Sunday, October 14, 2018

संस्कृत देववाणी, यह भारत की आत्मा, हरियाणा में कक्षा 6 से 10 तक होगी अनिवार्य; रामबिलास

Sanskrit Devwani, it will be mandatory in India's soul, from class 6 to 10 in Haryana; Ram Bilas Sharma
पलवल 14 अक्तूबर(abtaknews.com) भारत विकास परिषद हरियाणा दक्षिण प्रांत द्वारा आयोजित हिंदी तथा संस्कृत राष्ट्रीय समूह गान प्रतियोगिता का आयोजन रविवार को राष्टï्रीय राजमार्ग पर स्थित स्थानीय सरस्वती विद्यालय के सभागार में किया गया। कार्यक्रम में हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने मुख्य अतिथि तथा मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव दीपक मंगला ने विशिष्टï अतिथि के रूप में शिरकत की। कार्यक्रम में भारत विकास परिषद के पदाधिकारियों ने मुख्य अतिथि व विशिष्ठï अतिथियों को अंग वस्त्र व स्मृति चिन्ह भेट कर स्वागत व्यक्त किया। 
शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने कहा कि संस्कृत देववाणी है, यह भारत की आत्मा है। इस भाषा को प्रोत्साहन देने के लिए प्रदेश के आगामी सत्र में कक्षा 6 से 10वीं तक संस्कृत विषय को अनिवार्य किया जाएगा। हरियाणा शिक्षा बोर्ड की तर्ज पर ही संस्कृत शिक्षा बोर्ड बनाया जाएगा। प्रदेश सरकार ने जिला कैथल में महर्षि बाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय का निर्माण करवाया है। संस्कृत सभी भाषाओं का आधार है। सभी ग्रंथ संस्कृत में ही हैं। संस्कृति, इतिहास, शिक्षा व संस्कार भारत का पैटेंट है। उन्होंने सभी अध्यापकों व अभिभावकों का आह्वïान किया कि वे बच्चों को भारत की परंपरा व संस्कार में ढालें। भारत विकास परिषद देशभक्ति से ओतप्रोत, गाय व संस्कृति के ऊपर प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताएं आयोजित कर सराहनीय कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि ग्लोबलाईजेशन का सबसे ज्यादा असर हमारे ऊपर पडा है। उन्होंने कहा कि गीता सार को पाठ्यक्रम में सम्मलित किया गया है।
मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव दीपक मंगला ने सभी प्रतिभागियों का अभिनंदन करते हुए कहा कि ऐसी प्रतियोगिताओं से ग्रामीण आंचल से छिपी हुई प्रतिभाएं ऊभर कर सामने आती है। उन्होंने कहा कि ऐसी प्रतियोगिताओं से देशभक्ति व देशप्रेेमी की भावना जागृत होती है। भारत विकास परिषद ने इस प्रतियोगिता का आयोजन करके बच्चों की प्रतिभा को निखारने का कार्य किया है। समूह गान प्रतियोगिता में 15 टीमों के लगभग 120  बच्चों ने भाग लिया, जिसमें रोहतक की 6, फरीदाबाद की 2, गुरूग्राम की 2, पलवल की 1, गन्नौर की 1, सांपला की 1, बहादुरगढ की 1 तथा नारनौल से 1 टीम शामिल रही। राम बिलास शर्मा ने पांच लाख रुपये भारत विकास परिषद को देने की घोषण की।
इस अवसर पर भारत विकास परिषद के राष्टï्रीय उपाध्यक्ष सुरेंद्र कुमार वधवा, प्रांतीय अध्यक्ष एस.एन. बंसल, प्रांतीय महासचिव अनिल मोहन मंगला, प्रांतीय संयोजक प्रवीण सिंघल, केंद्रीय पर्यवेक्षक डा. वासुदेव बंसल, वरिष्ठï पत्रकार रास बिहारी, संस्था के पलवल के अध्यक्ष खेमचंद मंगला, ब्रांच सचिव सतीश कौशिक, जिला बार एसोसिएशन के प्रधान सुभाष शर्मा, अधिवक्ता अविनाश शर्मा, उपशिक्षा अधिकारी अशोक बघेल सहित गणमान्य लोग, बच्चे, अभिभावक मुख्य रूप से मौजूद रहे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: