Breaking

Thursday, May 17, 2018

फरीदाबाद के गांव लतीपुर की बदहाली की खबर का असर, 50 सालों मेंं पहली बार पहुंची सरकार



फरीदाबाद (abtaknews.com)17 मई,2018; विगत  6 मई को फरीदाबाद पृथला विधानसभा के अंतिम गांव लतीपुर के बदहाली की तस्वीरें मीडिया ने प्रमुखता से दिखाई थी जिसका बडा असर देखने को मिला है करीब 50 सालों के बाद जहां पहली बार गांव में उपस्वास्थ्य केन्द्र कौराली की एसडीएम के आदेश पर गांव में पहुंची जहां उन्होंने ग्रामीणों के स्वास्थ्य की जांच की और रूबेला व खसरा के टीके भी लगाये। बता दें कि गांव में सडक, पानी, स्कूल, स्वास्थ्य केन्द्र और बिजली जैसी मूलभूत सुविधायें नहीं हैं खबर के बाद एसडीएम राजेश कुमार ने संज्ञान लिया और गांव वासियों को मूलभूत सुविधायें देनी पहल शुरू कर दी है।
वीओ- फरीदाबाद पृथला विधानसभा के अंतिम  अभागे गांव लतीपुर में जैसे ही हरियाणा सरकार की गाडी पहुंची और उस गाडी से स्वास्थ्य विभाग की टीम उतरी तो गांव वासियों के चेहरों पर खुशी झलक उठी और खुशी हो भी क्यों न क्योंकि 70 के दशक के बाद आज पहली बार स्वास्थ्य विभाग की टीम ग्रामीणों के स्वास्थ्य की जांच करने पहुंची थी। टीम के गांव में पहुंचते ही सभी गांव वासी एकत्रित हुए और सभी ने अपने अपने स्वास्थ्य की जांच करवाई, जहां डाक्टरों ने बिमारी के अनुसार उन्हें दवाईयां भी दी। इस जांच शिविर के दौैरान डाक्टरों ने रूबेला और खसरे के टीके भी लगाये। 

लतीपुर गांव में सडक, पानी, स्कूल, स्वास्थ्य केन्द्र और बिजली जैसी मूलभूत सुविधायें नहीं हैं 6 मई को मीडिया द्वारा प्रमुखता से खबर दिखाने के बाद एसडीएम राजेश कुमार ने संज्ञान लिया और गांव वासियों को मूलभूत सुविधायें देनी पहल शुरू कर दी है। जिसपर गांव वासियों ने मीडिया का धन्यवाद किया है।
गांव में पहुंची उप स्वास्थ्य केन्द्र कौराली की टीम की इंचार्ज डाक्टर संगीता ने बताया कि उन्हें उपर से एसडीएम साहब के आदेश आये थे कि गांव में जांच शिविर लगाना है जिसके लिये उन्होंने पहले पूरे गांव का सर्वे किया और फिर स्वास्थ्य शिविर लगाया है जिसमें ग्रामीणों के  स्वास्थ्य की जांच की गई और उन्हें दवाई भी दी गई हैं, इससे पहले उन्हें बगाता था कि यह गांव नोएडा में आता है लेकिन अब उन्हें पता लगा है कि गांव हरियाणा के अंतर्गत ही आता है जिसकी रिपोर्ट सरकार को भेज दी गई है अब जन्म और मृत्यूदर का रिकार्ड भी रखा जायेगा।

गांव के सरपंच ने खुश होकर पूरी मीडिया का धन्यवाद किया और बताया कि मीडिया के द्वारा खबर दिखाये जाने के बाद गांव को अब उम्मीद जगी है कि उन्हें सरकारी सुविधायें मिल पायेंगी। गांव के निवासी गोपाल ने बताया कि सन 1965 से वही गांव में रह रहे हैं अभी तक उनके गांव में कोई भी सरकारी सुविधा नहीं पहुंची है, पहली बार उन्हें लग रहा है कि वह हरियाणा के निवासी है, यह सब मीडिया की मेहरबानी है, जो आज स्वास्थ्य की जांच करने के लिये डाक्टर आये हैं और दवाई भी दी हैं अब उन्हें लगाता है कि गांव में अब तरक्की होगी।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages