली-पानी बन्द कर दी थी। उन्होंने कहा कि सरकार का काम मुनाफा कमाना नहीं होता, जनहित के कार्य करने होते हैैं। रोज-रोजनए-नए टैक्स लगाकर लोगों का इस सरकार ने जीना मुश्किल कर दिया है। हरियाणा मेे रजिस्टरी कराने पर लोगों की जेब पर डाका डालते हुए पैसे बढाना,अन्र्तराष्ट्रिय स्तर पर कच्चे तेल की कीमते कम होने के बाद भी लगातार पेट्रोल व डीजल की कीमतों में वृद्धि, बिजली के बिल कम करने का नाटक करना,पूरे हरियाणा मे कोई घर शायद ही ऐसा होगा जिसमे 50 यूनिट से 200 यूनिट बिजली से कम की खपत होती हो। उन्होंने कहा कि घरों के बाहर बिजली के खम्बों पर नए मीटर लगवाने के नाम पर सरकार ने बडी चालाकी से तेजी से बिजली की यूनिट देने वाले मीटर लगवा दिए हैं और उक्त मीटरों की खरीद में भी करोडों का घपला किया है। बिजली के बिलों के दाम इतने ज्यादा है कि उसको भरने के चक्कर में एक आदमी अपने परिवार का पालन पोषण भी ठीक से नहीं कर सकता है। बेटी बचाओ बेटी पढाओ का नारा देने वाली इस भाजपा सरकार में ही सबसे ज्यादा वारादातें हमारी बेटियों व महीलाओं के साथ हो रहीं है और आए दिन होने वाली घटनाओं से यह साबित हो रहा है कि बेटियां सुरक्षित नहीं है। उन्होंने रोडवेज कर्मचारियों का समर्थन करते हुए कहा कि उनकी कोई भी मांग गलत नहीं है। घाटे के नाम पर सरकार द्वारा रोडवेज महकमें का निजिकरण करना बिल्कुल गलत फैसला है।हरियाणा की भाजपा सरकार ने बुढापा, विधवा व अन्य पेंशनोंकोदेने के लिए इतनी शर्ते लगा दी है कि अब हरियाणा मेंं किसी प्रकार की पेंशन बनवाना आसान कार्य नहीं रहा है औरऊपर से हरियाणा की भाजपा सरकार द्वारा बैकों को यह निर्देश देना कि जिन किसानों ने बैकों से लोन लिया हुआ है उनकी किस्ते उनकी बुढापा पैंशन से काटली जाए, यह भाजपा की ओछी मानसिकता को दर्शाताहै। 




loading...
SHARE THIS

0 comments: