Wednesday, October 31, 2018

सरकार की हठधर्मिता को देखते हुए लिया बड़ा फैसला 02 नवम्बर के बाद कर्मचारी करेंगे आमरण अनशन

फरीदाबाद-31अक्टूबर,2018(abtaknews.com)बिजली विभाग कर्मचारियों द्वारा रोडवेज के समर्थन में जारी हड़ताल के सोलह वें दिन भी हरियाणा स्टेट इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड वर्कर यूनियन का समस्त बिजली कर्मचारी लामबन्द होकर अधीक्षक अभियन्ता सर्कल प्रांगण सेक्टर 23 फरीदाबाद पर सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन कर बसों को शामिल करने के फैसले को वापिस ना लेने के विरोध में जमकर नारेबाजी की । जिसमे विरोध प्रदर्शन कर रहे कार्यक्रम की अध्यक्षता फरीदाबाद के सर्कल सेक्रेटरी सन्तराम लाम्बा ने की एवं मंच का संचालन ओल्ड फरीदाबाद के यूनिट सचिव जय भगवान आंतिल ने किया । बिजली निगम के कार्यालय पर भारी संख्या में बिजली कर्मचारी तीनों यूनिटों के प्रधान व सचिवों के आव्हान पर एकत्र हुए । अपने संबोधन में सरकार के इस अड़ियल रवैये से कर्मचारियों को अवगत कराते हुए यूनिट ओल्ड फरीदाबाद से बिजली कर्मचारी प्रधान लेखराज चौधरी ने कहा कि ऐसी क्या वजह है जो सरकार रोडवेज के बेड़े में इन 720 बसों को ठेकेदारी में माध्यम से शामिल करके निजी चालकों से चलवाना चाहती है । इससे कहीं न कही इस सरकार की ओर सवालिया निशान का प्रश्न चिन्ह लगाती है क्योंकि आज लगभग पिछले सोलह दिनों से प्रदेश का कर्मचारी आन्दोलित है जिसमे समर्थित प्रदेश की तमाम यूनियनें हड़ताल पर हैं विभाग हलकान हैं लेकिन राज्य की भाजपा सरकार कई विभागों में हड़ताल के रहते जो असुविधा आमजन में या काम प्रभावित हुआ है इस हड़ताल से नुकसान कर्मचारियों सहित प्रदेश की जनता पर पड़ा है किन्तु मुख्यमंत्री महोदय एक ही हठ को बार बार दोहराते आ रहे हैं कि 720 बसों को शामिल करने से निजीकरण नही कर रहे बल्कि जनता को सुविधाएँ दे रहे हैं हम मंच के माध्यम से प्रदेश की आम जनता से आग्रह कर कहना चाहते हैं अभी तो यह शुरुआत है सरकारी विभागों को ठेकेदार को देने की । जिसे अब यह जनता भी जान गई है और सरकार को भी भ्रमित हो गया कि अब आगे हरियाणा में दुबारा एनडीए की सरकार नही आयेगी इसीलिये बिजनेस जमाने के लिये अभी से अपने चहेतों को इसका फायदा देने की जुगत मुख्यमंत्री लगा रहे हैं । कर्मचारियों के समर्थन में जनप्रतिनिधि भी उतर आये है उन्होंने माना भी और कहा जैसे आज कुछ बसें, कल कुछ और बसें इसी तरह धीरे धीरे निजीकरण की राह में यह सरकार पाँव जमाना चाहती है और इसका सीधा फायदा अपने मंत्रियों की जेबों पर जबरन जनता के गाढ़े खून पसीने को चूसने का काम कर बेचने पर आमादा हो रही है । जिसे जनता भी इन कर्मचारियों के साथ साथ अब बर्दाश्त नही करेगी । बिजली कर्मियों के वरिष्ठ कर्मचारी नेता सुनील खटाना ने कहा कि यदि सरकार कर्मचारी नेताओं से इन बिगड़े हालातों के सुधारने में हड़ताली कर्मियों की मांग को टेबल पर बैठकर 02 नवम्बर तक सुलझाती नही हैं तो कर्मचारियों का हड़ताल के साथ अगले कदम की ओर बढ़ते हुए कर्मचारी हित मे अनशन करेंगे । जिसमे प्रथम पंक्ति में खुद सुनील खटाना आमरण अनशन पर 03 नवम्बर से सर्कल आफिस पर अनिश्चितता के लिये बैठेंगे । यदि इससे किसी भी प्रकार के हालात बिगड़े या असुविधा हुई इसके लिये प्रदेश सरकार व परिवहन मंत्री हरियाणा सरकार होंगे । इस हड़ताल के विरोध प्रदर्शन में प्रधान कर्मवीर यादव, मदनगोपाल शर्मा, पूर्व यूनिट सेकेट्री रामकुमार, ईश्वर, मुकेश, राजबीर, सुनील, जगदीश, विजय, सोनू, रामेन्द्र, वेदप्रकाश, प्रमोद, राकेश तलवार, बीरसिंह, कुलदीप, पन्नालाल, हनीफ, खुर्शीद, शौकीन, असगर, मोनिका, अजय आदि सैंकड़ों बिजली कर्मचारी शामिल रहे ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: