Breaking

Thursday, March 29, 2018

श्रीसिद्धदाता आश्रम मंदिर पर गौशाला के नाम पर जमीन हड़पने और मामला दर्ज करवाने के गंभीर आरोप

Serious allegations of land grab in the name of Gaushala and lodging of FIR on Shree Siddhitha Ashram temple

फरीदाबाद (abtaknews.com ) 29 मार्च,2018 ; श्रीसिद्धदाता आश्रम मंदिर पर गौशाला के नाम पर पुस्तैनी जमीन हड़पने और मामला दर्ज करवाने के गंभीर आरोप हैं। पीड़ित परिवार मेवला महाराजपुर का रहने वाले है जिसमे दीपक बैसला, ब्रहमपाल, श्रीपाल,सतेंद्र, गुरुदेव ने प्रैस वार्ता में उक्त आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस प्रशासन से मिलकर श्रीसिद्धदाता आश्रम मंदिर के संचालक पुरुसोत्तम आचार्य महाराज और मंदिर प्रबंधन समिति से जुड़े ट्रस्टी उनकी पैतृक जमीन पर कब्ज़ा करना चाहते हैं।  उन्हें धमकियां दी जाती है और उनके ऊपर झूठे मुक़दमे दर्ज कराए गए हैं।   


होटल मैगपाई में आयोजित प्रेस वार्ता में मेवला महाराजपुर के निवासी दीपक बैसला  ब्रहमपाल, श्रीपाल,सतेंद्र, गुरुदेव ने श्रीसिद्धदाता आश्रम के संचालक महाराज लक्ष्मीनाराण पर आरोप लगाते हुए कहा है कि गौशाला की आड में लक्ष्मीनाराण महाराज ने उनकी पैतृक जमीन पर कब्जा कर लिया है और प्रशासन की मदद से अरावली पहाडी पर चार दीवार लगा दी है जो कि वन विभाग के नियमों के खिलाफ है। पुलिस ने पीडितों की मदद करने की बजह उन्हीं के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है क्योंकि बाबा लक्ष्मीनारायण के बडे बडे नेताओं और अधिकारियों से सीधे संबंध हैं। जिसके चलते उनकी कहीं भी कोई सुनवाही नहीं हो रही है।

सिद्धदाता आश्रम के संचालक महाराज लक्ष्मीनाराण पर अरावली पहाडी पर गौशाला के नाम पर जमीन कब्जाने आरोप है। पैतृक जमीन होने का दावा करने वाले गांव मेवला महाराजपुर के निवासी दीपक बैसला ने एक पत्रकार वर्ता कर कहा कि बाबा लक्ष्मीनारायण ने प्रशासन और बडे बडे नेताओं की मदद से उनकी पैतृक जमीन पर कब्जा किया हुआ है। पीडित दीपक बैसला ने बाबा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि करीब 20 साल पहले उन्होंन अपनी पैतृक जमीन पर छोटी सी चारदीवारी की थी जिसे तोडकर बाबा ने गौशाला की आड में उनकी जमीन पर अपनी चार दीवारी खडी कर दी है जबकि अरावली पहाडी पर निर्माण कार्य करना अवैध है उसके बाबजूद भी प्रशासन की मिली भगत के चलते बाबा ने गौशाला की चारदीवारी कर ली है। जिसकी शिकायत जब उन्होंने पुलिस में की तो पुलिस ने पीडित परिवार पर ही मामला दर्ज कर दिया, इतना ही नहीं उन्हें पुलिस द्वारा धमकी भी दी गई कि बाबा लक्ष्मीनारायण के बडे बडे नेताओं और अधिकारियों के साथ सीधे संबंध है उनसे उलझने की कोशिश न कर। पीडित बैसला ने बाबा पर आरोप लगाया कि जिस गौशाला की आड में बाबा ने अरावली पर कब्जा किया है उस गौैशाला में सभी दुधारू गाय रहती है जिनके दूध का बाबा व्यापार करता है गौशाला में कोई भी आवारा या फिर जरूरतमंद गाय नहीं है। उनकी मांग है कि प्रशासन उचित कार्यवाई करके उन्हें उनकी पैतृक जमीन वापिस दिलवाये।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages