Saturday, May 5, 2018

हरियाणा के पूर्व मंत्री शिव चरण लाल शर्मा के बेटे मुनीश शर्मा सोमवार को अपनी गिरफ़्तारी देंगे


फरीदाबाद, 5 मई(abtaknews.com) शहर की डबुआ कालोनी में दो साल पहले खडी की गई एक दीवार लोगों के जी का जंजाल बन गई है। इस दीवार ने 2015 में उसी दिन वहां के निवासी राम प्रसाद की जान ले ली थी जिस दिन ये चुनी जा रही थी फिर इसने हाल में समाजसेवी लाल सिंह को जेल भेज दिया और अब ये खूनी दीवार पुर्व मंत्री शिव चरण लाल शर्मा के पुत्र मुनेश शर्मा के पीछे पडी है जिसने जनता की भलाई के लिए आवाज उठाई।
 इस बारे में पूर्व मंत्री पं. शिवचरण लाल शर्मा के पुत्र मुनेश शर्मा  ने प्रैस विज्ञप्ति जारी कर कहा मैं जनता के हित के लिए आवाज उठाऊंगा यदि प्रशासन भी कहीं अन्याय करता है तो मैं और मेरा परिवार जनता के साथ मिलकर उसका पुरजोर विरोध करेगा। मैं न्यायपालिका का सम्मान करता हूं और सोमवार सुबह 10 बजे न्यायपालिका का सम्मान करते हुए सुबह 10.00 बजे मैं अपनी गिरफ्तारी दे दूंगा। उन्होंने कहा कि मैं जेल जाने से नहीं डरता और जनता की किसी समस्या के लिए आवाज उठाने पर मुझ पर राजनीतिक प्रतिरोध के फलस्वरूप जो मामले दर्ज किये जाते हैं तो मैं ऐसी आवाज आगे भी उठाता रहूँ भले ही मुझे बार बार जेल जाना पड़ा।
समाजसेवी मुनेश शर्मा ने बताया कि कि वर्ष 2015 का यह मुकदमा उसी श्रृंखला का भाग है जहां 40 वर्षां से लोग रह रहे थे। डबुआ कालोनी अनाज मंडी परिसर के पास दिसंबर 2015 में मार्केट कमेटी ने एक दीवार खडी की थी जो अनुचित थी जिस कारण सैकडों लोगों के घर के पिछले दरवाजे बंद हो गए थे। लोगों ने इसका विरोध किया था। पुलिस ने लाठीचार्ज किया था और जब ये दीवार खडी की जा रही थी उसी समय दीवार देख राम प्रसाद के दिल ने धडकना बंद कर दिया था। राम प्रसाद सर्दियों में यहां धूप में बैठते थे उस जगह वो दीवार नहीं देख पाए और उनके दिल ने काम करना बंद कर दिया। राम प्रसाद की मौत के बाद लोगों ने सडक जाम लगा दिया था। जाम की सूचना पाकर मैं और मेरे साथी भी मौके पहुंचे थे और उन्होंने भी दीवार का विरोध करते हुए कहा था कि जो लोग 40 साल से यहाँ घर बनाकर रह रहे हैं उनके घर से सटाकर दीवार खडी कर दी गई जो अनुचित है। परन्तु राजनीतिक प्रतिरोध के फलस्वरूप मुझ पर और मेरे साथियों पर मुकदमा दर्ज करवा दिया गया।


loading...
SHARE THIS

0 comments: