Breaking

Monday, September 24, 2018

एनएसयूआई के आंदोलन का पचासा पूरा, माँगे अभी भी अधूरी: कृष्ण अत्री



फरीदाबाद(abtaknews.com)24 सितंबर। दिन रात चल रहे एनएसयूआई के अनिश्चितकालीन धरने को आज 50 दिन पूरे हो गए है लेकिन खट्टर सरकार और जिला प्रशासन मूक बांधिर बने हुए है । खट्टर सरकार की अनदेखी का विरोध करते हुए एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री के नेतृत्व में छात्रों ने हेलमेट प्रदर्शन किया। क्योंकि नेहरू कॉलेज की बिल्डिंग पूरी तरह से जर्जर हो चुकी है, इसलिए छात्रों को हेलमेट पहनकर क्लास में जाने की सलाह दी गई, ताकि कोई अप्रिय घटना होने पर उनकी जान बच सके। इस दौरान एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने कॉलेज के अंदर जाने से छात्रों को हेलमेट पहनाए।  
एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश सचिव कृष्ण अत्री ने भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि जहाँ एक तरफ सरकार आये दिन नई नई घोषणाएं कर रही है वहीं दूसरी तरफ छात्रों को अनदेखा करके पढ़ने के लिए ईमारत मुहैया कराने में भी असमर्थ नजर आ रही है। कृष्ण अत्री ने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू कॉलेज की ईमारत का निर्माण सन 1971 में हुआ था जिसमें लगभग 6000 छात्र छात्रा पढ़ते है। इस ईमारत को पीडब्ल्युडी विभाग ने 2016 में कंडम घोषित कर दिया था लेकिन 2 साल बीत जाने के बाबजूद अभी तक ईमारत की नींव भी नही खुदी है। छात्र छात्राओं को अपनी जान जोखिम में डाल कर कक्षाओं में पढ़ना पड़ता है। 
अत्री ने कहा कि एक तरफ तो हरियाणा की खट्टर सरकार ने 30 नये कॉलेज खोलकर शिक्षा का एक खोखला दिखा कर प्रदेश के छात्रों को लुभाना चाहा है वही दूसरी तरफ जो पुराने कॉलेज में उनकी हालत बद से बदतर हो गई  है । पुराने कॉलेजो में बच्चो को पढ़ाने के लिए अभी भी स्टॉफ, क्लासरूम, शौचालय, कैंटीन तथा अन्य मूलभूत सुविधाओं की कमी है और खट्टर सरकार ने कमियों को अनदेखा करते हुए नए कॉलेज और खोल दिये है। ऐसे में खट्टर सरकार को नए कॉलेज खोलने की जगह पुराने कॉलजों की हालत सुधारनी थी और उनमें पूरी सुविधाएं देनी थी। लेकिन केंद्र की भाजपा सरकार की तर्ज पर हरियाणा की खट्टर सरकार भी सिर्फ खोखले सपने दिखाती है जमीनी स्तर पर कार्य नही करती है।
अत्री ने कहा आज छात्रहितों में धरना प्रदर्शन करते हुए एनएसयूआई को 50 दिन पूरे हो चुके है लेकिन खट्टर सरकार ने आँखों पर पट्टी बांधी हुई है । उन्होंने कहा ना तो हम सरकार से रोजगार माँग रहे है और ना ही आरक्षण जो सरकार छात्रों के साथ ऐसा व्यवहार कर रही है। अत्री ने कहा हम तो सिर्फ छात्रों के पढ़ने के लिए ईमारत और मूलभूत सुविधाओ की माँग कर रहे है। अगर भाजपा सरकार हमें पढ़ने के लिए भी सुविधाएं नहीं दे सकती तो सत्ता छोड़कर सन्यास ले लेना चाहिए। इस मौके पर छात्र नेता विकास फागना, आरिफ खान, अंकित गौड़, सोनू सिंह, लक्ष्मण, नवीन चौधरी, देव चौधरी, अनिल, प्रिंस, आशु, रविंदर, सूरज वर्मा, रिंकू तेवतिया, सुमित, रवि रावत, यश, शाकिब आदि मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages