Breaking

Wednesday, July 25, 2018

फरीदाबाद की त्रिखा कालोनी, भाटिया कालोनी,रघुबीर कालोनी,शिव कालोनी कालोनी की जमीन अधिग्रहण मुक्त


चंडीगढ, 25 जुलाई(abtaknews.com) फरीदाबाद में 25 साल से जनसुविधाओं को तरस रहे त्रिखा कालोनी, भाटिया कालोनी, रघुबीर कालोनी और शिव कालोनी की 50 हजार आबादी को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बडी राहत प्रदान की है। उन्होंने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा वर्ष 1992 में इस क्षेत्र की जमीन अधिग्रहण होने के कारण खडी हुई तकनीकी अडचन को दूर करने के लिए इस जमीन को अधिग्रहण मुक्त करने के प्रस्ताव को मंजूर कर दिया है। 

 नगर निगम फरीदाबाद के तीन वार्डों में त्रिखा कालोनी, भाटिया कालोनी, रघुबीर कालोनी और शिव कालोनी की 50 हजार आबादी को ढाई दशक दयनीय हालत में जीने को अब मजबूर नहीं होना पडेगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस मामले की पैरवी कर रहे जनप्रतिनिधियों और लोगों के दैनिक जीवन में आ रही कठिनाईयों को गंभीरता से लेते हुए हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की इस जमीन को अधिग्रहण मुक्त करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। 

 जानकारी के अनुसार वर्ष 1987 में सरकार द्वारा सेक्टर दो और सेक्टर तीन के लिए सीही और उचागांव की जमीन अधिग्रहण करने के लिए सेक्शन चार लगा दिया गया था, लेकिन कुछ समय उपरांत ही इसे रद्द कर दिया गया। इसके उपरांत वर्ष 1992 में पुन: इस क्षेत्र के लिए सेक्शन चार के नोटिस जारी किए गए, लेकिन तब तक इस क्षेत्र में किसानों द्वारा अपनी जमीन पर प्लाटिंग करते हुए लोगों को बेच दी गइ। प्रक्रिया में देरी के चलते जब तक मुआवजा तय किया गया, तब तक जमीन अधिग्रहण वाली जमीन पर बडी संख्या में रिहायश हो गई। चूंकि जमीन का अधिग्रहण के लिए सेक्शन चार हो चुका था, इसलिए नगर निगम के माध्यम से इस क्षेत्र का विकास करवाना संभव नहीं था। सहकारिता प्रकोष्ठ भाजपा के संयोजक हुकम सिंह भाटी समेत 152 लोगों द्वारा अदालत में अलग-अलग केसों के माध्यम से अपनी आवाज उठाई गई, ताकि उनके क्षेत्र में विकास को सुनिश्चित करवाया जा सके। 

तीन वार्डों में विस्तार ले चुकी इन कालोनियों में 50 हजार के करीब आबादी लंबे समय से मूलभूत सुविधाओं से वंचित रही। रास्ते, गलियां, पीने के पानी, गंदे पानी की निकासी ओर रात्रिप्रकाश की व्यवस्था नहीं होने से कालोनी वासियों को नारकीय स्थिति में जीने को मजबूर होना पड रहा था। केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, उद्योग मंत्री विपुल गोयल, विधायक मूलचंद शर्मा, सीमा त्रिखा द्वारा इस संबंध में मुख्यमंत्री मनोहर लाल से बातचीत करते हुए रास्ता निकालने का अनुरोध किया गया। उनके अनुरोध और क्षेत्र के लोगों द्वारा किए जा रहे आंदोलनों और उनकी परेशानियों को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पूर्व समय में इस क्षेत्र की अधिग्रहित जमीन को मुक्त करने के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी है। इस निर्णय पर सभी जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल का आभार जताते हुए कहा कि उनके इस निर्णय से फरीदाबाद में बडी आबादी को नारकीय जीवन से बाहर निकालने तथा उनका विकास करने में मदद मिलेगी।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages