Wednesday, October 17, 2018

जेसी बोस वाईएमसीए यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष बने अनूप वशिष्ठ, उपाध्यक्ष प्रशांत शर्मा, महासचिव जतिन खत्री, संयुक्त सचिव शिवानी कौशल

फरीदाबाद (abtaknews.com) 17 अक्टूबर,2018 ; जेसी बोस वाईएमसीए यूनिवर्सिटी के छात्र संघ चुनाव में अध्यक्ष बने अनूप वशिष्ठ, उपाध्यक्ष प्रशांत शर्मा, महासचिव जतिन खत्री, संयुक्त सचिव शिवानी कौशल।  सभी विजेता अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से थे जिसमें एमए पत्रकारिता प्रथम वर्ष की छात्रा शिवानी कौशल संयुक्त सचिव पद पर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में 2 वोट से जीती।
शिवानी कौशल ने एमए पत्रकारिता प्रथम वर्ष में सी आर का पद एक वोट से जीता जहा उसने एबीवीपी प्रत्याशी ऋचा सोनी को हराया उसके बाद संयुक्त सचिव के पद पर फिर से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में एबीवीपी प्रत्याशी को 2 वोट से हराकर लगातार दोहरी जीत हासिल कर अपने राजनैतिक जीवन की धमाकेदार शुरुआत की हैं। उनको जीत पर ढेर सारी बधाई।
छात्र संघ चुनाव में नव निर्वाचित अध्यक्ष एबीवीपी प्रत्याशी अनूप वशिष्ठ शहर के जानेमाने एडवोकेट एवं भाजपा नेता शिवदत्त वशिष्ठ के सुपुत्र एवं हिंदुस्तान समाचार पत्र के वरिष्ठ पत्रकार दयाराम वशिष्ठ के भांजे हैं। छात्र संघ चुनाव में उपाअध्यक्ष पद पर विजेता रहे एबीवीपी प्रत्याशी प्रशांत पाराशर ओल्ड फरीदाबाद के बाढ़ मोहल्ला निवासी और तेज तर्रार युवा ब्राह्मण नेता के रूप में जाने जाते हैं। नव निर्वाचित महासचिव जतिन खत्री जेसी बोस वाईएमसीए यूनिवर्सिटी के उभरते हुए मॉडल हैं चॉकलेटी चेहरे के साथ सदैव मुस्कराते जतिन पूरी  यूनिवर्सिटी की छात्राओं में चर्चा का विषय  रहते हैं। सभी विजेता प्रतियाशियों की जीत के जश्न में समर्थकों ने देर शाम खुली कार में शहर में विजयी जुलुस निकाला, जुलुस में डीजे की धुन पर डांस करते समर्थको ने विजेता प्रतियाशियों पर नोट उड़ाए। विजेताओं का जगह जगह फूल मालाओं से शहरवासियों ने स्वागत किया।
नेहरू कॉलेज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के उम्मीदवार कंचन डागर अध्यक चुनी गई। खेड़ी गुजरान कॉलेज में सभी पदों पर एबीवीपी प्रत्याशी विजयी रहे । पलवल जिले के चार कॉलेज में से तीन कॉलेज में एबीवीपी प्रत्याशी जीते।राजकीय महाविद्यालय पलवल में चारों सीटों पर भगवा परचम- अध्यक्ष भवानी ठाकुर, उपाध्यक्ष मीनू राजपूत, सचिव श्वेता दीक्षित, सह सचिव ललित ठाकुर। 
 जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए फरीदाबाद में अकादमिक वर्ष 2018-19 की विश्वविद्यालय कार्यकारी विद्यार्थी परिषद् की गठन के लिए आयोजित विद्यार्थी चुनाव आज शांतिपूर्वक संपन्न हो गये।विश्वविद्यालय कार्यकारी विद्यार्थी परिषद् के अध्यक्ष पद पर अनूप वशिष्ठ, बीटेक (ईआईसी) में चतुर्थ वर्ष का विद्यार्थी विजयी रहा। उपाध्यक्ष पद पर एमएससी (कैमिस्ट्री) द्वितीय वर्ष के विद्यार्थी प्रशांत पराशर ने जीत दर्ज की। सचिव पद पर मैकेनिकल इंजीनियरिंग का तृतीय वर्ष का विद्यार्थी जतीन खत्री विजयी रहा तथा छात्रा के लिए आरक्षित संयुक्त सचिव के पद पर जर्नलिज्म व मॉस कम्युनिकेशन में प्रथम वर्ष की छात्रा शिवानी कौशल ने जीत दर्ज की।
इसी प्रकार, कार्यकारी सदस्यों के पद पर फैकल्टी आफ इंजीनियरिंग व टैक्नोलॉजी से बीटेक (मैकेनिकल) में प्रथम वर्ष का विद्यार्थी आकाश राय तथा बीटेक (ईआईसी) तृतीय वर्ष का विद्यार्थी नितिन कुमार बिंदल ने जीत दर्ज की। फैकल्टी आफ ह्युमेनिटीज व साइंसेज से एमएससी (फिजिक्स) का हितेश कुमार यादव विजयी रहा जबकि बीटेक (आईटी) में चतुर्थ वर्ष का विद्यार्थी हरीश राणा तथा मैनेजमेंट स्टडीज विभाग से एमबीए द्वितीय वर्ष का विद्यार्थी मुस्तफा को परिषद् के कार्यकारी सदस्य पद पर निर्विरोध चुन लिया गया।
विश्वविद्यालय कार्यकारी विद्यार्थी परिषद् के लिए कक्षा प्रतिनिधियों की ओर से कुल 28 नामांकन पत्र प्राप्त हुए, जिसमें से 17 नामांकन परिषद् के पदाधिकारियों तथा 11 कार्यकारी सदस्य पद के लिए प्राप्त हुए थे। कुल प्राप्त नामांकन पत्रों में अध्यक्ष पद, उपाध्यक्ष पद के लिए चार, सचिव पद के लिए चार तथा छात्रा के लिए आरक्षित संयुक्त सचिव पद के लिए पांच नामांकन पत्र प्राप्त हुए। इसी प्रकार, कार्यकारी सदस्यों के लिए प्राप्त हुए कुल नामांकन पत्रों में फैकल्टी आफ इंजीनियरिंग व टैक्नोलॉजी में दो सदस्य पदों के लिए पांच नामांकन तथा फैकल्टी आफ ह्युमेनिटीज व साइंसेज में एक सदस्य पद के लिए चार नामांकन प्राप्त हुए जबकि फैकल्टी आफ मैनेजमेंट तथा फैकल्टी आफ इंफोमैटिक एंड कम्प्यूटिंग (एससी उम्मीदवार के लिए आरक्षित) के लिए एक-एक नामांकन पत्र प्राप्त हुआ।
कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने विश्वविद्यालय कार्यकारी विद्यार्थी परिषद् के नव निर्वाचित पदाधिकारियों तथा सदस्यों को जीत पर बधाई दी है तथा आह्वान किया कि सभी नवनिर्वाचित सदस्य विद्यार्थियों के कल्याण तथा विश्वविद्यालय के विकास एवं अकादमिक उन्नति के लिए एकजुट होकर कार्य करें। उन्होंने शांतिपूर्ण, पारदर्शी, स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव संपन्न करवाने पर डीन स्टूडेंट वेलफेयर कार्यालय को भी शुभकामनाएं दी है। उल्लेखनीय है कि हरियाणा में छात्र चुनाव 22 वर्ष के अंतराल के बाद आयोजित किये गये है।
इससे पूर्व, सुबह विभिन्न विभागों में कक्षा प्रतिनिधियों के लिए करवाये गये चुनावों में 67 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। मतदान प्रक्रिया में 1500 से ज्यादा पात्र विद्यार्थियों में से लगभग एक हजार विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया तथा 27 कक्षा प्रतिनिधियों का चयन किया। इसके अलावा, 30 उम्मीदवारों को एकल मान्य नामांकन के आधार पर निर्विरोध चुन लिया गया और 11 कक्षा प्रतिनिधियों को ‘क्लास टॉपर’ के रूप में नामित किया गया। इस प्रकार, विश्वविद्यालय कार्यकारी विद्यार्थी परिषद् के लिए चुनाव प्रक्रिया में 57 कक्षा प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: