Breaking

Wednesday, August 8, 2018

आरक्षण विरोधी पार्टी द्वारा 9 अगस्त को संसद घेराव का ऐलान


फरीदाबाद- 9 अगस्त(abtaknews.com)आरक्षण विरोधी पार्टी और देश के विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा भारत बंद की घोषणा की गई है, आविपा द्वारा इस मौके दिल्ली में संसद का घेराव भी किया जाएगा। यह निर्णय देश की लोकसभा और राज्यसभा में कल पारित किए गए एससी-एसटी एक्ट संसोधन विधेयक के विरोध में किया गया है। जिसमें सामान्य व ओबीसी से जुडे हुए देश के 1200 से ज्यादा संगठन हिस्सा ले रहेे है। पार्टी अध्यक्ष संजय शर्मा ने मोदी सरकार और विपक्षी पार्टियों की मिलीभगत से एससी एसटी एक्ट में संसोधन का मसौदा पास किए जाने की कडे शब्दों में निन्दा की हैं। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय शर्मा ने कहा है कि मोदी सरकार को स्वर्ण जातियों के विरोध में काम करने केे लिए इसका जबाब 2019 के चुनाव में जनता भाजपा को हराकर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि  अगर ऐसा बिल संसद में पास किया गया है जिससे भारत में हिंसा हो सकती है, वोट बैंक के लालची नेताओं  ने माननीय सुप्रींम कोर्ट के फैसले को पलटने की साजिश की है जिससे पता चलता है कि सरकार देश में जाति और धर्म के नाम पर राजनीति कर रहीं है। इस बिल को रोकने के लिए जनरल और ओबीसी वर्ग और देश के विभिन्न सामाजिक संगठनों और आरक्षण विरोधी पार्टी द्वारा 9 अगस्त को भारत बंद की घोषणा की गई है। इस मौके पर आरक्षण विरोधी पार्टी के द्वारा देषभर में जिला मुख्यालयों पर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा और जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री और मुख्य न्यायाधीश को ज्ञापन सौंपा जाएगा। इस बंद के माध्यम से आरक्षण और एससी एक्ट जैसे दोहरे कानूनों को बिलकुल खत्म करके एक नागरिक एक कानून बनाए जाने की मांग की जाएगी।
पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय शर्मा ने कहा है कि  इस मौके पर एवीपी के राष्ट्रीय महासचिव दीपक गौड़, सर्वण भारत परिवार के राष्ट्रीय संयोजक पीयूश पंडित, आजाद सेना के राष्ट्रीय संयोजक अभिषेक शुक्ला राष्ट्रीय स्तर पर आंदोलन की कमान संभाल रहे हैं।शर्मा ने कहा कि इस आंदोलन को शांतिपूर्वक तरीके से चलाया जाएगा सभी जनरल और ओबीसी वर्ग के दुकानदारों से अपनी मर्जी से आंदोलन से जुड़ने की अपील की जा रही है। जबकि सरकारी और गैर सरकारी कर्मचारी व अधिकारी अपनी मर्जी से छुटटी पर रहें।इस मौके पर दीपक गौड़ ने कहा कि एसीसी एक्ट में निर्दोश लोगों को फसाया जा रहा है और आरक्षण के कारण योग्य प्रतिभाओं का गला घोटकर अयोग्य व नाकारा लोगों को इंजीनियर व वैज्ञानिक बनाया जा रहा है जिससे हमारा देश न सिर्फ आर्थिक दृष्टि से बल्कि तकनीकि में भी पिछड रहा है आज इजराइल और गाजा पटटी जैसे छोटे देशों से हमें हथियार और लडाकू विमान खरीदने पड रहे है इससे ज्यादा शर्म की बात कोई नहीं। इस बंद के माध्यम से आरक्षण और एससी एक्ट जैसे दोहरे कानूनों को बिलकुल खत्म करके एक नागरिक एक कानून बनाए जाने की मांग की जा रहीं है।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages