फरीदाबाद के आंदोलनकारी कर्मचारियों व पुलिस में टकराव होते -होते बचा

Agitating employees and police in Faridabad were confronted with-
फरीदाबाद, 27 मार्च,2018(abtaknews.com)नेशनल पैंशन स्कीम को रद्द करने , अनुबंध कर्मचारियों को पक्का करने व समान काम के लिए समान वेतन देने आदि मांगों को लेकर विभिन्न विभागों के कर्मचारियों ने उपायुक्त कार्यालय पर प्रदर्शन किया । प्रदर्शन के बाद  प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम  कर्मचारियों के हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन डीसी की गैर मोजूदगी में सीटीएम को सौंपा गया।  विभिन्न विभागों के कर्मचारी जब टाऊन पार्क से प्रदर्शन करते हुए डीसी आफिस पर आये तो उन्हें  रोकने के लिए पुलिस ने डीसी आफिस का मेन गेट बन्द कर दिया । जिससे गुस्सायें कर्मचारियों ने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की ।  इसी बीच  कर्मचारी नेताओं व पुलिस में तीखी नोक-झोक हुई । सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा की समझदारी से टकराव होते -होते बचा । स्थिति बिगड़ती देख सीटीएम को मैन गेट पर आना पड़ा  । उनके द्वारा गेट खोलने के आदेश के बाद गेट खोलने  के बाद ही कर्मचारी शान्त हुए ।सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशव्यापी आन्दोलन के तहत इस प्रदर्शन में विभिन्न विभागों के कर्मचारियों ने भाग लिया । जिसकी अध्यक्षता जिला प्रधान अशोक कुमार कर रहे थे । 

सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा ने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए सरकार को चेतावनी दी कि अगर 28 अप्रैल तक घोषणा पत्र में किये वादों पर अमल करते हुए कर्मचारियों की अन्य मांगो का समाधान नही किया तो 29 अप्रैल को जीन्द में कर्मचारी ललकार रैली करेंगे । जिसमें सरकार के खिलाफ निर्णायक आन्दोलन का ऐलान कर दिया जायेंगा । प्रदर्शन में सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा की वरिष्ठ उप प्रधान नरेश कुमार शास्त्री, जिला सचिव युद्वबीर सिंह खत्री, सह सचिव धर्मबीर वैष्णव,बिजली कर्मचारी नेता सतपाल नरवत, रमेश चन्द तेवतियां, कृष्ण चन्द, भूपसिंह, ग्रिरिश चन्द, डिगम्बर, कर्मचन्द नागर, करतार सिंह, टूरिज्म के नेता टीका राम शर्मा, सुभाष देसवाल, डिगम्बर डागर, रोडवेज़ नेता रविन्द्र नागर, हुड्डा विभाग के नेता खुर्शिद अहमद व आंगबाड़ी यूनियन की प्रधान देवेन्द्री शर्मा आदि ने सम्बोधित किया ।

No comments

Powered by Blogger.