Breaking

Sunday, August 19, 2018

उत्तराखंंड समाज प्रतिनिधि सभा हरियाणा ने फरीदाबाद में अटल को दी श्रद्धांजलि

फरीदाबाद(abtaknews.com)उत्तराखंंड समाज प्रतिनिधि सभा हरियाणा कार्यकारिणी के अध्यक्ष योगेश बुढाकोटि के नेतृत्व में एनआईटी-86 स्थित दीवा माता मंदिर खाटली समाज 60 फुट रोड पर भारत के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की याद में एक श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। जिसमें उत्तराखंड समाज प्रतिनिधि सभा के समस्त पदाधिकारियों, सदस्यों सहित उत्तराखंड समाज के लोगों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लेकर स्व. अटल बिहारी वाजपेयी को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर संरक्षक भारत भूषण जुयाल, लेखा निरीक्षक पाल सिंह राणा करनाल,ओमप्रकाश गौड संगठन सचिव,  गढवाल सभा के महासचिव सुरेन्द्र रावत, खाटली के  संस्था के प्रधान गणेश रावत, दिगपाल रावत, सहित फरीदाबाद की सभी संस्थाएं आदि मौजूद थी।
इस मौके पर सभा को सम्बोधित करते हुए सभा के अध्यक्ष योगेश बुढाकोटि ने कहा कि प्रधानमन्त्री अटल बिहारी वाजपेयी देश के एकमात्र ऐसे नेता थे जो अपनी पार्टी में ही नहीं, विपक्षी पार्टी में समान रूप से सम्माननीय रहे।उदार, विवेकशील,निडर, सरल-सहज, राजनेता के रूप में जहां इनकी छवि अत्यन्त लोकप्रिय रही, वहीं एक ओजस्वी वक्ता, कवि की संवेदनाओं से भरपूर इनका भाबुक हृदय, भारतीय सांस्कृतिक मूल्यों के प्रति आस्थावान इनका व्यक्तित्व सभी को प्रभावित कर जाता था। वे देश के सफ ल प्रधानमन्त्रियों में से एक थे। इनकी विलक्षण वाकपटुता को देखकर लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने यह कहा कि इनके कण्ठ में सरस्वती का वास  था तभी तो नेहरूजी ने इन्हें अद्भुत वक्ता की विश्वविख्यात छवि से नवाजा।
इस मौके पर उपस्थित अन्य पदाधिकारियों ने भी अपने अपने सम्बोधन में  कहा कि स्व. अटल बिहारी वाजपेयी का सम्पूर्ण जीवन एवं इनके सम्पूर्ण विचार राष्ट्र के लिए समर्पित रहां । राष्ट्रसेवा के लिए उन्होने गृहस्थ जीवन का विचार तक त्याग दिया। अविवाहित प्रधानमन्त्री के रूप में ये एक ईमानदार, निर्लिप्त छवि वाले प्रधानमन्त्री रहे। इन्होंने राजनीति में रहते हुए कभी अपना हित नहीं देखा ।
उनकी सदैव प्रजातान्त्रिक मूल्यों में इनकी गहरी आस्था रही । हिन्दुत्ववादी होते हुए भी इनकी छवि साम्प्रदायिक न होकर धर्मनिरपेक्ष मानव की रहीै । लेखक के रूप में इनकी प्रमुख पुस्तकों में मेरी 51 कविताएं, न्यू डाइमेंशन ऑफ  इण्डियाज, फॉरेन पालिसी, फोर  डिकेड्स इन पार्लियामेंट तथा इनके भाषणों का संग्रह उल्लेखनीय है ।श्रद्धांजलि सभा के अंत में सभी आये हुए लोगों ने दो मिनट का मौन रखकर स्व. अटल बिहारी वाजपेयी जी को अपनी सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित की।


No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages