Friday, October 19, 2018

आज अन्याय की न्याय पर तथा अधर्म की धर्म पर विजय दिवस जलाया हरियाणा सरकार का पुतला

फरीदाबाद 19अक्टूबर ,2018(abtaknews.com)आज अन्याय की न्याय पर तथा अधर्म की धर्म पर विजय दिवस के दिन हरियाणा परिवहन विभाग फरीदाबाद के बल्लभगढ़ रोडवेज बस डिपो पर हरियाणा कर्मचारी महासंघ व सर्व कर्मचारी संघ से संबंधित जिले के प्रधानों की देखरेख व अध्यक्षता में विभागों की सभी यूनियनों के हजारों कर्मचारियों ने एकत्र होकर जुलूस का रूप अख्तियार किया व प्रदेश के सीएम के शव को कन्धों पर लेकर हाय हाय के नारों के साथ जुलूस की शक्ल में मुर्दाबाद मुर्दाबाद के नारों सहित बल्लभगढ़ की भीड़भाड़ भरी मार्किट से होते हुए शव यात्रा निकाल राम नाम सत्य है, सत्य बोलो गत है कहते हुए व प्रदेश सरकार व रोडवेज के जीएम मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए काफिले को डिपो पर ले जाकर प्रदर्शन किया । जिसमे उन्होंने प्रदेश सरकार के मुखिया का पुतले को अग्नि देकर आज रावण दहन के दिन फूंका । 

कर्मचारी नेताओं ने कहा कि प्रदेश सरकार कर्मचारियों के प्रति अपनी हठधर्मिता छोड़े नही तो इसका खामियाजा कर्मचारी अपनी एकता का परिचय देते हुए सभी विभागों का चक्का जाम कर एक सूत्र में आंदोलन करने को बाध्य होंगे जिसमे अभी रोडवेज वर्कर यूनियन के कर्मचारी साथियों को नगर निगम, बिजली निगम व अन्य यूनियनों का समर्थन मिला है कहीं ऐसा ना हो कि समूचा कर्मचारी वर्कर अपने इन रोडवेज के साथियों की हड़ताल में कूद पड़े जिससे यथा स्तिथि प्रदेश की खराब हो जाये अभी तक जिस प्रकार से सरकार अपने कर्मचारी विरोधी चरित्र में कर्मचारियों को डराने व धमकाने का काम कर रही है इन धमकियों से कर्मचारी डरने वाले नही है । रोडवेज के साथियों को गिरफ्तार कर जेल में डालने से अन्य कर्मचारियों के हौंसले बुलंद हुए हैं सरकार ये ना सोचे कि कर्मचारी आहत हुआ है । बल्कि और मजबूत हुआ है अपने इन आंदोलनों के प्रति । आने वाले दिनों में हम गाँव-गाँव, गली-गली, मोहल्ला-मोहल्ला इस सरकार के सत्य कहे कथन जो कि वायदे प्रदेश के कर्मचारियों से कर इसका पुलंदा आमजन तक पहुंचा कर इसकी पोल खोलने का काम कर जनसमर्थन मांगेंगे और इनके सांसद व मंत्री इस रोडवेज के महकमे को निजीकरण की राह पर लाने का काम अपने स्वार्थ हेतू कर रहे हैं व इसके बेड़े में अपने व्यपार को बढ़ाने के लिए किलोमीटर की ऐसी स्कीम को जो प्रदेश के कर्मचारी विरोधी तो है ही युवाओं के लिए रोजगार विरोधी एवम जनविरोधी भी है । जिसका असर इन मंत्रियों की अपनी निजी बसें चलने के बाद होगा । इस निजीकरण को प्रदेश का कर्मचारी वर्ग बिल्कुल बर्दाश्त नही करेगा । इसीलिये अब भी समय है सरकार कर्मचारी नेताओं को बुलाकर बात करे और कर्मचारियों की इस समस्या के समाधान को सुलझाने का प्रयास करे । क्योंकि सरकार के अफसरान अधिकारी व खुद इनके मंत्री ही इस सरकार को गर्क की राह पर ले जाने का काम स्वयं कर रहे हैं और धरातल की सच्चाई को प्रदेश के मुखिया के कानों तक नही पहुंचा रहे । पुतला दहन के इस अवसर पर प्रदेश के दोनों संगठनों से सर्कल सचिव अशोक कुमार, सन्तराम लाम्बा, करतार सिंह, कर्मवीर यादव, महेंद्रसिंह, राजबीर सिंह, लेखराज चौधरी, जयभगवान, मदनगोपाल,  योगेश, रामसरन, बलबीर, विनोद, युद्धवीर खत्री, रमेश तेवतिया, बिसनदेव, शेरसिंह, बीरेंदर, जयप्रकाश, ओमप्रकाश, मेमआती, विद्या, कमल, अनीता सहित काफी संख्या में कर्मचारी महिलाएँ आदि हजारों की संख्या में कर्मचारी मौजूद रहे ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: