Breaking

Friday, October 27, 2017

हिंदू धर्म में छठ पूजा का विशेष महत्व ; शिव चरण लाल शर्मा


फरीदाबाद(Abtaknews.com) हिंदू धर्म में छठ पूजा का अलग  ही महत्व है। यह भी भारतीय अन्य त्यौहारों की तरह एक ऐसा पर्व है जिसे माना जाता है कि पंचतत्व यानि की जल, वायु, पृथ्वी, आकाश और अग्रि की संज्ञा दी गई है। यह उदगार हरियाणा के पूर्व मंत्री एवं एनआईटी-86 से विधायक रहे पं. शिवचरण लाल शर्मा ने अपने विधानसभा क्षेत्र नंगला इंक्लेव पार्ट-2 नियर पं. चन्दन लाल हाई स्कूल में आयोजित विशाल छठ महापर्व के मौके पर पूजा अर्चना करने के उपरान्त उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने छठ पूजा को आस्था का महापर्व बताते हुए कहा कि जिस तरह से वर्ष में दो बार सर्दकालीन व ग्रीष्मकालीन नवरात्रें आते है इसी तरह से छठ पूजा का भी विशेष महत्व है। दीपावली के बाद अचानक मौसम परिवर्तित होता है ऐसे में अनेक प्रकार से बिमारियां अपना घर कर लेती है इसलिए छठ पर्व के माध्यम से विभिन्न महिलाएं एवं पुरूष अथवा बच्चें घंटों पानी में खड़ा रहकर सूर्य की रोशनी को देखते है इससे बिमारियां सदैव के लिए कट जाती है। पूर्व मंत्री ने कहा कि छठ पर पूर्वांचलवासियों के लिए ही नहीं हर उस देश और प्रदेशवासी के लिए है जो मन-बचन और कर्म से अपने इष्ट देवता यानि की भगवान को मानता है। छठ के इस महापर्व पर पं. शिवचरण लाल शर्मा ने कहा कि राजनीति कैसी है यह सभी जानते है परन्तु जिस तरह से छठ पर्व पर इस समुदाय से जुड़े हजारों परिवार विभिन्न सुविधाओं से वंचित रहे इससे तो यहीं लगता है कि यह राजनीतिक सिर्फ वोट हथियाना जानते है सुविधा देना नहीं अन्यथा उनके कार्यकाल मे छठ पूजा के पर्व कई सामाजिक-धामिक-सांस्कृतिक कार्यक्रम तो हुआ ही करते थे साथ ही नहाये-खाये के इस पर्व के लिए पर्याप्त मात्रा में घाटों की व्यवस्था भी थी जो अब नहीं है। यह देख कर उन्हें दुख अवश्य है। उन्होंने कहा कि बदलाव दुनिया में वह एक समय है जब राजा और रंक दोनों में ही होता है। आने वाले समय में फिर एनआईटी-86 विधानसभा में वह पूर्व की भांति राम राज्य स्थापित करेंगे।
इस मौके पर विशिष्ट अतिथि सुरेन्द्र भडाना, पूर्वांचल समाज से जुड़े रामलखन कुशवाहा, सुन्दरपाल फौजी, अजय, सत्यवान शर्मा, कान्हा शर्मा, सुभाष वर्मा, चमन नागर, रंजीत शर्मा, त्रिलोकचंद तंवर, कन्हैया, विनय, पवन शर्मा, राजेन्द्र ठाकुर, सुभाष शर्मा, रामजीलाल फौजी, इन्द्रपाल फौजी, इस्लाम खान, रामरेखा यादव, पप्पू, सुरेष, दयाषंकर गिरि सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages