Breaking

Wednesday, June 27, 2018

कर्मचारी 28 जून को जिला मुख्यालय पर जेल भरो आंदोलन के तहत देंगे सामूहिक गिरफ्तारी


फरीदाबाद (abtaknews.com) हरियाणा के कर्मचारी 28 जून को जिला मुख्यालय सेक्टर 12 पर जेल भरो आंदोलन के तहत सामूहिक गिरफ्तारी दी जायेगी। यह जेल भरो  हाई कोर्ट के द्वारा 2014 में अधिसूचित  नियमितिकरण की नीतियों  के अंतर्गत रेगुलर हुए कर्मचारियो को कच्चा करने के फैसले  के खिलाफ,पुरानी पेंशन स्कीम बहाल करने, ठेका प्रथा बन्द करवाने,व अन्य मांगों को लेकर किया जाएगा। उक्त जानकारी सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेश महासचिव सुभाष लांबा व नगरपालिका पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रधान नरेश कुमार शास्त्री ने अपने साथियों के साथ प्रेस वार्ता में दी हैं। 

अरावली गोल्फ क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कर्मचारी नेताओं ने हरियाणा की भाजपा सरकार के खिलाफ श्रमिक विरोधी कार्यों के लिए मुख्य मंत्री मनोहर लाल खट्टर पर जमकर हमला बोला।लम्बे समय से अपनी मांगों को लेकर सरकार से लड़ाई लड़ रहे  विभिन्न-विभिन्न  विभागों के कर्मचारी कल एक साथ लामबंध होकर पुरे प्रदेश के 22 जिलों के मुख्यालय पर जेल भरो आंदोलन कर अपनी अपनी गिरफ्तारियाँ देंगे। फरीदाबाद में आज प्रेस वार्ता कर इसकी जानकारी सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लांबा और नगर पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश शास्त्री ने दी। इस मौके पर उन्होंने कहा की फरीदाबाद के साथ - साथ प्रदेश में लाखों कर्मचारी अपनी गिरफ्तारियां देंगे लेकिन  उनका आंदोलन शांति पूर्वक रहेगा, उन्होंने कहा की सरकार से वह चाहते है की टकराव का रास्ता छोड़ सीधे बातचीत  पर आये और समस्या का समाधान करे यदि इसके बाद भी बात नहीं बनती है तो कल वह बड़े आंदोलन की घोषणा करेंगे। 


सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लांबा ने सरकार की दोहरी निति से पत्रकारों से अवगत कराते हुए बताया कि बीते 44 महीनो में सरकार ने कर्मचारियों के हित  में कोई काम नहीं किया है। इतना ही नहीं सरकार ने चुनावों में किये अपने किसी भी वादे को पूरा नहीं किया , उन्होंने आरोप लगते हुए कहा की 2014 में जो पिछली सरकार की पॉलिसी के तहत  भर्तियां हुई थी मौजूदा सरकार ने उसकी भी सही ढंग से पैरवी नहीं की जिसके चलते 31 मई को कोर्ट का नोटिस आया है. जिसके बाद 4654 कर्मचारियों के कच्चे होने का खतरा पैदा हो गया है। अब  हाई कोर्ट ने 6 महीने के अंदर लाखो कर्मचारियों की भर्ती कर लाखो कच्चे कर्मचारियों को निकलने का आदेश दिया जिससे लाखो कर्मचारियों पर बेरोजगारी की तलवार लटक गई है। इसलिए वह चाहते है की सरकार  कोई पॉलिसी लाये और इस फैसले पर रोक लगाए। लेकिन सरकार इस मामले में गंभीर नहीं दिखाई दे रही है. जबकि सभी पोलटिकल पार्टियां अध्यादेश लाकर  इस फैसले पर रोक लगाने की बात कर रही है ।सरकार की इसी अनदेखी को लेकर कल प्रदेश के 22 जिलों के मुख्यालयों पर लाखों कर्मचारी अपनी गिरफ्तारियां देंगे। इसलिए वह चाहते है की सरकार टकराव का रास्ता छोड़कर सीधे बातचीत से समस्या का समाधान करे और फिर भी यदि सरकार उनकी मांगों  को लेकर गंभीर नहीं होती है तो वह कल बड़े आंदोलन की घोषणा करेंगे।

इस मौके पर  नगर पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश शास्त्री ने भी सरकार पर तंज कस्ते हुए कहा की सरकार ने आज तक कर्मचारियों के हित में एक भी काम नहीं किया ,इतना ही नहीं सरकार ने अपने घोषणा पत्र में किये एक भी वादे  को पूरा करके नहीं दिखाया। सरकार ने प्रति  वर्ष 2 लाख लोगों को नौकरी देने की बात की थी जबकि सरकार के 44 महीने पुरे हो गए है ,लेकिन आज तक केवल  सरकार ने 20 हजार पक्के कर्मचारियों को ही भर्ती किया है। जबकि 21 हजार लोग रिटायर हुए है.इसी को लेकर कर्मचारियों में भारी  आक्रोश है और कल का यह जेल भरो आंदोलन हरियाणा सरकार को आईना दिखा देगा की कर्मचारियों की माँगो नजर अंदाज करेगी सरकार तो निश्चित तौर पर प्रदेश में बड़ा आंदोलन होने की शुरुआत हो जाएगी। 

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages