Breaking

Thursday, September 27, 2018

सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा द्वारा बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर जनता के बीच जाने का ऐलान

फरीदाबाद, 27 सितंबर(abtaknews.com)सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा ने रोड़वेज, बिजली, शिक्षा,स्वास्थ्य,जन स्वास्थ्य आदि  जनसेवा के सरकारी विभागों को निजीकरण से बचाने और खाली पड़े 5 लाख पदों को नियमित भर्ती से भरते हुए बेरोजगारों को रोजगार देने आदि मांगों को लेकर जन समर्थन प्राप्त करने के लिए जनता के बीच जाने का ऐलान किया है। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशव्यापी आंदोलन के तहत कर्मचारी कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल के विधानसभा हलके के गांव, कालोनियों व सेक्टरों में जन सभाएं आयोजित की जाएगी। इसके अलावा जन प्रतिनिधियों, रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन,जन संगठनों,ट्रेड यूनियनों, कर्मचारी संगठनों व सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों के सेमीनार भी आयोजन किए जायेंगे। यह निर्णय बृहस्पतिवार को सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा की जिला कार्यालय में जिला प्रधान अशोक कुमार की अध्यक्षता में आयोजित कार्यकारिणी की बैठक में लिया गया। जिला सचिव युद्धवीर सिंह खत्री द्वारा संचालित बैठक में केंद्रीय कमेटी की ओर से प्रदेश महासचिव सुभाष लांबा व वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री भी उपस्थित थे। 
जन सेवा के विभागों को निजीकरण से बचाने के लिए जनता के बीच जाने का जन अभियान 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर पर बी के चौक पर सत्याग्रह करके की जायेगी। बैठक में लिए गए निर्णय अनुसार 3 से 27 अक्टूबर तक फरीदाबाद विधानसभा हलके में जन सभाएं, संगोष्ठी व सेमीनार आयोजित किए जाएंगे और 28 अक्टूबर को कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल के आवास पर प्रदर्शन किया जायेगा, जिसमें उनके विधानसभा हलके के नागरिक भी भाग लेंगे। 
जिला कार्यकारिणी को सम्बोधित करते हुए महासचिव सुभाष लांबा व वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश कुमार शास्त्री ने कहा कि सरकार एक तरफ समाज में नफरत पैदा करने के लिए धार्मिक आधार पर ध्रुवीकरण करने की नीति को तेज कर रही है और दूसरी तरफ जनता को सेवा प्रदान करने वाले सरकारी विभागों को निजीकरण के हवाले किया जा रहा है। बर्क लोड व जनसंख्या के अनुसार सरकारी विभागों में खाली पड़े 5 लाख पदों को पक्की भर्ती से भरते हुए बेरोजगारों को रोजगार देने की बजाय पदों को समाप्त किया जा रहा है और पदों को डिमिनैशन केडर में बदला जा रहा है। कर्मचारी जब जन सेवा के विभागों को बचाने और चुनावी घोषणा पत्र में किए वादों को पूरा करने तथा कर्मचारियों की जांयज मांगों को लेकर आन्दोलन करते हैं तो उन पर लाठीचार्ज व आ‌श्रू गेस के गोले दागे जा रहें हैं। हड़ताली कर्मचारियों पर एस्मा लगा कर उनकी आवाज को दबाने के प्रयास किए जा रहे हैं। नेताओं पर झुठे मुकदमे दर्ज करवाये जा रहे हैं। जिसको लेकर कर्मचारियों में सरकार के खिलाफ भारी आक्रोश है।
बैठक में सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा व विभागीय यूनियनों के नेता गुरचरण खाडियां राजबेल देसवाल, धर्मबीर वैष्णव,मास्टर राज सिंह,भीम सिंह, जितेन्द्र मोर,रजनी भाटिया बुधराम,परमाल सिंह, रमेश पाल,विजय सिंह, बलबीर सिंह बाल गुहेर, करतार सिंह, खुर्शिद अहमद, बीरेंद्र बेनिवाल, नरेश कुमार,अतर सिंह केशवाल, गांधी सहरावत, रमेश चंद्र तेवतियां, मुकेश बेनीवाल,देव राज आदि उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages