Breaking

Thursday, September 27, 2018

सेक्टर तीन रेजिडेंट वेलफेयर फेडरेशन के प्रतिनिधिमंडल ने दिया ज्ञापन

फरीदाबाद,27 सितंबर(abtaknews.com )सैक्टर तीन के सरकारी प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य केन्द्र मे डिलिवरी करवाने के लिए महिला रोग विशेषज्ञ डॉक्टर ,बाल रोग विशेषज्ञ और फिजीशियन नहीं है। जिसके कारण अस्पताल में न तो डिलिवरी हो पा रही है और न ही बच्चो एवं सामान्य मरीजों का इलाज हो पा रहा है।  इसकी शिकायत लेकर सैक्टर तीन रेजिडेंट वेलफेयर फेडरेशन के प्रतिनिधिमंडल ने प्रधान सुभाष लांबा की अध्यक्षता में बृहस्पतिवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी को ज्ञापन सौंपा। सीएमओ ने फेडरेशन के प्रतिनिधिमंडल को शीघ्र ही डाक्टर नियुक्ति करने व अन्य सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। ज्ञात हो कि सैक्टर तीन आबादी के अनुसार एशिया का सबसे बड़ा सैक्टर है। यहां पर लगभग 5500 मकान इकनॉमी विकर सैकशन के है। सैक्टर में ज्यादातर गरीब तबके के लोग रहते हैं। सरकार ने नागरिकों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए‌ सैक्टर तीन में प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य केन्द्र स्थापित किया था।
प्रधान सुभाष लांबा ने बताया कि फेडरेशन के सचिव रतन लाल राणा ने निजी तौर पर मनोहर लाल गुप्ता के साथ अस्पताल का निरीक्षण किया था। उन्होंने बताया कि अस्पताल में गर्भवती महिलाओं की जांच करने के लिए अल्ट्रासाउंड मशीन व‌ डाक्टर नहीं है। एक्सरे मशीन तो है लेकिन उसे चालू नहीं किया गया है। लगभग सात आठ लाख की मशीन धुल फांक रही है। मरीजों को एक्सरे व अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए बादशाह खान अस्पताल भेज दिया जाता है। वहां पर पहले से भीड़ अधिक होने के मजबुरन बाहर से अल्ट्रासाउंड करवाना पड़ता है। प्रतिनिधि मंडल में शामिल मनोहर लाल गुप्ता ने डाक्टर के व्यवहार की शिकायत करते हुए बताया कि वह एक बार जांघ में फोड़ा होने दिखाने के लिए डाक्टर तरुण शर्मा के पास गए। बिना जांच किए डाक्टर तरुण ने उन्हें HIV टैस्ट करवाने की सलाह दे डाली। 70 वर्ष की आयु के व्यक्ति को ऐसी बात कहना उनका अपमान है।फेडरेशन के वरिष्ठ उपप्रधान धर्मपाल चहल व उपप्रधान राजेंद्र सिंह भाटी ने बताया कि प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य केन्द्र बेहोशी के डाक्टर के सहारे चल रहा है।सब तरह के मरीजों को बेहोशी के डाक्टर व दंत चिकित्सक देखते हैं। अस्पताल में पर्याप्त सुविधा, उपकरण तथा डाक्टर न होने के कारण ज्यादातर मरीजों धक्के खाने के लिए बादशाह खान अस्पताल भेज दिया जाता है।

फेडरेशन के अध्यक्ष सुभाष लांबा ने प्रधानमंत्री की मोदी केयर योजना प्रश्नचिन्ह लगाते हुए कहा कि जब मौजूदा सिस्टम ही दुरुस्त नहीं है तो मोदी केयर क्या खाक सफल होगी। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर सैक्टर तीन के प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य केन्द्र मे जल्द डाक्टर व सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराई गई तो फेडरेशन को धरना प्रदर्शन के लिए मजबुर होना पड़ेगा। प्रतिनिधि मंडल में आनन्द सिंह गहलोत, सुरेन्द्र,प्रेम नाथ पांडेय व ए के मितल सम्मिलित थे।


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages