Breaking

Saturday, August 13, 2016

हरियाणा की महिला का यूपी में हुआ सामूहिक बलात्कार, पीडिता की कोई नहीं सुन रहा गुहार



फरीदाबाद--अगस्त13,2016(abtaknews.com ) 8 माह से कानूनी तिकडमबाजी में फंसी सामूहिक बलात्कार पीडिता लगा रही है न्याय के लिए गुहार, पुलिस नहीं कर रही है मामला दर्ज। करीब 8 माह पहले चार युवक महिला को प्लॉट दिखाने के बहाने मथुरा ले गये जहां उसे नशीला पदार्थ खिलाकर बारी बारी से चारों ने उसके साथ बलात्कार किया और उसकी अशलील वीडियो भी बना ली, जिससे आरोपी महिला को ब्लेकमेल कर एफआईआर दर्ज न करवाने की धमकी देते रहे, महिला ने तंग आकर जब एफआईआर करवाने का प्रयास किया तो कानूनी तिकडमबाजी में फंसा दिया गया, जिसकी मदद करने के लिये एक एडवोकेट पत्रकार ने कदम उठाया तो उसे भी आरोपियों और पुलिस ने मिलकर झूठे मामले में फंसाने का कुप्रयास किया। पुलिस ने अभी तक महिला के बयानों पर मामला दर्ज नहीं किया है और मीडिया के सामने कुछ भी बोलने के लिये तैयार नहीं हैं। 
भोपानी थाने के अंतर्गत भोपानी मोड़ स्थित कालोनी के प्लॉट नंबर 98 में रहने वाली पीडित महिला को गत 31 अक्टूबर, 2015 में खेड़ी निवासी रामपाल व प्रवीन जमीन दिखाने के बहाने मथुरा ले गए जहां दोनों ने एक होटल में सुनीता के साथ सामूहिक बलात्कार किया। पीडिता जान से मारने की धमकी और समाज एवं अपने बच्चों की खातिर चुप रही लेकिन जब आरोपी उल्टा उसकी दुष्कर्म की घटना की सीडी बनाकर उसे दिखा दिखाकर ब्लैकमेल करने लगे तो महिला ने परेशान होकर 10 मई से लेकर 22 मई, 2016 तक पुलिस आयुक्त फरीदाबाद को लिखित शिकायत देकर कानूनी कार्रवाई का निवेदन किया तो  पीडिता की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने के न ाम पर महिला पुलिस थाना की एएसआई माया रानी ने 25 हजार रूपये की मांग की पीडिता ने उसे 5 हजार रूपये देकर और पैसे ना दे पाने की असमर्थता जताई,  रूपये पूरे नही मिलने से गुस्साई एएसआई माया रानी आरोपियों से मिल गई ओर उसके परिवार वालों पर राजीनामे के लिए दबाव बनाने लगी।
इस सारे मामले में पीडिता की मदद कर रहे एडवोकेट पत्रकार मोहन तिवारी को उक्त आरोपियों और महिला एएसआई ने मिलकर एक झूठे केस में फंसाने का प्रयास जिसमें मोहन तिवारी को जमानत मिल गई। बलात्कार पीडिता ने 8 अगस्त, 2016 को पुलिस आयुक्त डॉक्टर हनीफ कुरैशी को फिर से शिकायत दी जिसमें उसने न्याय की गुहार करते हुए आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का निवेदन किया है। बलात्कार पीडिता ने कहा कि आरोपी उक्त अश£ील सीडी को उसके बच्चों को दिखाते हैं और आते जाते रास्ते में रोककर भला बुरा कहते हैं जिससे दुखी होकर पुलिस आयुक्त कार्यालय पहुंचकर उच्च अधिकारियों से शिकायत की है। आरोपियों ने पीडिता का जीना हराम कर रखा है। 
महिला पुलिस थाना प्रभारी सुशीला ने इस मामले में कुछ भी बताने से इंकार कर दिया, बताया गया कि यह मामला मथुरा में घटित होने के चलते हमने पीडिता की शिकायत को उत्तरप्रदेश के मथुरा जिले की पुलिस को भेज दिया है। जिसपर पीडित महिला मथुरा की बजाय फरीदाबाद में कार्रवाई चाहती है। लेकिन इस मामले में जब तक मथुरा पुलिस उक्त कार्रवाई को फरीदाबाद पुलिस को नही भेजती तक तक यह संभव नही।

No comments:

Post a Comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages