Tuesday, October 23, 2018

रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल के समर्थन में उत्तरे सफाई कर्मचारी, दिया ज्ञापन, किया प्रदर्शन

Responding to the support of the roadway employees strike, the cleaning staff, the memorandum, performed
फरीदाबाद, 23 अक्टूबर(abtaknews.com)हरियाणा सरकार हठधर्मिता व उत्पीडऩ की नीति छोड़ रोडवेज तालमेल कमेटी से बातचीत कर हड़ताल का समाधान करें। अन्यथा प्रदेश के पालिका, परिषदों व निगमों के हजारों कर्मचारी 26 अक्टूबर को सामूहिक अवकाश लेकर रोडवेज हड़ताली कर्मचारियों के समर्थन में सडक़ों पर उतरेगें। यह चेतावनी आज जिला उपायुक्त कार्यालय सैक्टर-12 में सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर की अध्यक्षता में किए गए प्रदर्शन को सम्बोधित करते हुए नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री ने दी।
Responding to the support of the roadway employees strike, the cleaning staff, the memorandum, performed

श्री शास्त्री ने कहा कि प्राईवेट 720 बसों को प्रति किलोमीटर की दर से किराये पर लेने का निर्णय कुछ व्यक्तियों को फायदा पहुुंचाने के लिए है, जबकि प्रदेश की जनता शहर-शहर और गांव-गांव में रोडवेज की बसें चलाने की मांग करती रही है। रोडवेज के निजीकरण के खिलाफ लड़ाई केवल एक विभाग तक सीमित न रहकर सभी बोर्ड, पालिका, परिषदों व निगमों, यूनिर्वसिटी, सरकारी, अर्ध सरकारी विभागों, शिक्षकों, स्वास्थ्य, जनस्वास्थ्य, बिजली आदि विभागों के कर्मचारी 26 अक्टूबर को एक दिवसीय सामूहिक अवकाश लेकर इस आन्दोलन में कूद पड़ेगें।  आज के इस प्रदर्शन में विशेष तौर पर सर्व कर्मचारी संघ, हरियाणा के प्रदेश सचिव सुनील कुमार चिण्डालिया, उपाध्यक्षा बृजवती, कमला, सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान अशोक कुमार, सचिव युद्धवीर खत्री, गुरचरण खाण्डिया, नानकचंद खैरालिया आदि उपस्थित थे।
नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री, राज्य सचिव सुनील कुमार चिण्डालिया ने कहा कि सरकार ने नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के साथ 24 मई, 20 जून व 4 अक्टूबर को बातचीत की और बातचीत में सभी मांगों पर सहमति की और जल्द मांगों का पत्र जारी करने का ठोस आश्वासन दिया, लेकिन सरकार ने अभी तक पत्र जारी नहीं किए है। जिससे प्रदेश की पालिका, परिषदों व निगमों के कर्मचारियों में सरकार के प्रति भारी आक्रोश है। श्री शास्त्री व श्री चिण्डालिया ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर जल्द ही मानी गई मांगों के पत्र जारी नहीं किए तो प्रदेश की पालिकाओं का कर्मचारी एक बार फिर तीखा आन्दोलन करने को मजबूर होगा। आज के प्रदर्शन में सचिव सोमपाल झिझोटिया, रगबीर चौटाला, महेन्द्र कुडिय़ा, दान सिंह, नरेश भगवाना, देशराज डाबर, जितेन्द्र छाबड़ा, माया, कमलेश, शकुन्तला आदि ने भी सम्बोधित किया।


loading...
SHARE THIS

0 comments: