वाईएमसीए विवि. के कम्युनिटी कालेज में चार नये पाठ्यक्रम शुरू करने पर सहमति


ymca-university-faridabad


फरीदाबाद, 22 दिसम्बर(abtaknews.com ) वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद द्वारा युवाओं के कौशल विकास एवं स्वरोजगार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से संचालित कम्युनिटी कालेज प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत चार नये पाठ्यक्रम लेथ ऑपरेटर, एयर कंडिशनिंग (तकनीशियन), असिस्टेंट इलेक्ट्रीशियन और आईटी कोर्डिनेटर शुरू किये है। इसके अलावा, कालेज द्वारा लोगों को ई-ट्रांजेक्शन के प्रति जागरूक बनाने के लिए अभियान शुरू किया जायेगा।यह निर्णय कुलपति प्रो. दिनेश कुमार की अध्यक्षता में आयोजित कम्युनिटी कालेज के प्रबंधन मंडल की बैठक में लिया गया। नये पाठ्यक्रमों राष्ट्रीय कौशल विकास मिशन की संचालन समिति द्वारा स्वीकृत है। बैठक में नये पाठ्यक्रमों के कार्यक्रम को भी स्वीकृति दी गई। वर्ष भर चलने वाले चारों पाठ्यक्रमों का पहला बैच 23 जनवरी, 2017 से प्रारंभ होगा, जिसके लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 10 जनवरी, 2017 है।

बैठक में संकायाध्यक्ष प्रो. संदीप ग्रोवर, प्रो. सी.के. नागपाल, कम्युनिटी कालेज के पूर्व प्राचार्य प्रो. विकास तुर्क, कुल सचिव डॉ. संजय कुमार शर्मा, फरीदाबाद औद्योगिक संघ के अध्यक्ष श्री नवदीप चावला, केन्द्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय के अंतर्गत क्षेत्रीय शिक्षुता प्रशिक्षण निदेशालय में संयुक्त निदेशक श्री योगेश बांगिया, औद्योगिक विशेषज्ञ श्री एच.एल. भुटानी, इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र कौशल परिषद् के उपाध्यक्ष (परियोजना) श्री पीयुष चक्रवर्ती तथा सोसाइटी आफ ऑटोमोटिव इंजीनियर्स के कार्यकारी निदेशक श्री अनूप केकर भी उपस्थित थे।

कम्युनिटी कालेज के प्राचार्य प्रो. नवदीप मल्होत्रा ने बताया कि कम्युनिटी कालेज के नये पाठ्यक्रमों में लेथ ऑपरेटर, एयर कंडिशनिंग (तकनीशियन), असिस्टेंट इलेक्ट्रीशियन और आईटी कोर्डिनेटर में दाखिले के लिए 25-25 सीटें निर्धारित की गई है। इन सभी सर्टिफिकेट पाठ्यक्रमों की न्यूनतम अवधि 250 घंटे से 400 घंटे अर्थात् 3 से 4 महीने की रहेगी और न्यूनतम योग्यता 10वीं पास तथा आईटी कोर्डिनेटर के लिए डिप्लोमा पास है। नये पाठ्यक्रमों के संचालन के लिए विश्वविद्यालय मंे जगह की कमी को देखते हुए बैठक में निर्णय लिया गया कि कम्युनिटी कालेज के सभी पाठ्यक्रम सायं सत्र में 3.20 बजे से सायं 7.30 बजे तक संचालित किये जायेंगे। इसके अलावा, शनिवार को सुबह 9 बजे से 5 बजे तक कक्षाएं लगाई जायेगी। इससे जगह की कमी को पूरा करने के साथ-साथ नौकरी पेशा युवाओं को कक्षाएं लगाने में आसानी होगी और औद्योगिक सहयोग भी मिल सकेगा।

कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कम्युनिटी कालेज के नये पाठ्यक्रमों पर प्रसन्नता जताते हुए कहा कि कम्युनिटी कालेज का उद्देश्य साधन से वंचित आर्थिक व शैक्षणिक रूप से कमजोर युवाओं का कौशल विकास कर उन्हें रोजगार के योग्य बनाना है। कुलपति ने कम्युनिटी कालेज के अंतर्गत स्थानीय उद्योगों की जरूरत के अनुसार नये कोर्सेज लाने तथा लोगों को ई-ट्रांजेक्शन के प्रति जागरूक बनाने के लिए अभियान चलाने का प्रस्ताव रखा, जिससे बैठक में स्वीकार कर लिया गया। कालेज द्वारा प्रो. नवदीप मल्होत्रा की देखरेख में लोगों को ई-ट्रांजेक्शन के प्रति जागरूक बनाने के लिए एक अभियान शुरू किया जायेगा, जिसमें विद्यार्थियों की भागीदारी रहेगी।

फरीदाबाद औद्योगिक संघ के अध्यक्ष श्री नवदीप चावला ने कुलपति को विश्वास दिलाया कि स्थानीय उद्योगों की जरूरत के मुताबिक नये पाठ्यक्रम डिजाइन करने तथा संचाचल में पूरा सहयोग दिया जायेगा। इससे स्थानीय उद्योगों को जरूरत के मुताबिक कार्यबल भी उपलब्ध होगा और युवाओं के लिए रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे।बैठक में बताया गया कि नये पाठयक्रम युवाओं के कौशल विकास के साथ-साथ रोजगार हासिल करने में सहायक बनेंगे। लेथ ऑपरेटर के पाठ्यक्रमों का लाभ युवाओं को मोटरवाहन एवं मैटल से संबंधित अन्य सहायक उद्योगों में होगा, जहां कलपुर्जों का निर्माण होता है। इसी प्रकार, एयरकंडिशनिंग एवं रेफ्रिजरेटर उद्योग में ग्राहक सेवा के लिए दक्ष कार्यबल के रूप में एयरकंडिशनिंग तकनीशियन की आवश्यकता बनी रहती है। निर्माण उद्योग में बिजली फिटिंग जैसे कार्याें संबंधी जरूरतों को पूरा करने में असिस्टेंट इलेक्ट्रीशियन के रूप में रोजगार के अवसर मौजूद है। इसके साथ-साथ आईटी कोर्डिनेटर के पाठ्यक्रम में अभ्यार्थियों को कंप्यूटर के बेसिक हार्डवेयर एवं सॉफ्वेयर की जानकारी दी जायेगी, जिसके द्वारा बाद में उन्हें सॉफ्टवेयर एवं संबंधित इकाईयों में रोजगार हासिल करने में आसानी होगी।

उल्लेखनीय है कि इस समय कम्युनिटी कालेज में एक वर्षीय सर्टिफिकेट एवं डिप्लोमा के तीन पाठ्यक्रम पहले से चल रहे है, जिनमें वेल्डिंग टेक्नोलॉजी, इलेक्ट्रीशियन तथा एयर कंडिशनिंग शामिल है। इनमें वेल्डिंग टेक्नोलॉजी एवं इलेक्ट्रीशियन के डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के लिए एक हजार रुपये की छात्रवृत्ति का भी प्रावधान है। एयर कंडिशनिंग का सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम एयर कंडिशनिंग के क्षेत्र में अग्रणीय कंपनी डेकिन के सहयोग से करवाया जा रहा है। इन सभी पाठ्यक्रमों के लिए न्यूनतम योग्यता 12वीं है। कम्युनिटी कालेज से उत्तीर्ण होने वाले विद्यार्थियों को स्थानीय उद्योगों में रोजगार दिलाने के लिए विश्वविद्यालय स्तर पर प्रयास भी किये जाते है, जिसमें विगत वर्षाें में उद्योगों का रूझान भी अच्छा रहा है। इसके अलावा, इन विद्यार्थियों को स्वरोजगार स्थापित करने की जानकारी भी दी जाती है।

No comments

Powered by Blogger.